व्यक्तिवाचक संज्ञा (परिभाषा एवं उदाहरण)

vyaktivachak sangya :नमस्कार दोस्तों, संज्ञा के मुख्य तीन प्रकार में से एक प्रकार व्यक्तिवाचक संज्ञा है। इस आर्टिकल में आपको व्यक्तिवाचक संज्ञा ( Vyakti vachak Sangya) के बारे में विस्तारपूर्वक बताएँगे। हर कक्षा की परीक्षा में पूछा जाने वाले यह एक विशेष महत्वपूर्ण सवाल है। यहां पर हम को निम्न स्टेप्स में व्यक्तिवाचक संज्ञा जानेंगे।

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं ?
  • व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण क्या है?
Vyakti Vachak Sangya

संज्ञा की परिभाषा, उसके सभी भेद और उनके उदाहरण के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें

इस आर्टिकल में हम आपको व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते है ( vyakti vachak sangya ki paribhasha) और व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण ( vyakti vachak sangya ke udaharan) के बारे में बेहद सरल भाषा में समझाने की कोशिश करेंगे, ताकि आप व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में जल्दी और बेहतर जान सकें।

व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

vyakti vachak sangya kise kahate hain: किसी व्यक्ति, स्थान या वस्तु का बोध कराने वाली संज्ञा व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाती है। अर्थात् वह संज्ञा जिससे किसी व्यक्ति विशेष का बोध होता हो, उसे व्यक्ति वाचक संज्ञा (Propernoun) कहते हैं।

उदाहरण के लिए

व्यक्ति के नाम – नरेन्द्र मोदी, स्वामी विवेकानंद, रमेश, सुरेश, पूजा, आरती, रोहित आदि

स्थान के नाम – राजस्थान, गुजरात, पंजाब, जयपुर, दिल्ली, पाकिस्तान, चीन, नेपाल, अमेरिका, भारत आदि

दिशाओं के नाम- उत्तर, पश्र्चिम, दक्षिण, पूर्व

देवी देवताओं के नाम :- शिव, विष्णु, पार्वती, लक्ष्मी आदि।

राष्ट्रीय जातियों के नाम- भारतीय, रूसी, अमेरिकी आदि ।

समुद्रों के नाम- काला सागर, भूमध्य सागर, हिन्द महासागर, प्रशान्त महासागर आदि ।

भाषाओं के नाम :- हिंदी, चाइनीज, गुजराती, कन्नड़, फ्रैंच, बंगाली, अंग्रेजी, मराठी आदि।

पहाड़ों के नाम :- अरावली, हिमालय,कंचनजंगा, एवरेस्ट,अलकनन्दा, कराकोरम। आदि।

समाचार पत्रों के नाम :- दैनिक भास्कर, पत्रिका आदि।

ऐतिहासिक युद्धों और घटनाओं के नाम- पानीपत की पहली लड़ाई, सिपाही-विद्रोह, अक्तूबर-क्रान्ति।

उपाधि एवं पुरस्कारों के नाम :- डॉक्टर, सर, गार्गी, अर्जुन,भारत रत्न आदि।

सरकारी योजनाओं के नाम :- जन धन योजना आदि।

नदियों के नाम- गंगा, ब्रह्मपुत्र, बोल्गा, कृष्णा, कावेरी, सिन्धु आदि ।

खेलों के नाम :- क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल,टेनिस आदि।

दिनों, महीनों के नाम- मई, अक्तूबर, जुलाई, सोमवार, मंगलवार आदि।

त्योहारों, उत्सवों के नाम- होली, दीवाली, रक्षाबन्धन, विजयादशमी आदि।

व्यक्तिवाचक संज्ञा को कैसे पहचाने

  • इस संज्ञा का प्रयोग हमेशा एकवचन में होता है। उसे एकवचन से बहुवचन और बहुवचन से एकवचन में परिवर्तित नहीं किया जा सकता।
  • व्यक्तिवाचक संज्ञा विशेषण होता है।
  • इस संज्ञा से भाववाचक संज्ञा का निर्माण नहीं किया जाता।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण (Vyakti Vachak Sangya Examples in Hindi)

