आव न देखा ताव मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आव न देखा ताव मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aav na dekha taav Muhavara ka arth)

आव न देखा ताव मुहावरे का अर्थ – बिना कारण, कोई काम करने से पहले न सोचना न विचारना, बिना सोच-विचार के काम करना।

Aav na dekha taav muhaavare ka arth – bina kaaran, koee kaam karane se pahale na sochana na vichaarana, bina soch-vichaar ke kaam karana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन के कम नंबर आने पर सोहन के पिताजी ने सोहन को सभी दोस्तों के सामने दो थप्पड़ लगा दिए इस स्थिति को ही कहा ना जाता है आव न देखा ताव।

वाक्य प्रयोग: सीता की मां को जब पता लगा कि सीता ने चोरी की है तो सीता को उसकी मां ने बहुत ही बुरी तरह से पीटा इसी स्थिति को कहा जाता है आव न देखा ताव।

वाक्य प्रयोग: सोहन ने पैसे के लालच में आकर आव न देखा ताव और गलत काम कर दिया जिसकी वजह से सोहन को अभी तक सजा भुगतनी पड़ रही है।

वाक्य प्रयोग: पुलिस के द्वारा सुने अपशब्द से मोहन इतना परेशान हो गया कि उसने आव न देखा ताव और पुलिस के ऊपर हाथ उठा दिया जिसके वजह से मोहन को जेल भी जाना पड़ा।

यहां हमने “आव न देखा ताव” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। आव न देखा ताव मुहावरे का अर्थ होता है कि जब कोई व्यक्ति किसी काम को बिना कारण या फिर बिना सोचे समझे करता है बिना सोच-विचार के करता है तो वह से काम के वजह से कभी-कभी लोगों को काफी हानि पहुंचाती है इसलिए हमें हमेशा सोच समझ के ही कोई कदम उठाना चाहिए और गुस्से में तो कभी कोई निर्णय नहीं लेना चाहिए और आओ ना देखे तो के स्थिति में तो खास करके कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आँख का तारा अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
कठपुतली बनना आसमान सिर पर उठाना
आकाश-पाताल एक करनाआँख का तारा

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here