खेला खाया होना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

खेला खाया होना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Khela khaya hona muhavare ka arth)

खेला खाया होना मुहावरे का अर्थ – कोई बचपन का साथी या फिर कोई अपना भाई-बहन।

Khela khaya hona muhavare ka arth – koi bachpan ka sathi ya fir koi apna bhai-behna.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: रामलाल और मोहनलाल तो बचपन के दोस्त हैं उन दोनों में तो खेला खाया होना ऐसी दोस्ती थी।

वाक्य प्रयोग: सीमा और रानी दोनों दोस्ती लेकिन रहती है सीधी जैसा लगता हो कि दोनों साथ में ही खेला खाया हो।

वाक्य प्रयोग: मैं तुमसे आज पहली बार ही मिला हूं और ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे साथ खेला खाया हुआ हूं।

वाक्य प्रयोग: अजनबी होकर भी हम लोग इतने अच्छे दोस्त हैं ऐसा लगता है कि हम लोग खेला खाया हुआ ।

यहां हमने “खेला खाया होना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। खेला खाया होना मुहावरे का अर्थ होता है कि कोई बचपन का साथी होना या फिर कोई अपना भाई बहन जो कि बचपन से ही साथ खेला खाया हुआ हो। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं। यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

बड़ी बात होनाकठपुतली बनना
उड़ती चिड़िया के पंख गिननाकान भरना
आम के आम गुठलियों के दामअपना उल्लू सीधा करना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here