सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है और किस देश की कंपनी है?

Samsung Kaha ki Company Hai: नमस्कार दोस्तों, आपने सैमसंग का नाम तो सुना ही होगा। हो सकता आपका मोबाइल भी सैमसंग का ही हो! लेकिन क्या आप जानते हैं कि सैमसंग किस देश की कंपनी है और सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है? यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं।

Samsung Kaha ki Company Hai

आज हम इस पोस्ट में सैमसंग कंपनी के बारे में विस्तार से जानने वाले हैं। हम यहां पर सैमसंग कंपनी की शुरुआत किसने की, Samsung का CEO कौन है और सैमसंग कंपनी क्या-क्या बनाती है आदि में बारे में जानेंगे।

आज के समय में बाजार में बहुत सी टेक कंपनी ने अपना कब्ज़ा जमा लिया है। लेकिन सैमसंग भी कई सालों तक टेक कम्पनी में पहले नंबर पर रह चुकी है। वर्तमान समय में एप्पल सबसे आगे है लेकिन दूसरे नम्बर पर सैमसंग का नाम आता है। दुनिया के लगभग हर देश में आपको सैमसंग के मोबाइल देखने को मिल जायेंगे। भारत में भी सैमसंग को बहुत ही ज्यादा उपयोग में लाया जाता है।

भारत में सैमसंग ने अपने यूजर्स का विश्वास जीता है। क्योंकि सैमसंग में आपको क्वालिटी प्रोडक्ट्स मिलते हैं। भारत में सैमसंग के कई सारे प्रोडक्ट्स मिलते हैं लेकिन सबसे अधिक पहचान मोबाइल प्रोडक्ट्स से ही मिली है। सैमसंग कंपनी कितनी बड़ी है इसका अंदाजा आप सिर्फ इससे लगा सकते हैं कि वर्तमान समय में यह कम्पनी अपने प्रोडक्ट्स 80 से भी अधिक देशों में बेच रही है।

सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है और किस देश की कंपनी है? | Samsung Kaha ki Company Hai

सैमसंग एक नज़र में

कम्पनीसैमसंग (Samsung)
संस्थापकली ब्युन्ग चूल (Lee Byung Chul) (1910-1987)
स्थापना1 मार्च 1938
मुख्यालयसियोल, साउथ कोरिया
कार्यक्षेत्रदुनिया भर
वर्तमान CEOKoh Dong-Jin, Kim Ki Nam, Kim Hyun Suk
उत्पादनमोबाइल, कंप्यूटर, टीवी, AC, पानी के जहाज, लड़ाकू तोप आदि।
पहला मोबाइलSC-100
पहला सफ़ल मोबाइलSH-700
कार्यरत कर्मचारी3 लाख से अधिक
सहायक कंपनीसैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स, सैमसंग हैवी इंडस्ट्रीज, सैमसंग सी एंड टी आदि
वेबसाइटSamsung.com

सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी की शुरुआत 1 मार्च 1938 में ली ब्युन्ग चूल (Lee Byung Chul) द्वारा की गई थी। इन्हें ही कंपनी का संस्थापक और मालिक कहा जाता है। Lee Byung Chul के निधन के बाद कंपनी का संचालन उनके परिवार द्वारा किया जा रहा है।

Lee Byung Chul का जन्म 12 फरवरी 1910 को एक अमीर परिवार में दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हुआ था। ली ब्युन्ग चूल ने इकोनॉमी में ग्रेजुएशन और एमबीए की डिग्री की है।

samsung ka malik kaun hai

अपने ज़माने के ली ब्युन्ग चूल एक सफल बिजनेसमैन थे। उनकी मेहनत ने ही आज पूरे दुनिया में सैमसंग ने नाम किया है। इनका बहुत बड़ा परिवार है। इन्होने 19 नवम्बर 1987 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया। वर्तमान में सैमसंग के चेयरमैन Lee Jae-yong है।

यह भी पढ़े: पब्जी गेम का मालिक कौन है?

