Mi का मालिक कौन है?

MI Kaha ki Company Hai: नमस्कार दोस्तों, क्या आपको पता है कि mi किस देश की कंपनी है और Mi का मालिक कौन है? यदि नहीं पता, तो हम इस लेख में इन सबके बारे में ही बात करने वाले है। यहां पर हम MI से जुड़े कुछ विवाद भी बतायेंगे, तो आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

स्मार्टफोन की दुनिया में MI कंपनी ने विश्व भर में तहलका मचाया हुया है। सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी में शुमार MI कंपनी भी है। MI का पूरा नाम तो वैसे मोबाइल इन्टरनेट है, लेकिन इसे चीन में मिशन इम्पॉसिबल भी कहते है।

MI Kaha ki Company Hai
MI Kaha ki Company Hai

अभी आप सब को पता ही होगा कि भारत-चीन में सीमा के ऊपर जो तनाव है वो कितना अधिक है, उसकी वजह सभी चाइनीज़ कंपनियों या चीन से कोई भी माल भारत नहीं खरीद रहा है। बहुत सी कंपनी को भारत सरकार ने बैन कर रखा है। इसकी वजह भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम के भावों में तेजी आई हुई है।

Mi किस देश की कंपनी है?

MI कंपनी को हम शाओमी (XiaoMI) या यूँ कहे रेडमी (RedMI) के नाम से जानते है। आम तौर पर रेडमी कंपनी भारत देश में देखने को मिलती है, क्योंकि इस नाम से भारत में ही इसके प्रोडक्ट्स देखने को मिलते है। MI कंपनी एक चीनी कंपनी है, इसका हैड्क्वार्टर यिंगु हवेली, बीजिंग में है और इसकी स्थापना 6 अप्रैल 2010 को हुआ है। कंपनी ने कुछ सालों बाद ही दुनिया की सारी मोबाइल कंपनियों को पछाड़ कर पहला स्थान काबिज कर लिया था।

Mi कंपनी का CEO कौन है?

Xiaomi एक चीनी कंपनी है जिसका एक ब्रांड MI है। MI कंपनी का सीईओ ली जुन है, जो बहुत ही लगन वाले इंसान है। इनका जन्म 16 दिसंबर 1969 में जियांतो, चीन शहर में हुआ था।

CEO की फुल फॉर्म “Chief Executive Officer” होती है जिसका हिंदी में अर्थ होता है “मुख्य कार्यकारी अधिकारी”। यही एक ऐसा व्यक्ति होता है जो किसी कंपनी को पूरी तरह संभालता है और सभी मुख्य निर्णय लेता है। एक तरीके से देखा जाएँ तो कंपनी का सीईओ ही कंपनी का कर्ता-धर्ता होता है।

Read Also: सैमसंग किस देश की कंपनी है?

Mi का मालिक कौन है?

MI कंपनी के सीईओ ली जुन ने अपनी पढ़ाई वुहान यूनिवर्सिटी से की है और सात लोगों के साथ मिलकर शाओमी कंपनी बनाई जो शुरुआत में एक सॉफ्टवेयर कंपनी थी, 2011 में हार्डवेयर में कदम रखते ही अपना पहला मोबाइल बनाया और लगातार सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ता गया।

MI आज एक ऐसा ब्रांड बन गया है जिसे चीन में लोकप्रियता मिलने के साथ-साथ विश्व भर में भी इसके ब्रांडों को खूब सराहा गया।

Mi का मालिक कौन है

ली जून के अलावा लिन बिन, झोउ गुआंगपिंग, लियु डे, ली वानकियांग, वोंग कोंग-कैट और हाँग फेंग शाओमी के सह-संस्थापक यानि सह-मालिक है।

Read Also: Realme किस देश की कंपनी है?

RedMi क्या है?

रेडमी के मोबाइल को इतनी ज़्यादा लोकप्रियता इसलिए मिली है क्योंकि यह बहुत ही कम दाम में अच्छे से अच्छे फीचर वाला मोबाइल ग्राहकों को देता है। जो फीचर बड़े वाले मोबाइल में होते है वो सारे फोन एक बजट वाले फोन में डाल कर देना ही रेडमी को इतना बड़ा ब्रांड बनने में मदद की है।

10 जनवरी 2019 को शाओमी ने रेडमी नाम से अपना एक उप ब्रांड बन गया। रेडमी फोन एंड्रोइड बेस्ड फोन है जो अपना यूजर इंटरफेस MIUI उपयोग करता है।

