ऊँट के मुंह में ज़ीरा होना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

ऊँट के मुंह में ज़ीरा होना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Oont ke munh mein zeera hona Muhavara ka arth)

ऊँट के मुंह में ज़ीरा होना मुहावरे का अर्थ – बहुत कम मात्रा में कोई वस्तु देना, आवश्यकता से बहुत कम प्राप्त होने वाली चीज, जरूरत से कम प्राप्त होना, आवश्यकता अधिक होना लेकिन वस्तु पर्याप्त ना होना, खुराक से बहुत कम खाना मिलना ।

Oont ke munh mein zeera hona Muhavara ka arth – bahut kam maatra mein koee vastu dena, aavashyakata se bahut kam praapt hone vaalee cheej, jaroorat se kam praapt hona, aavashyakata adhik hona lekin vastu paryaapt na hona, khuraak se bahut kam khaana milana .

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: मोहनलाल पहलवान है और उसे 100 ग्राम जलेबी खिलाई गई यह तो वही बात हो गई ऊंट के मुंह में जीरा का मॉडल जीरा का होना।

वाक्य प्रयोग: 20 साल के मोहन को खाने में दो रोटी दोगे तो उसे भूख लगी रहेगी यह तो ऐसे हो गया कि ऊंट के मुंह में जीरा होना।

वाक्य प्रयोग: सोहन को जिम करने का बहुत शौक है लेकिन उसके घर में उससे एक गिलास दूध से ज्यादा नहीं दिया जाता ऐसे में तो ऐसे में ही कहा जाता है ऊंट के मुंह में जीरा होना।

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल बहुत ही अमीर आदमी है लेकिन जब भी कोई व्यक्ति उसके घर में आता है तो मैं भोजन में केवल 3 रोटी ही देता है उससे ज्यादा नहीं देता है इसे ही कहा जाता है उठ के मुंह में जीरा होना।

यहां हमने “ऊँट के मुंह में ज़ीरा होना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। ऊंट के मुंह में जीरा होना मुहावरे का अर्थ होता है कि बहुत कम मात्रा में कोई वस्तु देना, आवश्यकता से बहुत कम प्राप्त होना, जरूरत से कम प्राप्त होना, जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति को उसके आवश्यकता से भी कम कोई वस्तु देता है या फिर कोई सामग्री देता है तो वैसी परिस्थिति में कहा जाता है कि ऊंट के मुंह में जीरा का होना। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारनाअक्ल पर पत्थर पड़ना
आपे से बाहर होनाअक्ल चरने जाना
आसमान सिर पर उठानाआड़े हाथों लेना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here