आँख का तारा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आँख का तारा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aankh ka taara Muhavara ka Arth Aur Vakya Pryog)

आँख का तारा मुहावरे का अर्थ – बहुत ही प्रिय होना, अतिप्रिय होना, अत्यन्त प्यारा, बहुत ही प्यारा होना।

Aankh ka taara muhaavare ka arth – bahut hee priy hona, atipriy hona, atyant pyaara, bahut hee pyaara hona.

आँख का तारा मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सभी बच्चे अपने माता-पिता के आंखों का तारा होते हैं।

वाक्य प्रयोग: मोहन बहुत ही आज्ञाकारी लड़का है इसीलिए वह सभी के आंखों का तारा है।

वाक्य प्रयोग: सीता अपनी कक्षा में अत्यधिक होशियार है इसीलिए वह अपनी शिक्षिका की आंखों की तारा है।

वाक्य प्रयोग: मोहन अपने गांव में सभी लोगों की सेवा करता है इसलिए मोहन सभी की आंखों का तारा बन गया है।

यहां हमने “आँख का तारा “जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा।आंखों का तारा होना मुहावरे का अर्थ है कि अतिप्रिय होना, बहुत ही प्यारा होना जैसे हर किसी के जीवन में कोई ना कोई अति प्रिय होता ही है। जैसे अपने माता-पिता के लिए उसके बच्चे सदैव बहुत ही प्रिय होते हैं, वे उनकी आंखों का तारा होते हैं। भगवान राम अपने पिता राजा दशरथ के आंखों के तारे थे जिस वजह से जब वे उनसे दूर हुए तो राजा दशरथ अपने प्राण त्याग दिए। क्योंकि भगवान राम राजा दशरथ के आंखों के तारा थे । चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आकाश-पाताल एक करना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
बड़ी बात होना आपे से बाहर होना
कठपुतली बनना अक्ल पर पत्थर पड़ना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here