सैमसंग किस देश की कंपनी है? (Samsung Kis Desh ki Company Hai)

विश्व की बड़ी बहु राष्ट्रीय कम्पनियों में गिनी जाने वाली सैमसंग साउथ कोरिया की कंपनी है। साउथ कोरिया में सैमसंग का सबसे बड़ा ग्रुप है, जो पूरे विश्व में इसका संचालन करता है। सैमसंग का मुख्य कार्यालय सियोल, साउथ कोरिया में है, जहां पर इस कंपनी की पूरी देखरेख की जाती है।

सैमसंग कंजूमर इलेक्ट्रॉनिक बनाने वाली विश्व की सबसे बड़ी कंपनी है और यह विश्व में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। यह विश्व के 80 से भी अधिक देशों में अपने प्रोडक्ट्स को बेचती है। सैमसंग कंपनी में लगभग 3 लाख लोग काम करते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि साउथ कोरिया पूर्वी एशिया के छोटे देशों में गिना जाता है और वहां की टेक्नोलॉजी पूरे विश्व में अलग पहचान बनाये हुए है। सैमसंग कंपनी का साउथ कोरिया की GDP में 17% योगदान है। यदि सैमसंग कंपनी को नुकसान पहुचंता है तो देश की अर्थव्यवस्था में भी नुकसान हो सकता है।

सैमसंग का CEO कौन है?

वर्तमान समय में सैमसंग के तीन सीईओ है। इनको 2018 में यह पद सौपा था। इन तीनों के नाम निम्न है:

  • Koh Dong-Jin
  • Kim Ki Nam
  • Kim Hyun Suk

इनके द्वारा ही सैमसंग कम्पनी में सभी प्रकार के निर्णय लिए जाते हैं। आपको बता दें कि सैमसंग एक बड़ी कंपनी है और इनमें बहुत सारे इन्वेस्टर ने अपना पैसा लगा रखा है। एक इन्वेस्टर मुख्यत कंपनी को फंड करता है।

सैमसंग का फुल फॉर्म क्या है? (Samsung Full Form in Hindi)

सैमसंग के संस्थापक के अनुसार सैमसंग एक कोरियाई शब्द है, जिसका अर्थ होता है “तीन सितारे” (Three Stars in Korean)। यहां पर तीन शब्द से मतलब है “बड़े, कई और शक्तिशाली” और सितारे से “अनंत काल” है।

यह भी पढ़े: Mi का मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी का इतिहास क्या है?

सैमसंग कंपनी की शुरूआत ट्रेडिंग कंपनी के रूप में 40 कर्मचारियों के साथ की गई थी। तब इस कंपनी में स्थानीय रूप से उगायी गई किराने का सामान, फल, नूडल बनाने का काम व सुखी मछली को अन्य देशों में एक्सपोर्ट किया जाता था। जैसे-जैसे समय बिता सैमसंग बड़ी होने लगी।

कंपनी ने 1950 से लेकर 1960 तक टेक्सटाइल, प्रतिभूति, रिटेल, जीवन बीमा, खुदरा, खाद्य प्रसंस्करण और वस्त्र के क्षेत्र में भी काम किया। लेकिन इन सभी में कम्पनी कुछ खास सफलता हासिल नहीं कर पाई। 1960 साल सैमसंग के लिए सबसे महत्वपूर्ण और सफल रहा। क्योंकि 1960 में ही सैमसंग ने पहली बार इलेक्ट्रॉनिक बाजार में अपना कदम रखा।

इस साल के अंत तक कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक बाजार में एंट्री कर ली थी। 1970 में टीवी की अत्यधिक मांग को देखते हुए कंपनी ने अपना सबसे पहला इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट ब्लैक एंड वाइट टीवी (मॉडल P-3202) लौंच किया। इसके बाद कंपनी द्वारा 1970 में जहाज बनाने का काम शुरू किया गया था।

ब्लैक एंड वाइट टीवी ने कंपनी को बहुत अधिक अच्छा रेस्पोंस दिया। ग्राहकों से अच्छा रेस्पोंस मिलने के बाद कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक्स के अन्य सामान का उत्पादन करने का निर्णय लिया और फिर एयर कंडीशनर, फ्रीज, माइक्रोवेव का उत्पादन शुरू किया गया।

यह भी पढ़े: फ्री फायर गेम का मालिक कौन है?

