विंडोज क्या है और इसका इतिहास

What is Windows in Hindi: अगर आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तो आपने अक्सर कंप्यूटर के शुरू होते वक्त विंडोज लिखा हुआ देखा होगा। क्या उसे देखकर आपके मन में विचार आता है कि विंडोज क्या है? (Window kya hai) हम आपकी जिज्ञासा को समझते हैं इस वजह से विंडोज के बारे में संपूर्ण जानकारी इस लेख में देने का प्रयास किया है।

What-is-Windows-in-Hindi
Image : What is Windows in Hindi

आजकल जमाना डिजिटल होता जा रहा है और चारों और कंप्यूटर का इस्तेमाल तेज होता जा रहा है। इस जमाने में यह आवश्यक है कि आप को कंप्यूटर के बारे में जानकारी हो और अगर आप कंप्यूटर की कार्य प्रणाली को समझना चाहते हैं तो विंडोज को समझना आवश्यक है। इस वजह से विंडोज़ क्या है? (windows kya hai) का एक सुंदर जवाब इस लेख में आपको विस्तार पूर्वक दिया गया है।

विंडोज क्या है? (What is Windows in Hindi)

Windows एक graphic user interface (GUI) Operating System है। जिस तरह मोबाइल में सभी काम को करने के लिए एक ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में एंड्रॉयड का इस्तेमाल किया जाता है, ठीक उसी तरह कंप्यूटर में सभी सॉफ्टवेयर और विभिन्न प्रकार के कामों को ठीक से करने के लिए विंडोज नाम का ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल किया जाता है।

सरल भाषा में आप ऑपरेटिंग सिस्टम को कंप्यूटर का वह हिस्सा समझ सकते है, जिसकी सहायता से विभिन्न सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के अंदर काम कर पाते है अर्थात कंप्यूटर में होने वाले सभी काम इस वजह से हो पा रहे है। क्योंकि कंप्यूटर में एक ऑपरेटिंग सिस्टम में लगा हुआ है, जो सभी सॉफ्टवेयर को इंसानी भाषा में निर्देश समझने दे रहा है। अन्यथा कंप्यूटर हमारे निर्देश को नहीं समझ पाएगा और किसी भी प्रकार का कार्य नहीं कर पाएगा।

ऐसा नहीं है कि विंडोस कंप्यूटर का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम है। इससे पहले लोग MS DOS नाम के ऑपरेटिंग सिस्टम से काम किया करते थे। मगर इस ऑपरेटिंग सिस्टम को जब विश्व के प्रसिद्ध आईटी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने लांच किया तो लोगों को यह काफी पसंद आया क्योंकि इसका इस्तेमाल करना काफी सरल था। सबसे पहले माइक्रोसॉफ्ट ने 1985 में विंडोज़ 1.O लॉन्च किया और इस ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करते हुए विंडोज आज 11 वर्जन तक लॉन्च कर चुका है।

विंडोस का इतिहास

विंडोज नाम के इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सन 1985 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा बनाया गया था। इसलिए सबसे पहले कई सालों तक विश्व के सबसे अमीर बिल गेट्स बने रहे। यह पहला ऑपरेटिंग सिस्टम था, जिसमें लोगों को पहले से कुछ बेसिक फंक्शन दिए गए थे। जैसे कैलेंडर, घड़ी और यह पहला ऑपरेटिंग सिस्टम था, जो GUI पर आधारित था।

जब इस ऑपरेटिंग सिस्टम को हम कंप्यूटर में लांच करते थे तो हमें घड़ी और कैलेंडर जैसे कुछ बेसिक फीचर मिल जाते थे। साथ ही MS DOS के मुकाबले इस ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करना ज्यादा सरल था और इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना लोग जल्दी सीख सकते थे। इस वजह से सभी कंप्यूटर में इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाने लगा और धीरे-धीरे विंडोज प्रचलित हो गया।

Windows 1.0

इस सबसे पहले विंडो उसका नाम विंडोज़ 1.0 था, जो 20 नवंबर 1985 के दिन 1.0 लॉन्च किया था। विंडोज़ 1.0 को खरीदने के लिए लोगों को 2 साल और इंतज़ार करना पड़ा।

Windows 2.0

विंडोज़ के इस ऑपरेटिंग सिस्टम को 1987 में लांच किया गया। इसकी सबसे बड़ी खासियत थी कि लोगों को पहली बार माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल और माइक्रोसॉफ्ट वर्ड जैसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने का मौका मिला।

साथ ही इस ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से विभिन्न एप्लीकेशन को मिनिमाइज और मैक्सिमाइज कर सकते थे, जिससे एक साथ दो या तीन एप्लीकेशन पर काम करना सरल हो गया। इसकी एक और खासियत यह थी कि इसे इंटेल के 286 प्रोसेसर से बनाया गया। यह प्रोसेसर VGA डिस्प्ले सिस्टम को सपोर्ट करता था।

Windows 3.0

इसे 1990 में लांच किया गया था। यह विंडोज 2.0 से काफी अच्छा था। क्योंकि उससे आसान और सभी कामों में पहले वाले ऑपरेटिंग सिस्टम से बेहतर था। यह गेम बहुत प्रसिद्ध हुआ और इसके प्रसिद्ध होने का कारण Window Software Development Kit (SDK) था।

इसके अलावा इस विंडोज में पहली बार Solitaire नाम के उस प्रसिद्ध खेल को लांच किया गया। सबसे बड़ी खासियत यह थी कि यह ऑपरेटिंग सिस्टम पहले वाले से ज्यादा सरल और ग्राफिक भी काफी अच्छा था।

Windows 3.1

कंप्यूटर के इस ऑपरेटिंग सिस्टम को 1992 में लांच किया गया। कंप्यूटर के इस ऑपरेटिंग सिस्टम को इस्तेमाल करने के लिए आपके डिवाइस में कम से कम 1 MB का रैम होना चाहिए। इसके साथ ही पहली बार CD–ROM की सुविधा दी गई।

इस ऑपरेटिंग सिस्टम को एक बार डिवाइस में इंस्टॉल करने के बाद 10 से 15 MB की जगह लेता था। इसके साथ ही इसमें पहली बार कंप्यूटर में मल्टीमीडिया फंक्शनैलिटी सपोर्ट करने का फीचर भी दिया गया।

यह भी पढ़े: कंप्यूटर क्या है तथा इसकी बेसिक जानकारी

Windows 95

विंडोज के कुछ सबसे प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम में से एक विंडोज 95 को माना जाता है। इसे माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने 1995 में रिलीज किया गया। यह पहला ऑपरेटिंग सिस्टम बना, जिसके ग्राफिक को रंगीन बनाया गया।

साथ ही विंडोज में पहली बार स्टार्ट बटन और मेनू बटन को शामिल किया गया। लोगों को यह सभी बदलाव बहुत पसंद आया और माइक्रोसॉफ्ट कंपनी पूरे विश्वभर में एक बड़ी और नामी कंपनी के रूप में पहचानी जाने लगी।

Windows 4.0

इस वर्जन को कुछ सुधार करने के बाद 24 अगस्त 1996 को लॉन्च कर दिया गया। लेकिन सुधार कुछ खास नहीं थे, इस कारण इसे प्रमुख Windows Release के रूप में नहीं लिया गया।

Windows 98

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा बनाया गया यह दूसरा सबसे अधिक प्रचलित operating system था। इसे 1998 में लांच किया गया। इसके बाद बिल गेट्स विश्व के अमीर लोगों की गिनती में आने लगे। विंडोज़ के इस अपडेट में काफी इंप्रूवमेंट किया गया और कंप्यूटर हर किसी को समझ में आए इतना आसान बनाने का प्रयास किया गया।