  1. रमेश दौड़ रहा है।
  2. सुरेश खेल रहा है।
  3. नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री है।
  4. सचिन तेंदुलकर महान क्रिकेटर है।
  5. रवीन्द्रनाथ टैगोर ने राष्ट्र गान लिखा है।
  6. अक्षय कुमार प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता है।
  7. हिटलर एक तानाशाह शासक था।
  8. ओशो एक आध्यात्मिक गुरू थे।
  9. विकास गांव गया है।
  10. सोहन के पिता अध्यापक हैं।

उपर लिखे वाक्यों में प्रयुक्त हुए नाम रमेश, सुरेश, नरेंद्र मोदी, सचिन तेंदुलकर, रवीन्द्रनाथ टैगोर, अक्षय कुमार, हिटलर, ओशो, सोहन आदि ये सभी व्यक्तियों का बोध नहीं कराके एक विशेष व्यक्ति का बोध करा रहे हैं। इसलिए ये व्यक्तिवाचक संज्ञा की श्रेणी में आयेंगे।

  1. हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है।
  2. मुझे मराठी अच्छे से आती है।
  3. हमने एक अंग्रेजी फिल्म देखी।
  4. सुरेश चाइनीज बोल सकता है।
  5. विकास को हिंदी बोलनी नहीं आती है।

ऊपर प्रयुक्त वाक्यों में हिंदी, मराठी, अंग्रेजी, चाइनीज आदि सभी भाषाओं का बोध नहीं करवाके सिर्फ विशेष भाषा का बोध करा रही है। इसलिए ये व्यक्तिवाचक संज्ञा में आएगी।

  1. दिल्ली हमारे देश की राजधानी है।
  2. जयपुर को गुलाबी नगर भी कहा जाता है।
  3. ताज होटल मुंबई में स्थित है।
  4. लखनऊ सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है।
  5. गांधीनगर गुजरात की राजधानी है।

ऊपर वाक्यों में प्रयुक्त दिल्ली, जयपुर, मुंबई, लखनऊ, गांधीनगर आदि सभी महानगरों का बोध नहीं करवा रहे है, एक विशेष महानगर का बोध करा रहे है। इसलिए यह व्यक्तिवाचक संज्ञा में आयेंगे।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के कुछ अन्य उदाहरण

  1. जवाहर लाल नेहरू भारत के प्रधानमंत्री थे।
  2. महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट खेलते हैं।
  3. वह जापान में रहता है।
  4. मुझे हिंदी पुस्तकें पढ़ना पसंद है।
  5. कुतुबमीनार एक अच्छी जगह है।
  6. रामायण के बहुत अच्छी पुस्तक है।
  7. आचार्य चतुरसेन एक उपन्यासकार हैं।
  8. पेले फुटबॉल के महान खिलाड़ी हैं।
  9. विराट कोहली इतिहास के सबसे अच्छे बल्लेबाज हैं।
  10. विकास गांव गया है।
  11. अमेज़न नदी विश्व की सबसे लम्बी नदी है
  12. मैंने आज एक जापानी भाषा की किताब खरीदी।
  13. मुझे पंजाबी में बात करना बहुत पसंद है।
  14. मैं अभी लंदन से वापस आ रहा हूँ।
  15. रामायण हिन्दू धर्म के सबसे उत्कृष्ट लेखों में से एक हैं।
  16. ताजमहल की खूबसूरती का कोई जवाब नहीं है।
  17. महात्मा गाँधी ने अहिंसा का उपयोग करके भारत को आज़ादी दिलवाई थी।
  18. मनीषा ने अपने गांव में एक विद्यालय खोला।
  19. कोहिनूर हीरा भारत की शान था।
  20. भारत का संविधान भीमराव आंबेडकर ने लिखा था।
  21. भूटान की एक छोटी लड़की चंपा हिमालय के शिखर पर जा पहुँची।
  22. भारत रत्न अवार्ड मिलना एक गौरव की बात होती है।
  23. सुबह सुबह समाचार पत्र पढ़ना मुझे काफी पसंद है।
  24. जन धन योजना के द्वारा देश के कई नागरिकों को लाभ हुआ है।
  25. पानीपत की पहली लड़ाई किसके बीच हुई थी?

हम उम्मीद करते हैं कि आप अब “व्यक्तिवाचक संज्ञा (Vyakti Vachak Sangya)” को अच्छी तरह से समझ गये होंगे। यदि आपको इससे जुड़ा कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here