इसके बाद जैसे-जैसे समय बिता कंपनी ने 1980 में कंप्यूटर के पार्ट्स, मोबाइल के पार्ट्स और मेमोरी कार्ड के पार्ट्स आदि भी बनाने लगी। साल 1986 में कंपनी ने अपना सबसे पहला SC-100 नाम का बिल्ड इन कार फोन लौंच किया लेकिन यह फोन टिक नहीं पाया। इसके बाद 1988 में एक अन्य फोन SH-100 लौंच किया गया लेकिन वो भी सफल नहीं हो सका।

कम्पनी की लगातार हो रही असफलता को देखते हुए 7 जून 1993 को एक बड़ी बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें अहम मुद्दों पर चर्चा की गई और कमियां तलाशी गई। इसके बाद सैमसंग ने एक अन्य SH-700 नाम का फ़ोन लौंच किया। यह मोबाइल काफी लोगों द्वारा पसंद किया गया। यह सैमसंग का पहला सफ़ल मोबाइल था।

इस मोबाइल को बारीकी से जाँच करने के बाद ही बाजार में उतारा गया था और जिनमें भी कमियां नज़र आई, उन सभी मोबाइल को कर्मचारियों के सामने ही जला दिया गया। जिससे सभी कर्मचारियों को संदेश जाये कि कोई कमी बर्दास्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही इसका ग्राहकों पर पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ा।

1987 में संस्थापक ली ब्युन्ग चूल के निधन के बाद सैमसंग को 4 व्यापारिक समूह सैमसंग समूह, शिनशेग ग्रुप, सीजे समूह और हंसोल समूह में विभाजन कर दिया गया। इसके बाद साल 1990 में सैमसंग ने अपने अन्य काम को और इलेक्ट्रॉनिक्स को पूरे विश्व में बढ़ाना शुरू कर दिया।

जैसे-जैसे कंपनी विश्व में फैलनी शुरू हुई लोगों को सैमसंग के इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान पसंद आने लगे, जिसमें मोबाइल फोन सबसे अधिक पसंद किये जाते थे। मोबाइल फ़ोन सैमसंग की आय का मुख्य स्त्रोत बन गये थे। साल 1994 में सैमसंग के द्वारा  SH-770 मॉडल बाजार में पेश करने के बाद लोगों का जुड़ाव सैमसंग की तरफ काफी ज्यादा बढ़ गया। इस बीच सैमसंग कंपनी ने CDMA मोबाइल SCH-100 के नाम से पेश किया।

इसके 4 साल के बाद 1998 में सैमसंग कंपनी ने SCH-800 मोबाइल फोन लॉन्च किया। इस फोन के जरिए लोगों को मैसेज भेजने जैसी सुविधा दी गई। इस तरह सैमसंग कंपनी की बाजार में लोकप्रियता काफी ज्यादा बढ़ने लगी और अपनी लोकप्रियता को इसी तरह बनाए रखने के लिए सैमसंग कंपनी बीच-बीच में नए-नए फीचर्स के साथ मोबाइल फोन बाजार में लांच करते ही रहा।

साल 1999 में इस कंपनी ने पहला MP3 सॉन्ग चलने वाला मोबाइल फोन और सैमसंग वॉच फोन लॉन्च किया। इस फोन की एक खासियत थी कि इससे कलाई पर घड़ी की तरह बांध सकते थे। यह फोन लोगों के लिए काफी अट्रैक्टिव था। साल 2000 में सैमसंग ने पहला ड्यूल डिस्प्ले मोबाइल बाजार में उतारा वह फोन था SCH-A2000 फ्लिप मोबाइल। यहीं से डिस्प्ले मोबाइल फोन की शुरुआत हो गई।

इसी साल सैमसंग ने दोबारा एक और डिजिटल कैमरा मोबाइल फोन SPH-V200 नाम से लॉन्च किया, जिसमें कंपनी ने कैमरे का भी फीचर्स दिया था। इसतरह यह फोन ना केवल सैमसंग कंपनी का बल्कि दुनिया का भी पहला कैमरा मोबाइल फोन था। क्योंकि इससे पहले अब तक कोई अन्य कंपनी कैमरे वाले फोन लॉन्च नहीं की थी।

इसके 2 साल के बाद सैमसंग ने कलर मोबाइल डिस्प्ले वाला फोन बाजार में लांच किया। उस समय उस फोन की काफी ज्यादा बिक्री हुई थी, जिससे सैमसंग ने एक नया बिक्री रिकॉर्ड कायम किया था। इस दौरान तक मोबाइल की अन्य कंपनियों के लिए सैमसंग कंपनी का सामना करना काफी कठिन हो रहा था।

क्योंकि अब तक सैमसंग कंपनी कई नए नए फीचर्स वाले मोबाइल फोन बाजार में लॉन्च कर रही थी जैसे रोटेटिंग डिस्प्ले, ड्यूल सिम, ऑप्टिकल ज़ूम आदि। ऐसे नई नई तकनीक वाले मोबाइल फोन बाजार में खूब ज्यादा बिक रहे थे।

