निपात अवधारक

निपात-अवधारक (परिभाषा, भेद और उदाहरण) | Nipat Avdharak

 Nipat Avdharak
Image: Nipat Avdharak

निपात की परिभाषा निपात किसे कहते हैं?

निपात ऐसे शब्द हैं जो किसी शब्द के साथ लगकर उसके अर्थ को बल प्रदान करते हैं, उसे निपात कहते हैं। इन शब्दों को निपात अवधारक भी कहते हैं। इस तरह के शब्द किसी खास बात पर जोर देकर कहने के लिए प्रयोग किया जाता है।

निपात अवधारक के उदाहरण

  • राधा ने मुझसे बात तक नहीं की।
  • कल सभी स्कूल तक जाएंगे।
  • शिक्षक के आने पर की गई थी जैसे ही शिक्षक वर्ग में आए सभी विद्यार्थी गण चुप हो गए।
  • कल शिक्षक भी आएंगे।
  • राम को आज रात रुकना ही पड़ सकता है।
  • कल से मैं भी आपके साथ स्कूल आऊंगा।
  • राधा ने तो हद कर दी।
  • गांधी जी को पूरे भारत के एक-एक बच्चे तक जानते हैं।

ऊपर दिए गए उदाहरणों में तक, ही, भी, भर आदि जैसे शब्द वाक्यों को बल दे रहे हैं। जिससे इन शब्दों का प्रयोग किसी बात पर जोर देने के लिए किया जा रहा इस तरह के शब्द को निपात अवधारक भी कहते हैं।

निपात के भेद

निपात के तीन भेद बताए हैं।

  1. उपमार्थक निपात
  2. कर्मोपसंग्रहार्थक निपात
  3. पदपूरणार्थक निपात

हालांकि निपातओं में कोई सार्थकता नहीं होती है। फिर भी उन्हें पूरी तरह अर्थहीन नहीं कहा जा सकता। निपात एक शुद्ध नहीं है, क्योंकि जब संज्ञा, विशेषण, सर्वनाम आदि में अवयवों का प्रयोग किया जाता है, तब जाकर उनका अपना अर्थ होता है। निपात में के साथ ऐसा नहीं होता है, तो निपात का प्रयोग किसी निश्चित शब्द अथवा शब्द समुदाय या पूरे वाक्य को अर्थ देने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

निपात के कार्य

निपात के निम्नलिखित कार्य होते हैं।

  • प्रश्न जैसे: क्या राधा जा रही है?
  • अस्वीकृति जैसे: मेरा छोटा भाई रमेश आज स्कूल नहीं जाएगा।
  • विस्मय बोधक जैसे: क्या आपके पास एक अच्छी सी पुस्तक है?
  • वाक्य में किसी शब्द पर बल देना जैसे: इसे तो बच्चा बच्चा जानता है।

निपात के प्रकार

निपात के निम्नलिखित नौ प्रकार या वर्ग होते हैं।

निपात के नौ प्रकार या वर्ग हैं-

  1. स्वीकार्य निपात
    जैसे- हाँ, जी, जी हाँ।
  2. नकरार्थक निपात
    जैसे- नहीं, जी नहीं।

1.

स्वीकृतिबोधक निपात

 हा, जी, जी हाँ

2.

नकारबोधक निपात

 जी नहीं, नहीं

3.

निषेधबोधक निपात

 मत

4.

प्रश्नबोधक निपात

 क्या

5.

विस्मयबोधक निपात

 क्या,काश

6.

तुलनाबोधक निपात

 सा

7.

अवधारणाबोधक निपात

 ठीक, करीब, लगभग, तकरीबन

8.

आदरबोधक निपात

 जी

9.

बल प्रदायकबोधक निपात

 तो, ही, भी, तक, भर, सिर्फ, केवल

इस लेख में आपने जाना निपात अवधारक (Nipat Avdharak) किसे कहते हैं और निपात अवधारक के कितने भेद होते हैं। उसके साथ आप लोगों ने निपात अवधारक के कुछ उदाहरण भी देखें। जिससे कि आपको समझ में आ गया होगा, यह कितने प्रकार के होते हैं। और किस तरह से अव्यय शब्द मिलकर किसी वाक्य को परिवर्तित कर देते हैं।

अन्य महत्वपूर्ण हिंदी व्याकरण

वचनवर्ण विभागअव्यय
विराम चिन्हशब्द शक्तिसमुच्चय बोधक
लिपिविशेषणसमास

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here