रेडमी के फोन को 2 भागों में विभाजित कर सकते है पहला 5” वाले डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन और दूसरा 5” से अधिक वाले डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन। इनके अलावा रेडमी अपने फोन्स के साथ एक्सपरिमेंट करता रहता है। जैसे कि 2016 में पहली बार ड्यूल कैमरा सेटअप, यूएसबी-सी के साथ ओएलईडी के साथ फोन निकाला था।

द वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार 2014 के वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में चीन में शाओमी स्मार्टफोन के शिपमेंट रैंकिंग में 14% की बढ़ोतरी हुयी थी। शिपमेंट रैंकिंग में बढ़ोतरी का पूरा योगदान रेडमी का रहा था।

रेडमी की अधिकतम बिक्री भारत देश में होती है। यहाँ का इस फोन को जितना प्यार मिला उतना प्यार उसे उसके देश चीन में भी नहीं मिला था।

Read Also: पब्जी गेम का मालिक कौन है?

विवाद

शाओमी पर आरोप लगते रहे हैं कि उसके फोन चुपके से यूज़र डेटा को रिमोट सर्वर पर भेजते हैं। Security software और Solutions company एफ-सिक्यॉर ने शाओमी पर आरोप लगाते हुए बताया कि यह मोबाइल कंपनी अपने यूजर्स की जानकारी को चीनी सर्वर को भेज रही है वो भी यूजर्स को बिना बताएं।

एफ-सिक्यॉर कंपनी ने इसके एक फ़ोन को जाँच करने के लिए चयन किया। उस फोन में महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कॉल, सम्पर्क आदि डाले गये। इसके बाद डाली गई सभी जानकारी सर्वर द्वारा वहां पर चली गई। क्लाउड अकाउंट बनाता है कोई तब भी मोबाइल ये काम करता हैं।

शाओमी ने पहले तो यह मानने से मना कर दिया कि कंपनी के मोबाइल किसी भी प्रकार की जानकारी को नहीं भेजता है। लेकिन जब बाद में एफ-सिक्यॉर अपने द्वारा सिद्ध की बात को साबित करती है कि शाओमी कंपनी अपने यूजर्स की जानकारी बिना बताएं चीनी सर्वर को भेज देती है तो शाओमी इस बात को मान लेती है और जवाब देती है कि ये सभी तब होता है जब क्लाउड सक्रिय होता है। लेकिन शाओमी कंपनी के गोपनियता में यह लिखा गया है कि कंपनी अपने को बेहतर बनाने के लिए यूजर्स की जानकारी जैसे संदेश, कॉल, सम्पर्क आदि का प्रयोग कर सकती है।

इसके बाद चीनी सेना ने भारतीय सेना पर हमला करने लगी तो सीमा पर तनाव बढ़ता गया और भारत की वायुसेना ने अलर्ट जारी कर दिया कि कंपनी भारत के यूजर्स की महत्वपूर्ण जानकारी को चीन की सरकार तक पहुँचाने का काम करती है। वायु सेना ने यह भी कहा कि इस कंपनी पर यूजर्स की जानकारी को चीनी सर्वर में भेजने के आरोप लग रहे है। इस कारण इससे जासूसी होना संभव हो सकता है। सेना ने अपने अधिकारियों को इस कंपनी के मोबाइल को उपयोग में नहीं लेने की बात भी कही।

इसके अतिरिक्त फोनअरीना की जाँच के दौरान पता लगा कि फोन 42.62.48.0 – 42.62.48.255 के बीच में आने वाले एक IP address को जानकारी दे रहा है। यह www.cnnic.cn की वैबसाइट है जिसके जो चीन की एक कंपनी मिनिस्ट्री ऑफ इन्फर्मेशन इंडस्ट्री है।

9 दिसम्बर 2014 को दिल्ली उच्च न्यायालय ने एफ़आरएएनडी के तहत इस कंपनी को 5 फरवरी 2015 तक चीन से मोबाइल भारत में लाकर बेचने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया। लेकिन 16 दिसम्बर को कंपनी को क्वालकॉम के फोन बेचने का न्यायालय से अधिकार मिल गया। लेकिन उसने उसके बिना दूसरे चिपसेट के साथ कई फोन बेचे। लेकिन उसने इस बात को मानने से इंकार कर दिया।

उसके बाद सरकार ने पहले दौर में 150 चीनी एप्लिकेशन्स को बैन किया फिर दूसरे दौर में 90 एप्स को बैन किया, इन एप्स में भारत में प्रचलित शॉर्ट फन म्यूजिक वीडियो एप टिकटोक और बैटल रॉयल गेम पबजी भी था।

Xiaomi क्या है?