इस अपडेट में फ्लाइट मोड, नेवीगेशन बटन, बैंक बटन जैसे विकल्पों को इंट्रोड्यूस किया गया। इस ऑपरेटिंग सिस्टम में और भी विभिन्न प्रकार के तकनीकों को इंट्रोड्यूस किया गया, जिसमें FAT 32, MMX & DVD मौजूद है।

Windows 2000

विंडोज का वह अपडेट है, जिसे साल 2000 में ही लाया गया था। मगर पहले वाले अपडेट में कुछ चीजें छूट गई थी जैसे Hybernation और इस ऑपरेटिंग सिस्टम के सहारे कंप्यूटर को पूरी तरह से बिजनेस में इस्तेमाल किया जा सके, इसके लिए कुछ नए फीचर दिए गए।

Windows me

सन 2000 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा बनाया गया यह ऑपरेटिंग सिस्टम पूरे विश्व भर में प्रचलित हुआ। यह आखरी ऑपरेटिंग सिस्टम था, जिसे MS DOS Kernel के ऊपर बनाया गया।

यह ऑपरेटिंग सिस्टम Windows Millennium Edition का आखरी ऑपरेटिंग सिस्टम था। इस सिस्टम में पहली बार रिस्टोर करने का फीचर लाया गया, जिसके माध्यम से हम किसी भी डिलीट हो गई फाइल को दोबारा कंप्यूटर में ला सकते हैं।

Windows XP

इस ऑपरेटिंग सिस्टम के आ जाने की वजह से कंप्यूटर लोगों के घर तक बड़ी आसानी से पहुंच पाया। इस ऑपरेटिंग सिस्टम के लॉन्च के बाद कंप्यूटर का इस्तेमाल करना बहुत ही सरल हो गया। इसमें टास्कबार और स्टार्ट बटन दिया गया, जिसमें माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा विभिन्न प्रकार के एप्लीकेशन को डाला गया।

Windows XP पहला ऑपरेटिंग सिस्टम था, जो अपने ग्राहक को दो Functions देता था पहला प्रोफेशनल और दूसरा होम। प्रोफेशनल ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल व्यवसाय में कंप्यूटर को इस्तेमाल करने के लिए था और वह उनका इस्तेमाल लोग अपने रोजमर्रा के जीवन में कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सके, इसलिए लाया गया था।

Windows Vista

विंडोज के इस संस्करण को 30 जनवरी 2007 को लॉन्च किया गया, जो कुछ साल तक ही चल पाया क्योंकि इस विंडोज विस्टा में काफी सारी समस्याएँ थी। विस्टा में सुरक्षा पर भी काफी ध्यान दिया गया था। विंडोज विस्टा में काफी उपयोगी फीचर जोड़े गये, जिनमें विंडोज डीवीडी मेकर, स्पीच रिकॉग्निशन, फोटो गैलरी आदि मुख्य थे।

Windows 7

यह ऑपरेटिंग सिस्टम काफी सरल तेज बारिश तथा इसमें विभिन्न प्रकार के फीचर को जोड़ा गया है जैसे Automic Window Resizing इन सबके साथ peek, snap, shake जैसे कुछ और फ्यूचर को जोड़ा गया। जिसका इस्तेमाल करके हम इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल अपने रोजमर्रा के जीवन में कंप्यूटर के इस्तेमाल को आसान बना दिया गया।

यह ऑपरेटिंग सिस्टम आपके कंप्यूटर को इतना खूबसूरत और अच्छा बना देता था कि लोग कंप्यूटर का रोजमर्रा के जीवन में इस्तेमाल करने लगे। इससे ना केवल कंप्यूटर की बिक्री बढ़ी बल्कि लोगों के द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में विंडोज़ का नाम आया।

Windows 8

यह भी माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का एक प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम था, जिसमें स्टार्ट बटन और इंटरफ़ेस को बदला गया। लुक के साथ-साथ ऑपरेटिंग सिस्टम के बदलाव ने कंप्यूटर को काफी सरल और आसान बना। इस ऑपरेटिंग सिस्टम में काफी फीचर जोड़े गए, जिनमें से कुछ Spam Detection, Built-in Antivirus Capabilities, Malware Filtering इत्यादि है।

