कागजी घोड़े दौड़ाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

कागजी घोड़े दौड़ाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (kaagajee ghode daudaana Muhavara ka arth)

कागजी घोड़े दौड़ाना मुहावरे का अर्थ – कोरी कागजी कार्यवाही करना, केवल लिखा पढ़ी करते रहना व्यवहार में कुछ न होना, केवल लिखा-पढ़ी करना, पर कुछ काम की बात न होना।

kaagajee ghode daudaana Muhavara ka arth – koree kaagajee kaaryavaahee karana, keval likha padhee karate rahana vyavahaar mein kuchh na hona, keval likha-padhee karana, par kuchh kaam kee baat na hona.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल एक सरकारी दफ्तर में काम करता है जहां पर बस सिर्फ कागजी घोड़े दौड़ आता है और कोई काम नहीं करता है।

वाक्य प्रयोग: मोहनलाल का बेटा बिजनेस के नाम पर काफी घोड़े दौड़ आता रहता है लेकिन असल में उसे देखा जाए तो वह कोई कार्य नहीं करता है।

वाक्य प्रयोग: किसी गांव के मुख्यमंत्री ने वहां पर एक नई सड़क निर्माण की घोषणा की थी लेकिन इसके कई साल बीतने के बावजूद केवल उस सड़क निर्माण का सिर्फ कागजी घोड़े दौड़ रहा है लेकिन आज तक वहां पर सड़क का कोई निर्माण नहीं हुआ है।

वाक्य प्रयोग: अक्सर बड़े-बड़े नेता बड़े-बड़े घोषणा करते हैं खासकर के किसानों को लेकर बड़े-बड़े घोषणा करती है लेकिन यह सिर्फ कहने की बात होती है असल में कोई काम नहीं होता बस फाइलों में कागजी की घोड़े दौड़ते रहते हैं।

यहां हमने “कागजी घोड़े दौड़ाना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। कागजी घोड़े दौड़ाना मुहावरे का अर्थ होता है केवल लिखा पढ़ी करते रहना व्यवहार में कोई कार्य न करना पड़ेगा। इसका सबसे अच्छा उदाहरण सरकारी दफ्तरों में देख सकते हैं, अदालतों में देख सकते हैं कि वहां पर सिर्फ कागजी घोड़े दौड़ते हैं लेकिन वहां पर किसी को न्याय मिलता है और ना ही किसी की सही पुकार सुनी जाती है। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आकाश-पाताल एक करनाचार चाँद लगाना
आड़े हाथों लेनाअपना घर समझना
आपे से बाहर होनाआसमान सिर पर उठाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here