उसके बाद आगे सैमसंग ने स्क्रीन टच मोबाइल फोन बनाने पर काम शुरू किया और साल 2007 में सैमसंग ने पहला स्क्रीन टच मोबाइल T919 Behold पेश किया। साल 2009 सैमसंग कंपनी के लिए बहुत खास रहा था क्योंकि इसी साल सैमसंग ने गैलेक्सी सीरीज का पहला मोबाइल फोन बाजार में उतारा और यहीं से सैमसंग ने एमोलेड डिस्प्ले पर भी अपना एकाधिकार स्थापित कर लिया।

यह कंपनी वर्तमान समय में बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान का उत्पादन करती है। सभी प्रोडक्ट्स अपनी अच्छी क्वालिटी के कारण जाने जाते हैं। सैमसंग दुनिया में पहले स्थान पर रहने वाली कंपनी भी रही है। लेकिन अभी एप्पल दुनिया के सबसे बड़ी कंपनी में गिनी जाती है। यह एप्पल के बाद सबसे बड़ी कम्पनी है। इस कम्पनी का कारोबार दुनिया के लगभग 80 देशों में चलता है और कंपनी में लगभग 3,75,000 कर्मचारी काम करते हैं।

यह भी पढ़े: Tik Tok जैसा Indian App कौन सा है?

सैमसंग कंपनी क्या-क्या बनाती है?

हमने अधिकतर सैमसंग के मोबाइल ही देखे है लेकिन सैमसंग कम्पनी सिर्फ मोबाइल ही नहीं बनाती, यह और भी कई महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी बनाती है। अच्छी गुणवता होने के कारण लोग इस कंपनी का प्रोडक्ट खरीदने में अधिक इंटरेस्ट रखते हैं।

इस कंपनी में नई-नई टेक्नोलॉजी का निर्माण करके खुद ही प्रयोग करके बाजार में लाती है। यहां पर कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स के नाम दिए है, जो सैमसंग द्वारा बनाए जाते हैं।

इलेक्ट्रॉनिक्स सामान

मोबाइल, कंप्यूटर, लेपटॉप, वाशिंग मशीन, फ्रीज, माइक्रोवेव, टीवी, एयर कंडीशनर, मोबाइल चार्जर, हैडफ़ोन, घड़ियाँ, मोबाइल चार्जर आदि।

अन्य सामान
  • पानी के जहाज
  • लड़ाकू तोप

सैमसंग ने दुनिया की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा बनाने में भी अपनी अहम भूमिका निभाई है।

सैमसंग भारत में कब आया?

जिस प्रकार सैमसंग दुनिया के अलग-अगल देशों में अपना कारोबार कर रहा है, उसी प्रकार भारत में भी कर रहा है। सैमसंग ने भारत में सबसे पहला अपना प्लांट 1995 में श्री पेरंबदूर में स्थापित किया गया था। 2018 में कंपनी ने भारत में दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भी बनाया है, जो नोएडा सेक्टर 81 में लगभग 35 एकड़ जगह पर फैला है।

इस प्लांट का शिलान्यास भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति के द्वारा किया गया था। आपको बता दे कि पूरे भारत में सैमसंग कंपनी के 1.5 लाख से भी अधिक रिटेल है और कंपनी ने हर साल 6 करोड़ यूनिट से मोबाइल बनाने की क्षमता को भी 12 करोड़ यूनिट कर दिया है। भारत में सैमसंग कंपनी के मोबाइल सबसे अधिक पसंद किये जाते हैं।

शुरू का समय सैमसंग के लिए कुछ खास नहीं रहा लेकिन 2010 में गैलेक्सी एस (Galaxy S) ने भारत के साथ अन्य देशों में भी धूम मचा दी। साल 2021 में जून में सैमसंग ने डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग प्लांट को चीन से भारत में शिफ्ट कर दिया और यह डिस्प्ले यूनिट उत्तर प्रदेश के नोएडा में स्थापित किया गया, जहां पर सैमसंग अलग डिवाइस के डिस्प्ले जैसे कि टेलीविजन का डिस्प्ले पार्ट, मोबाइल फोन का डिस्प्ले पार्ट, टेबलेट का डिस्प्ले पार्ट इत्यादि को बड़े पैमाने पर बनाता है।

यह भी पढ़े: Realme किस देश की कंपनी है?

