सम्बन्धवाचक सर्वनाम (परिभाषा एवं उदाहरण)

सम्बन्धवाचक सर्वनाम (Sambandh Vachak Sarvanam): जिसका महत्व हिन्दी व्याकरण में बहुत अधिक होता है। आज हम यहां पर सम्बन्धवाचक सर्वनाम की परिभाषा और सम्बन्धवाचक सर्वनाम के उदाहरण के बारे में बात करने वाले हैं।

Sambandh Vachak Sarvanam

सर्वनाम की परिभाषा, भेद और उदाहरण के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें सर्वनाम

सम्बन्धवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं?

सम्बन्धवाचक सर्वनाम की परिभाषा: जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी वस्तु या व्यक्ति का सम्बन्ध बताने के लिए किया जाए, वे शब्द “सम्बन्धवाचक सर्वनाम” कहलाते हैं।

सम्बन्धवाचक सर्वनाम का प्रयोग वाक्य में दो शब्दों को जोड़ने के लिए भी किया जाता है। जैसे- जैसे-जिसका, जो कि, जो-सो, जितना -उतना आदि।

संबंधवाचक सर्वनाम के उदाहरण

  • जो मेहनत करेगा उसको सफलता मिलेगी ।

ऊपर वाक्य में “मेहनत और सफलता” में कनेक्शन बताया गया है।

  • मेरा वह गिफ्ट कही खो गया जो मुझे जन्मदिन पर मिला था।

ऊपर वाक्य में “गिफ्ट और जन्मदिन” में सम्बन्ध बताया गया है।

  • जो पढाई करेगा, वह पास हो जायेगा।

ऊपर वाक्य में “पढाई और पास” होने में सम्बन्ध बताया गया है।

  • जितना कर्म करोगे, उतना जल्दी लक्ष्य मिलेगा।

इस वाक्य में हम देख पा रहे हैं कि जितना-उतना शब्दों का प्रयोग करके कर्म और लक्ष्य में सम्बन्ध बताने का प्रयास किया जा रहा है कि जितना कर्म करोगे, उतना लक्ष्य जल्दी मिलेगा। अतः जितना-उतना सम्बन्धवाचक सर्वनाम के अंतर्गत में आते हैं।

  • जैसा काम करोगे, वैसा फल मिलेगा।

ऊपर दिए गए वाक्य में जैसा आप देख सकते हैं कि जैसा-वैसा का प्रयोग करके काम और फल में सम्बन्ध बताया जा रहा है कि जो जैसा काम करेगा, वैसा ही उसे फल मिलेगा। अतः जैसा-वैसा भी सम्बन्धवाचक सर्वनाम की श्रेणी में आयेंगे।

सम्बन्धवाचक सर्वनाम से व्यक्तियों व वस्तुओं के सम्बन्ध भी बताये जाते हैं। जैसे:

  • यह वही लड़की है जो गावं गयी थी।

ऊपर वाक्य में यह और जो का प्रयोग करकर लड़की और गांव का आपस में सम्बन्ध बताया जा रहा है। अतः यहाँ पर जो और यह शब्द सम्बन्धवाचक सर्वनाम के तहत आयेंगे।

  • जैसा बीज बोओगें, वैसा फल मिलेगा।

इस उपर दिये गए वाक्य में देख सकते है, यहाँ जैसा-वैसा शब्दों का प्रयोग बीज एवं फल के बीच सम्बन्ध बताने के लिए किया जा रहा है। अतः यह शब्द संबंधवाचक सर्वनाम का मुख्य उदाहरण माना जाता हैं।

  • जितना काम आप करोगे, उतनी सेठ पगार देगा।

इस वाक्य में जितना-उतनी शब्दों के जरिये किन्हीं दो में सम्बन्ध बताया जा रहा है। इस वजह से जितना-उतनी सम्बन्धवाचक सर्वनाम के मुख्य उदाहरण माने जाते हैं।

  • जो विद्यार्थी मेहनत करते हैं, वो जरूर सक्सेस होते हैं।

ऊपर दिए गए वाक्य में जो-वो का प्रयग करके मेहनत व सफलता में सम्बन्ध बताने की कोशिश की जा रही है। अतः जो-वो शब्द भी सम्बन्धवाचक सर्वनाम के अंतर्गत आयेंगे।

  • यह वही कुता है जो सबको दुखी करता करता है।

ऊपर दिए गए वाक्य में वही-जो का प्रयोग दो लोगों में संभंध बताने के लिए किया गया है। इस वजह से वही-जो शब्द सम्बन्धवाचक सर्वनाम के उदाहरण हैं।

  • यह वही बाइक है जो मुझे अच्छी लगती है।

ऊपर दिए गए वाक्य में यह और जो का प्रयोग करके दो वस्तुओं के बीच सम्बन्ध बताया जा रहा है। अतः यह और जो शब्द भी सम्बन्धवाचक सर्वनाम के अंतगत आयेंगे।

अंतिम शब्द

हमने यहां पर “सम्बन्धवाचक सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरण (Sambandh Vachak Sarvanam)” के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की है। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में जरूर पूछे।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here