सैमसंग किस देश की कंपनी है?

Samsung Kaha ki Company Hai: नमस्कार दोस्तों, आप सभी का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। आपने सैमसंग का नाम तो सुना ही होगा। हो सकता आपका मोबाइल भी सैमसंग का ही हो! लेकिन क्या आप जानते हैं कि सैमसंग किस देश की कंपनी है और सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है? यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं।

Samsung Kaha ki Company Hai

आज हम इस पोस्ट में सैमसंग कंपनी के बारे में विस्तार से जानने वाले हैं। हम यहां पर सैमसंग कंपनी की शुरुआत किसने की, Samsung का CEO कौन है और सैमसंग कंपनी क्या-क्या बनाती है आदि में बारे में जानेंगे।

आज के समय में बाजार में बहुत सी टेक कंपनी ने अपना कब्ज़ा जमा लिया है। लेकिन सैमसंग भी कई सालों तक टेक कम्पनी में पहले नंबर पर रह चुकी है। वर्तमान समय में एप्पल सबसे आगे है लेकिन दूसरे नम्बर पर सैमसंग का नाम आता है।

दुनिया के लगभग हर देश में आपको सैमसंग के मोबाइल देखने को मिल जायेंगे। भारत में भी सैमसंग को बहुत ही ज्यादा उपयोग में लाया जाता है। भारत में सैमसंग ने अपने यूजर्स का विश्वास जीता है। क्योंकि सैमसंग में आपको क्वालिटी प्रोडक्ट्स मिलते हैं। भारत में सैमसंग के कई सारे प्रोडक्ट्स मिलते हैं लेकिन सबसे अधिक पहचान मोबाइल प्रोडक्ट्स से ही मिली है।

सैमसंग कंपनी कितनी बड़ी है इसका अंदाजा आप सिर्फ इससे लगा सकते हैं कि वर्तमान समय में यह कम्पनी अपने प्रोडक्ट्स 80 से भी अधिक देशों में बेच रही है।

सैमसंग किस देश की कंपनी है – Samsung Kaha ki Company Hai

सैमसंग एक नज़र में

कम्पनीसैमसंग (Samsung)
संस्थापकली ब्युन्ग चूल (Lee Byung Chul) (1910-1987)
स्थापना1 मार्च 1938
मुख्यालयसियोल, साउथ कोरिया
कार्यक्षेत्रदुनिया भर
वर्तमान CEOKoh Dong-Jin, Kim Ki Nam, Kim Hyun Suk
उत्पादनमोबाइल, कंप्यूटर, टीवी, AC, पानी के जहाज, लड़ाकू तोप आदि।
पहला मोबाइलSC-100
पहला सफ़ल मोबाइलSH-700
कार्यरत कर्मचारी3 लाख से अधिक
सहायक कंपनीसैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स, सैमसंग हैवी इंडस्ट्रीज, सैमसंग सी एंड टी आदि
वेबसाइटSamsung.com

सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी की शुरुआत 1 मार्च 1938 में ली ब्युन्ग चूल (Lee Byung Chul) द्वारा की गई थी। इन्हें ही कंपनी का संस्थापक और मालिक कहा जाता है। Lee Byung Chul के निधन के बाद कंपनी का संचालन उनके परिवार द्वारा किया जा रहा है।

Lee Byung Chul का जन्म 12 फरवरी 1910 को एक अमीर परिवार में दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हुआ था। ली ब्युन्ग चूल ने इकोनॉमी में ग्रेजुएशन और एमबीए की डिग्री की है।

samsung ka malik kaun hai

अपने ज़माने के ली ब्युन्ग चूल एक सफल बिजनेसमैन थे। उनकी मेहनत ने ही आज पूरे दुनिया में सैमसंग ने नाम किया है। इनका बहुत बड़ा परिवार है। इन्होने 19 नवम्बर 1987 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया। वर्तमान में सैमसंग के चेयरमैन Lee Jae-yong है।

Read Also: पब्जी गेम का मालिक कौन है?

सैमसंग किस देश की कंपनी है?