सैमसंग के बारे में रोचक तथ्य

  • साल 1993 से सैमसंग चिप मेमोरी कार्ड स्टोरेज बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनियों में से एक है।
  • सैमसंग हर एक मिनिट में पूरी दुनिया में 100 से भी अधिक टीवी बेचता है।
  • सैमसंग आज तक 100 से भी अधिक तरह के व्यवसाय आजमा चुका है।
  • एप्पल के मोबाइल में लगी रेटीना डिस्पले सैमसंग डिजाईन करता है और एप्पल को मैन्युफैक्चरिंग करता है।
  • एप्पल के i5 और i7 के और अन्य मोबाइल के लिए चिप सैमसंग बनाया करता था।
  • साउथ कोरिया की सबसे बड़ी कंपनी सैमसंग का साउथ कोरिया की GDP में 17%  हिस्सा रहती है।
  • टेक्नोलॉजी के अलावा सैमसंग अन्य कॉन्ट्रैक्ट का काम भी करता है। आपको बता दे विश्व की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा का एक कॉन्ट्रैक्ट सैमसंग कंपनी के पास था।
  • सैमसंग ने साउथ कोरिया में 390 एकड़ जमीन खरीदकर सैमसंग डिजिटल सिटी बनाई है, जिसमें 3 बड़ी बिल्डिंग और 131 छोटी बिल्डिंग है। वहां पर हर दिन 35,000 लोग काम करने के लिए आते है।
  • सैमसंग हर साल अपने नॉन प्रॉफिटेबल सर्विस सेंटर में 100 मिलियन डॉलर डोनेट करता है, जहां पर फ्री में ईलाज किया जाता है। वहां पर 1200 डॉक्टर और 2300 नर्से काम करती है।

सैमसंग कंपनी से जुड़े आम सवाल

सैमसंग कंपनी की स्थापना कब हुई?

सैमसंग कंपनी की स्थापना 1 मार्च 1938 को हुई थी।

क्या सैमसंग चीनी कंपनी है?

सैमसंग साउथ कोरिया की कंपनी है।

सैमसंग कंपनी के मालिक कौन है?

सैमसंग कंपनी की शुरुआत 1 मार्च 1938 में ली ब्युन्ग चूल द्वारा की गई थी। इन्हें ही कंपनी का संस्थापक और मालिक कहा जाता है।

सैमसंग कंपनी कितनी बड़ी है?

सैमसंग कंपनी काफी नामी कंपनी है। साल 2019 तक तो यह कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स राजस्व के हिसाब से दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी थी और बाजार में उसका पंजीकरण भी 520.64 बिलियन अमेरिकी डॉलर से भी अधिक था।

सैमसंग ने पहला इलेक्ट्रॉनिक आइटम कौन सा लांच किया था?

सैमसंग कंपनी ने पहला इलेक्ट्रॉनिक आइटम 1969 में ब्लैक एंड वाइट टेलीविजन मॉडल p-3205 बनाया था जिसे साल 1970 में लांच किया था।

सैमसंग कंपनी के मालिक का क्या नाम है?

सैमसंग कंपनी के मालिक का नाम ली ब्यूंग है। इन्होंने सैमसंग कंपनी की स्थापना 1 मार्च 1938 को की थी।

सैमसंग का क्या अर्थ होता है?

सैमसंग कंपनी साउथ कोरिया की कंपनी है। साउथ कोरिया में इसका बहुत बड़ा ग्रुप है। सैमसंग शब्द भी कोरियाई शब्द है इस शब्द का अर्थ तीन सितारे होता है और यहां पर तीन बड़े या शक्तिशाली का प्रतिनिधित्व करता है, वहीँ सितारे अनंत काल का प्रतिनिधित्व करता है।

सैमसंग और एप्पल दोनों कंपनी में सबसे ज्यादा अमीर कौन है?

वैसे तो एप्पल और सैमसंग दोनों कंपनियों के ही इलेक्ट्रॉनिक सामान काफी ज्यादा बिकते हैं लेकिन मार्केट कैप की हिसाब से एप्पल कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। वहीँ सैमसंग कंपनी एप्पल की तुलना में छोटी है। हालांकि दक्षिण कोरिया में यह सबसे शक्तिशाली कंपनियों में से एक है, जहां पर इस देश के सकल घरेलू उत्पादन के बड़े हिस्से में यह कंपनी योगदान देता है।

सैमसंग का सीईओ कौन है?

Koh Dong-Jin, Kim Ki Nam, Kim Hyun Suk

मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरे द्वारा शेयर की गई यह जानकारी सैमसंग कहां की कंपनी है? (samsung company kahan ki hai) आपको पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।