ईद का चाँद मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

ईद का चाँद मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Eed ka chaand Muhavara ka arth)

ईद का चाँद मुहावरे का अर्थ – कभी-कभी दर्शन देना, बहुत दिनों पर दिखाई पड़ना, बहुत समय बाद दिखाई देना, मुश्किल से नज़र आना ।

Eed ka chaand Muhavara ka arth – kabhee-kabhee darshan dena, bahut dinon par dikhaee padana, bahut samay baad dikhaee dena, mushkil se nazar aana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: रमेश आजकल बहुत ही कम नजर आता है ऐसा लगता है कि वह ईद का चांद हो गया है।

वाक्य प्रयोग: मनीष अपने बचपन के दोस्त सतीश से काफी दिनों के बाद मिला और उसने उससे कहा कि भाई आप तो बड़े आदमी हो गए हो दिखते ही नहीं हो ईद के चांद बन गए हो।

वाक्य प्रयोग: सीता आजकल अपने काम में इतने व्यस्त हो गई है कि वह लोगों को नजर ही नहीं आती है सभी लोग उसे कहते हैं कि तुम तो ईद का चांद हो गई हो।

वाक्य प्रयोग: श्यामलाल बहुत दिनों के बाद अपने बचपन के दोस्त से मिला तो उसने कहा कि भाई अब तो आजकल दिखाई नहीं देते हो आप तो ईद का चांद हो गए हो।

यहां हमने “ईद का चाँद” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। ईद का चांद मुहावरे का अर्थ होता है कि जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति से लंबे समय के बाद बहुत ही मुश्किल से मिलता है या फिर मैं उसे नजर आता है तो मैं उससे ताना मारते हुए कहता है कि भाई आप तो कभी कभी दर्शन देते हो बहुत दिनों के बाद दिखाई पड़े ऐसा लगता है जैसे कि आप तो ईद का चांद हो गए हो। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आड़े हाथों लेना आँख का तारा
अपना घर समझना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
कठपुतली बनना आपे से बाहर होना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह