अयादि संधि (परिभाषा और उदाहरण)

Ayadi Sandhi Kise Kahte Hain: आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे अयादि संधि की परिभाषा एवं उसके प्रकार के बारे में। अयादि संधि स्वर संधि का ही एक प्रकार है। हिंदी व्याकरण में विभिन्न प्रकार के नियमों का संकलन होता है, जिनसे कुछ परिवर्तन उत्पन्न होते हैं। तो आज हम अयादि संधि से संबंधित प्रश्नों के बारे में भी बात करेंगे।

Ayadi Sandhi Kise Kahte Hain
Ayadi Sandhi Kise Kahte Hain

अयादि संधि किसे कहते है?

अयादि संधि कि परिभाषा: अयादि संधि की यदि बात की जाए तो जब संधि करते समय (ए, ऐ, ओ, औ) के बाद कोई भी अन्य स्वर आए तो ए का अय, ऐ का आय, ओ का अव, औ का आव बन जाता है, यही परिवर्तन अयादि संधि के अंतर्गत आता है।

दूसरे शब्दों में जब ए, ऐ, ओ, औ के बाद इन स्वरों को छोड़कर कोई भी दूसरे स्वर आए तो यह (अय, आय, अव, आव) में बदल जाते हैं।

अयादि संधि के उदाहरण

  • ए + अ = अय
  • चे + अन = चयन
  • शे + अन्य = शयन

अयादि संधि के उदाहरण

  • ने + अन = नयन

आप ऊपर दिए गए उदहारण में स्पष्ट रूप से देख सकते है कि ए और अ की जब संधि कराइ जाती है तो य बन जाता है। इन दोनों वर्णो की वजह से तीसरे वर्ण में परिवर्तन होता है। अतः यह उदाहरण अयादि संधि का मुख्य उदाहरण है।

  • तौ + इक = ताविक

उदाहरण में आप स्पष्ट रूप से देख सकते है कि दो वर्णो के मिलने से तीसरा नया वर्ण बनता है। इस उदाहरण में औ और इ के मिलने से आव का निर्माण होता है। अतः यह उदाहरण अयादि संधि के अंतर्गत आएगा।

  • चे + अन = चयन

यह उदाहरण जिसमें आप देख सकते है कि ए और अ के मिलने से तीसरा नया वर्ण अय बनता है। अतः यह उदहारण भी अयादि संधि का मुख्य उदाहरण है।

  • गै + अक = गायक

यह उदाहरण जिसमें आप स्पष्ट रूप से देख सकते है कि ए और अ के मिलने से आय नया वर्ण बन जाता है। अतः यह उदाहरण अयादि संधि के अंतर्गत आएगा।

  • भौ + अयति = भावति

जैसा कि आप इस उदाहरण में देख सकते है औ और अय के मिलने से आव बनता है। यह उदाहरण भी अयादि संधि के अंतर्गत आएगा।

प्रस्तुत उदाहरण में आप देख सकते हैं कि ए एवं अ यह दोनों स्वर शब्द है। लेकिन इन दोनों की संधि करने पर अय बनाते हैं। ने एवं अन से मिलकर नयन बनता है। उपरोक्त उदाहरण अयादि संधि का है।

अयादि संधि के अन्य उदाहरण

  • ऐ + अ = आय
  • गै + अक = गायक
  • गै + अन = गायन
  • ओ + अ = अव
  • पो + अन = पवन
  • हो + अन =हवन
  • औ + अ = आव
  • पौ +अक = पावक
  • पौ +अन = पावन

निष्कर्ष

उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा एवं आयादि संधि से संबंधित सभी प्रश्नों के उत्तर आपको इस आर्टिकल से मिले होंगे। यदि इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल हैं तो वह हमें कमेंट मे बता सकता है। हम आपके सवाल का जल्द जवाब देने का प्रयास करेंगे।

अन्य हिन्दी महत्वपूर्ण व्याकरण

संज्ञासम्बन्ध सूचकअधिगम के सिद्धांत
सर्वनामअव्ययनिपात अवधारक
विराम चिन्हविशेषणकारक

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here