Windows 10

अगर आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तो अवश्य ही आपके कंप्यूटर में विंडोज टेन नाम का ऑपरेटिंग सिस्टम डाला हुआ होगा। यह काफी प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम में आज ज्यादातर लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। अब हमारे बीच टेबलेट भी आ चुका है। इस वजह से माइक्रोसॉफ्ट ने इसमें टैबलेट मोड और माउस मोड जैसे फीचर को दिया है।

आज आपका कंप्यूटर जैसा भी दिखता है और उसमें आप जिस तरह से भी विभिन्न चीजों का इस्तेमाल कर पा रहे है, वह इस वजह से कर पा रहे हैं। क्योंकि आपके कंप्यूटर में विंडो 10 नाम का ऑपरेटिंग सिस्टम दिया गया है।

यह भी पढ़े: इंटरनेट क्या है? (इतिहास, प्रकार, फायदे, लाभ और नुकसान)

विंडोज के संस्करण कब-कब लॉन्च हुए?

क्र. सं.विंडोज संस्करणलॉन्च दिनांक
1Windows 1.0120 नवम्बर 1985
2Windows 1.02मई 1986
3Windows 1.03अगस्त 1986
4Windows 1.04अप्रैल 1987
5Windows 2.039 दिसम्बर 1987
6Windows 2.1027 मई 1988
7Windows 2.1113 मार्च 1989
8Windows 3.022 मई 1990
9Windows 3.1अप्रैल 1992
10Windows NT 3.127 जुलाई 1993
11Windows for Workgroups 3.11नवम्बर 1993
12Windows 3.222 नवम्बर 1993
13Windows NT 3.521 सितम्बर 1994
14Windows NT 3.5130 मई 1995
15Windows 9524 अगस्त 1995
16Windows NT 4.024 अगस्त 1996
17Windows 9825 जून 1998
18Windows 200017 फरवरी 2000
19Windows ME14 सितम्बर 2000
20Windows XP25 अक्टूबर 2001
21Windows XP Professional x6425 अप्रैल 2005
22Windows Vista30 जनवरी 2007
23Windows 722 अक्टूबर 2009
24Windows 826 अक्टूबर 2012
25Windows 8.117 अक्टूबर 2013
26Windows 1029 जुलाई 2015

FAQ

विंडोज क्या है?

विंडोज एक ऑपरेटिंग सिस्टम है, जो आपके कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन को चलने में मदद करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्यों इस्तेमाल किया जाता है?

आपके कंप्यूटर में कौन सा एप्लीकेशन पहले से डाउनलोड रहेगा और किस तरह के एप्लीकेशन का आप इस्तेमाल कर सकते हैं या किस सॉफ्टवेयर को कैसे निर्देशों को लेना है और परिणाम को देना है यह सब कुछ एक ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा ही निर्धारित किया जाता है।

मोबाइल में कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम होता है?

मोबाइल में एंड्रॉयड नाम का ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल किया जाता है। वहीं अगर आप एप्पल के मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसमे IOS नाम का ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल किया जाता है।

कंप्यूटर का सबसे प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम कौन सा है?

Windows7 सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया गया था। इस वजह से इसे अब तक का सबसे प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम आना चाहता है।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को विंडोज क्या है? (What is Windows in Hindi) से संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आप लोगों को विंडो के बारे में सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी इस लेख में प्राप्त हो चुकी होगी और आपको यह लेख आसानी से समझ में भी आया होगा।

अगर आपको हमारा आज का यह लेख अच्छा लगा हो और आपको यह जानकारी समझ में आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़े

मेटावर्स क्या है और यह कैसे काम करेगा?

डेटाबेस क्या है? इसके प्रकार, कार्य, उपयोग और लाभ

UPI क्या है और कैसे काम करता है?

5G नेटवर्क क्या है? (स्पीड, फायदे, प्रभाव और रिचार्ज)

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here