विश्व की बड़ी बहु राष्ट्रीय कम्पनियों में गिनी जाने वाली सैमसंग साउथ कोरिया की कंपनी है। साउथ कोरिया में सैमसंग का सबसे बड़ा ग्रुप है जो पूरे विश्व में इसका संचालन करता है। सैमसंग का मुख्य कार्यालय सियोल, साउथ कोरिया में है जहां पर इस कंपनी की पूरी देखरेख की जाती है।

सैमसंग कंजूमर इलेक्ट्रॉनिक बनाने वाली विश्व की सबसे बड़ी कंपनी है और यह विश्व में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। यह विश्व के 80 से भी अधिक देशों में अपने प्रोडक्ट्स को बेचती है। सैमसंग कंपनी में लगभग 3 लाख लोग काम करते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि साउथ कोरिया पूर्वी एशिया के छोटे देशों में गिना जाता है और वहां की टेक्नोलॉजी पूरे विश्व में अलग पहचान बनाये हुए है। सैमसंग कंपनी का साउथ कोरिया की GDP में 17% योगदान है। यदि सैमसंग कंपनी को नुकसान पहुचंता है तो देश की अर्थव्यवस्था में भी नुकसान हो सकता है।

सैमसंग का CEO कौन है?

वर्तमान समय में सैमसंग के तीन सीईओ है। इनको 2018 में यह पद सौपा था। इन तीनों के नाम निम्न है:

  • Koh Dong-Jin
  • Kim Ki Nam
  • Kim Hyun Suk

इनके द्वारा ही सैमसंग कम्पनी में सभी प्रकार के निर्णय लिए जाते हैं। आपको बता दें कि सैमसंग एक बड़ी कंपनी है और इनमें बहुत सारे इन्वेस्टर ने अपना पैसा लगा रखा है। एक इन्वेस्टर मुख्यत कंपनी को फंड करता है।

सैमसंग का फुल फॉर्म क्या है? 

Samsung Full Form in Hindi: क्या आप जानते हैं कि सैमसंग का क्या मतलब होता है? सैमसंग के संस्थापक के अनुसार सैमसंग एक कोरियाई शब्द है जिसका अर्थ होता है “तीन सितारे” (Three Stars in Korean)। यहां पर तीन शब्द से मतलब है “बड़े, कई और शक्तिशाली” और सितारे से “अनंत काल” है।

Read Also: Mi का मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी का इतिहास क्या है?

सैमसंग कंपनी की शुरूआत ट्रेडिंग कंपनी के रूप में 40 कर्मचारियों के साथ की गई थी। तब इस कंपनी में स्थानीय रूप से उगायी गई किराने का सामान, फल, नूडल बनाने का काम व सुखी मछली को अन्य देशों में एक्सपोर्ट किया जाता था। जैसे-जैसे समय बिता सैमसंग बड़ी होने लगी।

कंपनी ने 1950 से लेकर 1960 तक टेक्सटाइल, प्रतिभूति, रिटेल, जीवन बीमा, खुदरा, खाद्य प्रसंस्करण और वस्त्र के क्षेत्र में भी काम किया। लेकिन इन सभी में कम्पनी कुछ खास सफलता हासिल नहीं कर पाई। 1960 साल सैमसंग के लिए सबसे महत्वपूर्ण और सफल रहा। क्योंकि 1960 में ही सैमसंग ने पहली बार इलेक्ट्रॉनिक बाजार में अपना कदम रखा।

इस साल के अंत तक कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक बाजार में एंट्री कर ली थी। 1970 में टीवी की अत्यधिक मांग को देखते हुए कंपनी ने अपना सबसे पहला इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट ब्लैक एंड वाइट टीवी (मॉडल P-3202) लौंच किया। इसके बाद कंपनी द्वारा 1970 में जहाज बनाने का काम शुरू किया गया था।

ब्लैक एंड वाइट टीवी ने कंपनी को बहुत अधिक अच्छा रेस्पोंस दिया। ग्राहकों से अच्छा रेस्पोंस मिलने के बाद कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक्स के अन्य सामान का उत्पादन करने का निर्णय लिया और फिर एयर कंडीशनर, फ्रीज, माइक्रोवेव का उत्पादन शुरू किया गया।

Read Also: फ्री फायर गेम का मालिक कौन है?

