अनिश्चयवाचक सर्वनाम (परिभाषा और उदाहरण)

अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Anishchay Vachak Sarvanam): हिंदी व्याकरण जिसमे सर्वनाम का काफी महत्व रहता है। आज हम यहां पर अनिश्चयवाचक सर्वनाम की परिभाषा और अनिश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण बारे में विस्तार से जानने वाले है।

AnishchikVachak Sarvanam
Anishchay Vachak Sarvanam

सर्वनाम की परिभाषा, भेद और उदाहरण के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें सर्वनाम

अनिश्चयवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं?

अनिश्चयवाचक सर्वनाम की परिभाषा: ऐसे शब्द जिनमें स्थान, व्यक्ति, वस्तु आदि के द्वारा निश्चितता का बोध न होता हो अर्थात् वह शब्द जो वस्तु या पदार्थ के निश्चित होने का बोध नहीं करवाता हो, वे शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। जैसे कुछ, किसी, कोई आदि।

कुछ, किसी, कोई आदि शब्दों में कोई भी निश्चित नहीं हैं अर्थात् अनिश्चितता का बोध हो रहा है। इसलिए ये शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम में आते हैं।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण

  • कोई आया था और आपके लिए कुछ लाया था।
  • हमारे घर कोई आया है।

उपर्युक्त वाक्य में हमें किसी के आने का बोध हो रहा है ना कि यह पता चल रहा है कि कौन आया है? अर्थात् हमें यह पूरी तरह से निश्चित नहीं है कि कौन आया है।

यहां पर “कोई” संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त हुआ है। लेकिन “कोई” शब्द से हमें किसी व्यक्ति या वस्तु के निश्चित नहीं होने का बोध हो रहा है। इसलिए “कोई” शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम है।

  • तुम्हारे लिए कोई रिश्ता आया है।

इस वाक्य में हमें यह ज्ञात होता है कि किसी व्यक्ति के लिए रिश्ता आया है। लेकिन रिश्ता किसका आया है, यह निश्चत नहीं है?

चूँकि यहां पर इस वाक्य में “कोई” शब्द का प्रयोग संज्ञा के स्थान पर हुआ है, जो व्यक्तिवाचक संज्ञा का एक उदाहरण है। इसलिए यह अनिश्चयवाचक सर्वनाम के अंतर्गत आता है।

  • कुछ लोगों से मिल लिए और कुछ से मिलना है।

यहां पर “कुछ” शब्द से सिर्फ अनुमान लगाया जा रहा है कि कुछ लोगों से मिल लिए है और कुछ से मिलना अभी बाकि है। हमें यह निश्चित नहीं पता है कि कितने लोगों से मिल लिए है और कितने लोगों से अभी मिलना बाकि है। बचे हुए लोग ज्यादा भी हो सकते हैं और कम भी।

यहां पर “कुछ” संज्ञा के स्थान पर प्रयोग में लाया गया है, लेकिन इससे कोई निश्चित होने का बोध नहीं हो रहा है। इसलिए “कुछ” शब्द अनिश्चित सर्वनाम अंतर्गत आता है।

  • मैं कुछ कहना चाहता हूं।

उपर्युक्त वाक्य में बोलने वाला कह रहा है कि उसको कुछ कहना है, लेकिन वह इस बारे में निश्चित नहीं है कि उसे क्या कहना है।

उपर्युक्त वाक्य में “कुछ” शब्द का प्रयोग संज्ञा के स्थान पर किया गया है, लेकिन इससे किसी निश्चित होने का भाव प्रकट नहीं होता है। इसलिए कुछ अनिश्चित सर्वनाम में आएगा।

  • दही में कुछ गिर गया है, उसे निकालकर खाना।

इस वाक्य से हमें यह ज्ञात होता है कि दही में कुछ गिरा हुआ है, लेकिन हम यह ज्ञान नहीं हो रहा है कि दही में क्या गिरा है?

यहां पर अनुमान लगा सकते हैं अर्थात् “कुछ” का प्रयोग संज्ञा की जगह पर किया गया है और कुछ शब्द से निश्चितता का बोध नहीं हो रहा है, इसलिए कुछ अनिश्च्यवाचक सर्वनाम का उदाहरण है।

  • किसी ने कहा था वह संगीतकार बनना चाहता है।

इस वाक्य किसी ने कहा किसने कहा इसका पता नहीं लगा सकते, अत: ये अनिश्च्यवाचक सर्वनाम है।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम के अन्य उदाहरण

  • उसे कुछ गाना है।
  • कोई जा रहा है।
  • मुझे बाज़ार से कुछ लेकर आना है।
  • वह कुछ खा रहा है।
  • मुझे कोई नज़र आ रहा है।
  • कुछ दे दीजिए।
  • मैं कुछ फल लाया हूँ।
  • कुछ चमक रहा है।

इन वाक्यों में ‘कुछ’ या ‘कोई’ आदि शब्द प्रयुक्त हुए है। इन शब्दों में अनिश्चितता होने का बोध होता है, इसलिए शब्द यह अनिश्चयवाचक सर्वनाम के अंतर्गत आते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि अब आप “अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Anishchay Vachak Sarvanam)” को अच्छी तरह से समझ गये होंगे, इससे जुड़ा यदि कोई आपके मन में सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here