अब के बनिया देय उधार मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

अब के बनिया देय उधार मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ab ke baniya dey udhaar muhaavare ka arth)

अब के बनिया देय उधार मुहावरे का अर्थ – अपनी ज़रुरत आ पड़ती है, तो आदमी सब कुछ मान जाता है, हर शर्त स्वीकार कर लेता है, दबाव पड़ने पर सब कुछ करना पड़ता है, स्वार्थी और मजबूर व्यक्ति अनचाहा कार्य भी करता है।

Ab ke baniya dey udhaar muhaavare ka arth – apanee zarurat aa padatee hai, to aadamee sab kuchh maan jaata hai, har shart sveekaar kar leta hai, dabaav padane par sab kuchh karana padata hai, svaarthee aur majaboor vyakti anachaaha kaary bhee karata hai.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन की गर्दन एक ऐसे व्यक्ति के पैर के नीचे दबी है जहां पर सोहन की भलाई उसकी बातों को मानने में ही है चाहे वह व्यक्ति कितना ही बुरा हो लेकिन सोहन को उसके हां में हां मिलाने पर रही है इसे ही कहते हैं अब के बनिया दे उधार।

वाक्य प्रयोग: सोहन के घर जब असामाजिक तत्व ने धमकाने के लिए आया तो उसने उसके सभी धमकियां को मान लिया और ऐसे ही परिस्थिति में कहा जाता है कि अब के बनिया दे उधार ।

वाक्य प्रयोग: सोहन के कारखाने में श्रमिकों ने हड़ताल कर दिया जिसके वजह से सोहन को अपने कारखाने में काम करने के लिए अकुशल श्रमिक को रखना पड़ रहा है और उसे दुगनी और तिगुनी मजदूरी देनी पड़ रही है इसे ही कहा जाता है अब के बनिया दे उधार।

वाक्य प्रयोग: जब आप किसी ऐसी परिस्थिति में फंसे हो जहां पर आपका भलाई उसकी बातों को मानने में ही होता है वैसी परिस्थिति को कहा जाता है कि अब के बनिया दे उधार ।

यहां हमने “अब के बनिया देय उधार”जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा।अब के बनिया दे उधार का अर्थ होता है कि किसी के भी हर शर्त को स्वीकार कर लेना या किसी के दबाव में पड़ने पर उसके सभी कार्य को करना चाहे आपकी मर्जी हो या ना हो लेकिन आपको उसका कार्य करना पड़ रहा हो, तो ऐसी परिस्थिति में यह कहावत यह मुहावरा आती है कि अब के बनिया दे उधार। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आँख का ताराआकाश-पाताल एक करना
आड़े हाथों लेनाअपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
आपे से बाहर होनाआसमान सिर पर उठाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here