इसके बाद जैसे-जैसे समय बिता कंपनी ने 1980 में कंप्यूटर के पार्ट्स, मोबाइल के पार्ट्स और मेमोरी कार्ड के पार्ट्स आदि भी बनाने लगी। साल 1986 में कंपनी ने अपना सबसे पहला SC-100 नाम का बिल्ड इन कार फोन लौंच किया लेकिन यह फोन टिक नहीं पाया। इसके बाद 1988 में एक अन्य फोन SH-100 लौंच किया गया लेकिन वो भी सफल नहीं हो सका।

कम्पनी की लगातार हो रही असफलता को देखते हुए 7 जून 1993 को एक बड़ी बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें अहम मुद्दों पर चर्चा की गई और कमियां तलाशी गई। इसके बाद सैमसंग ने एक अन्य SH-700 नाम का फ़ोन लौंच किया। यह मोबाइल काफी लोगों द्वारा पसंद किया गया। यह सैमसंग का पहला सफ़ल मोबाइल था।

इस मोबाइल को बारीकी से जाँच करने के बाद ही बाजार में उतारा गया था और जिनमें भी कमियां नज़र आई, उन सभी मोबाइल को कर्मचारियों के सामने ही जला दिया गया। जिससे सभी कर्मचारियों को संदेश जाये कि कोई कमी बर्दास्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही इसका ग्राहकों पर पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ा।

1987 में संस्थापक ली ब्युन्ग चूल के निधन के बाद सैमसंग को 4 व्यापारिक समूह सैमसंग समूह, शिनशेग ग्रुप, सीजे समूह और हंसोल समूह में विभाजन कर दिया गया। इसके बाद साल 1990 में सैमसंग ने अपने अन्य काम को और इलेक्ट्रॉनिक्स को पूरे विश्व में बढ़ाना शुरू कर दिया। जैसे-जैसे कंपनी विश्व में फैलनी शुरू हुई लोगों को सैमसंग के इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान पसंद आने लगे। जिसमें मोबाइल फोन सबसे अधिक पसंद किये जाते थे। मोबाइल फ़ोन सैमसंग की आय का मुख्य स्त्रोत बन गये थे।

यह कंपनी वर्तमान समय में बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान का उत्पादन करती है। सभी प्रोडक्ट्स अपनी अच्छी क्वालिटी के कारण जाने जाते हैं। सैमसंग दुनिया में पहले स्थान पर रहने वाली कंपनी भी रही है। लेकिन अभी एप्पल दुनिया के सबसे बड़ी कंपनी में गिनी जाती है। यह एप्पल के बाद सबसे बड़ी कम्पनी है। इस कम्पनी का कारोबार दुनिया के लगभग 80 देशों में चलता है और कंपनी में लगभग 3,75,000 कर्मचारी काम करते हैं।

Read Also: Tik Tok जैसा Indian App कौन सा है?

सैमसंग कंपनी क्या-क्या बनाती है?

हमने अधिकतर सैमसंग के मोबाइल ही देखे है लेकिन सैमसंग कम्पनी सिर्फ मोबाइल ही नहीं बनाती, यह और भी कई महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी बनाती है। अच्छी गुणवता होने के कारण लोग इस कंपनी का प्रोडक्ट खरीदने में अधिक इंटरेस्ट रखते हैं।

इस कंपनी में नई-नई टेक्नोलॉजी का निर्माण करके खुद ही प्रयोग करके बाजार में लाती है। यहां पर कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स के नाम दिए है जो सैमसंग द्वारा बनाए जाते हैं।

इलेक्ट्रॉनिक्स सामान

मोबाइल, कंप्यूटर, लेपटॉप, वाशिंग मशीन, फ्रीज, माइक्रोवेव, टीवी, एयर कंडीशनर, मोबाइल चार्जर, हैडफ़ोन, घड़ियाँ, मोबाइल चार्जर आदि।

अन्य सामान
  • पानी के जहाज
  • लड़ाकू तोप

सैमसंग ने दुनिया की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा बनाने में भी अपनी अहम भूमिका निभाई है।

सैमसंग भारत में कब आया?

