संबंध कारक (परिभाषा और उदाहरण)

संबंध कारक (Sambandh Karak): हिंदी व्याकरण में कारक को मुख्य रूप से पढ़ा जाता है और कारक का एक भाग संबंध कारक है। यहां पर संबंध कारक के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे हैं।

Sambandh Karak

यहां पर संबंध कारक की परिभाषा और उसके उदाहरण आदि के बारे में विस्तार से जानने वाले है।‌

कारक के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें कारक (परिभाषा, भेद और उदाहरण)

संबंध कारक किसे कहते है?

संबंध कारक की परिभाषा: ऐसे शब्द जिनके माध्यम से संज्ञा एवं सर्वनाम का वह रूप जो किसी दो वस्तुओं के बीच में संबंध बताता हो, उन्हें संबंध कारक कहते हैं। इस कार्य के नाम से ही आपको पता चल गया होगा कि इसमें किन्ही वस्तुओं के संबंध के बारे में बौद्ध होगा।

संबंध कारक के विभक्ति चिन्ह के रूप में का, के, की, ना, ने, नो, रा, रे, री इत्यादि का प्रयोग होता है।

संबंध कारक के मुख्य उदाहरण

  • वह रोहित का खिलौना है।

उदाहरण के रूप में ऊपर दिए गए वाक्य में ‘का’ विभक्ति चिन्ह का इस्तेमाल किया गया है। इस वाक्य में रोहित और खिलौना के बीच में संबंध बताया जा रहा है। जब दो बच्चों के बीच में संबंध बताया जाता है तो उन वाक्यों को संबंध कारक का उदाहरण माना जाता है।

  • यह राधा का घर है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में राधा और घर के बीच में संबंध बताया गया है और साथ ही साथ इस वाक्य में ‘का’ विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया गया है। जिन वाक्यों में दो वस्तुओं के बीच संबंध बताया जाता है, उन्हें संबंध कारक के अंतर्गत रखा जाता है। अतः यह उदाहरण संबंध कारक के अंतर्गत रखा जाएगा।

  • राम के 4 पुत्र है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में राम और राम के पुत्र के बारे में संबंध व्यक्त होता है। साथ ही साथ इस उदाहरण में स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि ‘के’ विभक्ति चिन्ह का प्रयोग किया गया है। अतः यह उदाहरण संबंध कारक के अंतर्गत रखा जाएगा।

  • वह राधिका की गाड़ी है।

ऊपर उदाहरण में स्पष्ट रूप से पता चल रहा है कि राधिका और गाड़ी के बीच में संबंध बताया जा रहा है। साथ ही साथ इस उदाहरण में ‘की’ विभक्ति चिन्ह का उपयोग किया गया है। अतः यह उदाहरण संबंध कारक की श्रेणी में आएगा।

  • यह राम का मोबाइल है।

इस उदाहरण में राम और मोबाइल के बीच में संबंध बताया जा रहा है। साथ ही साथ इस उदाहरण में ‘का’ विभक्ति चिन्ह का प्रयोग हुआ है। अतः यह उदाहरण संबंध कारक की श्रेणी में आएगा।

संबंध कारक के अन्य उदाहरण

  • यह बाइक पूजा की है।
  • वह राम की बेटी है।
  • राधा ने मोबाइल फेंक दिया।
  • बच्चे का सिर दर्द कर रहा है।
  • वह सुनील की गाड़ी है।
  • रोहन का घर गांव में है।

ऊपर जो उदाहरण दिए गए हैं उन सभी उदाहरण में विभक्ति चिन्ह का प्रयोग मुख्य रूप से किया गया है। अतः इन सभी उदाहरण को संबंध कारक की श्रेणी में रखा जाएगा।

हमने क्या सिखा?

हमने यहां पर संबंध कारक किसे कहते हैं (Sambandh Karak) और इसके उदाहरण के बारे में विस्तार से जाना है। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here