अपना-सा मुँह लेकर रह जाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

अपना-सा मुँह लेकर रह जाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Apana sa munh lekar rah jaane Muhavara ka Arth Aur Vakya Pryog )

अपना सा मुंह लेकर रह जाने मुहावरे का अर्थ – अपमानित होने के बाद हताश होना, शर्मिंदा होना।

Apana sa munh lekar rah jaane muhaavare ka arth – apamaanit hone ke baad hataash hona, sharminda hona.

अपना सा मुंह लेकर रह जाने मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन को उसके बुरे विचार के कारण उसे आज ऐसी बात सुनने को मिली कि वह अपना मुंह लिए रह गया।

वाक्य प्रयोग: सीता झूठ ही दूसरों के सामने अपनी खुद की बढ़ाई करते रहती है लेकिन एक दिन उसका सच सबके सामने आ गया जिससे सीता बहुत ही शर्मिंदा हुई और किसे कहा जाता है अपना मुंह लेकर रह जाना।

वाक्य प्रयोग: राधा के झूठ पकड़े जाने के कारण वह अपना मुंह लेकर रह गई।

वाक्य प्रयोग: मोहन ने राधा के लिए जो झूठ कहा था वह सबको पता चल जाने के बाद मोहन शर्म से पानी पानी हो गया और किसे कहा जाता है अपना मुंह लेकर रह जाना।

यहां हमने “अपना मुंह लेकर रह जाने” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसका वाक्य प्रयोग द्वारा समझेंगे अपना मुंह लेकर रह जाने का अर्थ होता है कि अपमानित होना शर्मिंदा होना।

अपना मुंह लेकर रह जाना जैसे विचारों से हमें दूर रहना चाहिए क्योंकि हमें इसके वजह से काफी दुखो का सामना और मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है जब कोई किसी को अपमानित करता है तो उसके बाद वह व्यक्ति काफी शर्मिंदा और हताश होकर अपना सा मुंह लेकर रह जाता है जब किसी व्यक्ति की झूठी बात पकड़ी जाती है तो वह व्यक्ति अपना सा मुंह लेकर रह जाता है।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

उड़ती चिड़िया के पंख गिननाभाँप लेना
आस्तीन का सांप होनाकूप मंडूक होना
अपना उल्लू सीधा करनाकान भरना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here