जिस प्रकार सैमसंग दुनिया के अलग-अगल देशों में अपना कारोबार कर रहा है उसी प्रकार भारत में भी कर रहा है। सैमसंग ने भारत में सबसे पहला अपना प्लांट 1995 में श्री पेरंबदूर में स्थापित किया गया था। 2018 में कंपनी ने भारत में दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भी बनाया है जो नोएडा सेक्टर 81 में लगभग 35 एकड़ जगह पर फैला है।

इस प्लांट का शिलान्यास भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति के द्वारा किया गया था। आपको बता दे कि पूरे भारत में सैमसंग कंपनी के 1.5 लाख से भी अधिक रिटेल है और कंपनी ने हर साल 6 करोड़ यूनिट से मोबाइल बनाने की क्षमता को भी 12 करोड़ यूनिट कर दिया है। भारत में सैमसंग कंपनी के मोबाइल सबसे अधिक पसंद किये जाते हैं।

शुरू का समय सैमसंग के लिए कुछ खास नहीं रहा लेकिन 2010 में गैलेक्सी एस (Galaxy S) ने भारत के साथ अन्य देशों में भी धूम मचा दी।

Read Also: Realme किस देश की कंपनी है?

सैमसंग के बारे में रोचक तथ्य

  • साल 1993 से सैमसंग चिप मेमोरी कार्ड स्टोरेज बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनियों में से एक है।
  • सैमसंग हर एक मिनिट में पूरी दुनिया में 100 से भी अधिक टीवी बेचता है।
  • सैमसंग आज तक 100 से भी अधिक तरह के व्यवसाय आजमा चुका है।
  • एप्पल के मोबाइल में लगी रेटीना डिस्पले सैमसंग डिजाईन करता है और एप्पल को मैन्युफैक्चरिंग करता है।
  • एप्पल के i5 और i7 के और अन्य मोबाइल के लिए चिप सैमसंग बनाया करता था।
  • साउथ कोरिया की सबसे बड़ी कंपनी सैमसंग का साउथ कोरिया की GDP में 17%  हिस्सा रहती है।
  • टेक्नोलॉजी के अलावा सैमसंग अन्य कॉन्ट्रैक्ट का काम भी करता है। आपको बता दे विश्व की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा का एक कॉन्ट्रैक्ट सैमसंग कंपनी के पास था।
  • सैमसंग ने साउथ कोरिया में 390 एकड़ जमीन खरीदकर सैमसंग डिजिटल सिटी बनाई है जिसमें 3 बड़ी बिल्डिंग और 131 छोटी बिल्डिंग है। वहां पर हर दिन 35,000 लोग काम करने के लिए आते है।
  • सैमसंग हर साल अपने नॉन प्रॉफिटेबल सर्विस सेंटर में 100 मिलियन डॉलर डोनेट करता है जहां पर फ्री में ईलाज किया जाता है। वहां पर 1200 डॉक्टर और 2300 नर्से काम करती है।

सैमसंग कंपनी से जुड़े आम सवाल

सैमसंग कंपनी की स्थापना कब हुई?

सैमसंग कंपनी की स्थापना 1 मार्च 1938 को हुई थी।

क्या सैमसंग चीनी कंपनी है?

सैमसंग साउथ कोरिया की कंपनी है।

सैमसंग कंपनी के मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी की शुरुआत 1 मार्च 1938 में ली ब्युन्ग चूल द्वारा की गई थी। इन्हें ही कंपनी का संस्थापक और मालिक कहा जाता है।

मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरे द्वारा शेयर की गई यह जानकारी “सैमसंग किस देश की कंपनी है (Samsung Kaha ki Company Hai)” आपको पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here