ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? कार्य, प्रकार और विशेषता

Operating System Kya Hai: आज के आधुनिक दौर में स्मार्टफोन और कंप्यूटर का उपयोग ज्यादा बढ़ गया है। यदि आप भी उनमें से एक है, जो स्मार्टफोन या कंप्यूटर चलाते है तो आपने एंड्राइड, आई.ओ.एस, विंडोज का नाम अवश्य सुना होगा। यह वही ऑपरेटिंग सिस्टम है, जिनका उपयोग स्मार्टफोन, कंप्यूटर, एटीएम मशीन और यहां तक की रोबोट में भी किया जाता है।

operating system
Image: Operating System Kya Hai

इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको ऑपरेटिंग सिस्टम से जुडी सम्पूर्ण जानकारी देंगे। आज मैं आपको बताने वाला हूँ कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और यह कैसे काम करता है। इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको भी ऑपरेटिंग सिस्टम से संबधित सभी जानकारी प्राप्त हो सके।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? कार्य, प्रकार और विशेषता | Operating System Kya Hai

ऑपरेटिंग सिस्टम किसे कहते हैं?

अपने कामों को करने के लिए कंप्यूटर विभिन्न प्रोग्राम एवं डिवाइस की मदद लेता है। इन्हीं डिवाइस एवं प्रोग्राम को संचालित करने के लिए एक अलग कंप्यूटर प्रोग्राम होता है, जिसे ऑपरेटिंग सिस्टम या मास्टर प्रोग्राम कहा जाता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर एक मृत व्यक्ति के समान है।

हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं कि ऑपरेटिंग सिस्टम के कंप्यूटर एक निर्जीव वस्तु है। क्योंकि बेजान हार्डवेयर को संचालित करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम का होना बेहद जरूरी है। ऑपरेटिंग सिस्टम को छोटे शब्दों में कहा जाए तो इस ओएस (OS) के नाम से जानते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य

ऑपरेटिंग सिस्टम संपूर्ण कंप्यूटर पर अपना नियंत्रण रखता है और संचालन करने का कार्य करता है। हम आपको आसान शब्दों में बताएं तो ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ता को कंप्यूटर पर आसानी से कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है और कंप्यूटर के विभिन्न भागों को निर्देश देता है।

यूजर जैसे ही कंप्यूटर को ऑन करता है तो ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे पहले मेन मेमोरी यानि रैम में लोड हो जाता है। इसके बाद यूजर सॉफ्टवेयर को कौन-कौन से हार्डवेयर चाहिए वो सब एलोकेट करता है ओएस।

ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम

कुछ प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम नीचे बताए गए है, जिनके बारे मे आप नीचे पढ़ सकते है।

विंडोज ओएस

इस ऑपरेटिंग सिस्टम का दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है और यह सबसे ज्यादा पॉपुलर भी है। वैसे तो इस विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के कई सारे वर्जन आ चुके हैं जैसे कि विंडोज एक्सपी, विंडोज 7, विंडोज 8, विंडोज 10 लेकिन इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में से सबसे पॉपुलर विंडोज 11 है।

यह भी पढ़े: विंडोज क्या है?

मैक ओएस

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के बाद सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला यह दूसरा कंप्यूटर ओएस है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम आपको आईफोन के मैकबुक, लैपटॉप, आईमैक, डेस्कटॉप जैसे डिवाइस में देखने को मिलता है। इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम के अलावा कुछ ऐसे ऑपरेटिंग सिस्टम है, जिनका नाम निम्नलिखित इस प्रकार हैं।

  • एंड्राइड ओएस
  • लिनक्स ओएस
  • उबुन्टु ओएस
  • सिम्बियन ओएस इत्यादि।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

करैक्टर यूजर इंटरफेस

यह ऑपरेटिंग सिस्टम इतना फ्रेंडली नहीं होता, जिसकी वजह से इस सिस्टम को चलाने के लिए कमांड को टाइप करना पड़ता है। कैरेक्टर यूजर इंटरफेस के अंतर्गत निम्नलिखित ऑपरेटिंग सिस्टम आते हैं जैसे कि डीओएस, लिनक्स, मैंक ओएस, सीयूआई इत्यादि शामिल हैं।

ग्राफ़िकल यूजर इंटरफेस

यह ऑपरेटिंग सिस्टम काफी फ्रेंडली होता है। क्योंकि ओएस को चलाने के लिए कमांड देने की जरूरत नहीं पड़ती। आप चाहे तो जिस प्रोग्राम को ओपन करना हो उस पर जाकर माउस कीबोर्ड के सहारे क्लिक करना होता हैं।

ग्राफ़िकल यूजर इंटरफेस के अंतर्गत आने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम निम्नलिखित इस प्रकार है जैसे कि विंडोज 10, विंडोज 11, जीयूआई इत्यादि शामिल हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम कितने तरीके से कार्य करता है?

मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम एक साथ कई उपयोगकर्ताओं को कार्य करने का सुविधा देता है। यानी कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से एक साथ एक समय पर कई यूजर अपना कार्य कर सकते हैं।

रियलटाइम ऑपरेटिंग सिस्टम

इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सबसे एडवांस ऑपरेटिंग सिस्टम कहा गया है। क्योंकि यह रियल टाइम प्रोसेस करता है। इस सिस्टम का उपयोग ज्यादातर रेलवे टिकट बुकिंग करने के लिए किया जाता है। इस सिस्टम पर यदि कोई यूजर कोई इनपुट देता है तो तो रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम तुरंत प्रक्रिया प्रदान करता हैं।

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम अपनी सुविधा उन कंप्यूटर को देता है, जो कंप्यूटर एक मल्टीपल नेटवर्क से कनेक्ट होता है। नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम में यूजर्स को कंप्यूटर के सभी अस्तित्व के बारे में जानकारी रखता है।

इसके अलावा कोई भी यूजर किसी भी कंप्यूटर में लॉगइन कर सकता है और कंप्यूटर में मौजूद फाइलों को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में कॉपी कर सकता हैं।

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

इस ऑपरेटिंग सिस्टम में यूजर कंप्यूटर पर एक बार में एक ही कार्य को कर सकता है। क्योंकि यह एक बार में एक से अधिक कार्य करने की अनुमति नहीं देता है। यानी कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से एक से अधिक यूजर अपना अकाउंट नहीं बना सकता। इस पर केवल एक ही व्यक्ति काम कर सकता है। उदाहरण के लिए एमएस डॉस, विंडोज 95, 98 जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम।

एमबीडेड ऑपरेटिंग सिस्टम

इस ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण कंप्यूटर के लिए नहीं किया गया है। बल्कि यह ऑपरेटिंग सिस्टम उन डिवाइस के लिए है, जैसे कि एटीएम मशीन, पेट्रोल पंप, लिफ्ट, पीओएस मशीन, फोन, स्मार्टवॉच इत्यादि। यह ऑपरेटिंग सिस्टम उसी डिवाइस में कार्य करता है, जिसके लिए बनाया गया हैं।

यह भी पढ़े: डेटाबेस क्या है? इसके प्रकार, कार्य, उपयोग और लाभ

ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता

  • एक यूजर को ऑपरेटिंग सिस्टम ग्राफिकल इंटरफ़ेस की सुविधा प्रदान करता है, जिसकी वजह से कंप्यूटर का इस्तेमाल करना काफी आसान हो जाता हैं।
  • हार्डवेयर कंपोनट्स को ऑपरेटिंग सिस्टम कोऑर्डिनेट करता है। इसके लिए एक खास ट्रांसलेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है, जिसको हम डिवाइस ड्राइवर्स के नाम से जानते हैं।
  • विभिन्न सॉफ्टवेयर को रन करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम एनवायरनमेंट प्रदान करता है और प्रत्येक सिस्टम को सुचारू रूप से चलने के लिए संसाधन उपलब्ध कराता हैं।
  • प्राइमरी और सेकेंडरी मेमोरी और सीपीयू को ऑपरेटिंग सिस्टम मैनेज करने का कार्य करता है और इन सभी फाइलों को व्यवस्थित करता है। इसके अलावा यह सीपीयू को पावर डिस्ट्रीब्यूटर करता हैं।
  • कंप्यूटर में मौजूद तमाम फाइलों को ऑपरेटिंग सिस्टम मैनेज करता है और इसके साथ ही फाइल और फोल्डर को कॉपी, मूव, एवं डिलीट करने की सुविधा प्रदान करता है। यह हेल्थ सिस्टम को मॉनिटर करता है और उसके परफॉर्मेंस को बेहतर बनाता हैं।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच तालमेल बिठाकर प्रोग्राम और कंप्यूटर को सही ढंग से चलाने में सुविधा प्रदान करता है। क्योंकि यह कंप्यूटर का यूज करने और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच सामंजस्य बिठाता है और कम्युनिकेट करने में मदद करता हैं।

FAQ

दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम कब बना था?

दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम वर्ष 1956 में बना था।

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा किस माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ का प्रयोग किया जाता है?

पूरी दुनिया में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ ओ.एस का उपयोग सबसे अधिक होता है।

Dos का फुलफार्म क्या है?

Dos का फुलफार्म डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम है।

दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम किस कंपनी ने बनाया था?

दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम IBM कंपनी द्वारा बनाया गया था।

दुनिया में सबसे पहला ग्राफ़िकल यूजर इंटरफेस पर बना हुआ ऑपरेटिंग सिस्टम किसने बनाया था?

दुनिया में सबसे पहला ग्राफ़िकल यूजर इंटरफेस पर बना हुआ ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट ने बनाया था।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? (Operating System Kya Hai) के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की इस विषय पर यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा हेल्पफुल और यूज़फुल रही होगी।

अगर आपको इस विषय पर दी गई जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। ताकि आप के जरिए अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके एवं उन्हें ऐसे ही महत्वपूर्ण लेख पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़े

प्रोसेसिंग डिवाइस क्या है? और इसका उदाहरण

आउटपुट डिवाइस क्या है? (प्रकार, कार्य और उदाहरण)

इनपुट डिवाइस क्या है? इसकी परिभाषा, प्रकार और उदाहरण

प्रिंटर क्या है? प्रकार, कार्य और उपयोग

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here