शाओमी कई उत्पादों का उत्पादन करता है। पर्यवेक्षकों का सुझाव है कि शाओमी  की तीव्र सफलता का एक हिस्सा एण्ड्रोइड यूनिवर्स के भीतर खुद को अलग करने की क्षमता पर टिकी हुई है। कंपनी ने अपने उत्पादों की सीमा बढ़ा दी है; इसके स्मार्टफोन्स में शामिल हैं: Mi सीरीज, Mi नोट सीरीज़ (3 साल बाद नया अपडेट मिला, Mi नोट 10 प्रो के साथ), Mi Max सीरीज, Mi मिक्स सीरीज़, Redmi और POCO Series। मोबाइल फोन के साथ-साथ Xiaomi ने टेलीविजन और स्पीकर जैसे वियरबल्स, मोबाइल एसेसरीज और उपकरणों की बिक्री शुरू कर दी है। 2018 में यह टैबलेट, लैपटॉप और स्मार्ट-होम डिवाइस बेच रहा था।

Xiaomi ने कहा कि वे अपने फोन को लागत के करीब बेचते हैं और सेवाओं पर लाभ कमाने का इरादा रखते हैं। कंपनी ने दुनिया के दूसरे सबसे बड़े स्मार्टफोन बाज़ार भारत पर ज़्यादा ध्यान केंद्रित किया है। शाओमी ने 2 मई 2018 को भारत में “वेल्यू एडेड इन्टरनेट सर्विसेज” को बढ़ाने के लिए Mi Music और Mi Video के लॉन्च की घोषणा की थी। 22 मार्च 2017 को शाओमी ने घोषणा की कि उसने कोंट्रेक्ट मेन्यूफ़ेक्चर फॉक्सकॉन के साथ साझेदारी में भारत में दूसरी मेन्यूफ़ेक्चरिंग इकाई स्थापित करने की योजना बनाई है।

7 अगस्त 2018 को शाओमी ने अपने ब्लॉग पर घोषणा की कि भारत में एक प्रमुख प्लांट की स्थापना के लिए शाओमी के सबसे बड़े सप्लाइर होलिटेक टेक्नोलोजी को. लिमिटेड अगले तीन वर्षों में $200 मिलियन का निवेश करेगी। 2019 में शाओमी ने केवल साधारण सामान जैसे धूप का चश्मा, टोपी, तकिये, ग्लास लंचबोक्सेस, कप, फिल्टर, बैग, बेकपैक्स, स्क्रूड्राइवर्स और छाते बेचने शुरू किया।

2019 में ही कंपनी ने घोषणा की कि वह 2020 में 10 से ज़्यादा 5G फोन लांच करेगी, उनमे से कुछ Mi 10/10 प्रो होंगे जिसमें 5G की फंक्श्नालिटी शामिल होंगे। मार्च 2020 में, शाओमी ने अपने नए 40 वॉट वायरलेस चार्जिंग सोल्यूशंस को प्रदर्शित किया, जो 40 मिनट में फ्लैट से 4000 mAh की बैटरी के साथ पूरी तरह से स्मार्टफोन चार्ज करने में सक्षम है।

Xiaomi के स्मार्टफोन में MIUI इंटरफेस चलता हैं। MIUI ओपन सोर्स एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित स्मार्टफोन और टैबलेट कंप्यूटरों के लिए स्टॉक और आफ्टरमार्केट एंड्रॉयड फर्मवेयर है। यह Xiaomi उपकरणों के साथ-साथ अन्य कंपनियों द्वारा बनाए गए उपकरणों पर उपलब्ध है। यह Xiaomi का सबसे पहला जाना पहचाना वाला उत्पाद है।

MiTV शाओमी द्वारा डिज़ाइन और मार्केट किया जाना वाला स्मार्ट टीवी है। यह एंड्रॉइड के ऊपर चलाता है और इसकी शुरुआत 2013 में हुई थी। इनके नयी टीवी Mi TV 3s 43 इंच और Mi TV 3s 65 इंच कर्वड है।

अंतिम शब्द

मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको अब पता चल गया होगा कि mi ka malik kaun hai और mi kis desh ki company hai. आपको यह जानकारी कैसी लगी, मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें ताकि और भी लोग mi kaha ki company hai और इसके बारे में पूरी जानकारी जान सके।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here