उँगली उठाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

उँगली उठाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ungalee uthaana Muhavara ka arth)

उँगली उठाना मुहावरे का अर्थ – निंदा करना, आरोप लगाना, किसी पर दोष लगाना, किसी के चरित्र या ईमानदारी पर संदेह व्यक्त करना।

Ungalee uthaana Muhavara ka arth – ninda karana, aarop lagaana, kisee par dosh lagaana, kisee ke charitr ya eemaanadaaree par sandeh vyakt karana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन को जब पुलिस पकड़ रही थी तब उसके परिजन ने पुलिस से कहा कि जब तक आरोपी का आरोपित साबित नहीं हो जाता तब तक उस पर उंगली नहीं उठाई जा सकती अर्थात उसे पुलिस पकड़ कर नहीं ले जा सकती।

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल ने अपनी बेटी को दूसरे देश में पढ़ने के लिए भेजा लेकिन साथ ही साथ उसे यह समझाया कि तुम वहां पर कोई ऐसा कार्य मत करना कि लोग तुम्हारे ऊपर उंगली उठाए।

वाक्य प्रयोग: मोहनलाल एक ईमानदार सिपाही है रहकर सेवा से निवृत्त हुआ था और आज तक उस पर किसी ने उंगली उठाने का साहस नहीं किया था।

वाक्य प्रयोग: मोहन जब अपने पैसों से दूसरों की मदद करता था तो सब लोग उसे अच्छा समझते थे लेकिन जैसे ही पता चला कि मोहन गलत काम करके पैसा बनाता है और लोगों की मदद करता है तो सभी की उंगलियां उसकी तरफ उठने लगी।

यहां हमने “उँगली उठाना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। उंगली उठाना मुहावरे का अर्थ होता है कि किसी की निंदा करना, किसी पर आरोप लगाना, किसी पर दोष लगाना या किसी के चरित्र और ईमानदारी पर संदेह करना। जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति के ईमानदारी पर संदेह करता है। तब वह व्यक्ति आग बबूला हो जाता है क्योंकि वह ईमानदारी से अपने जीवन को बिता रहा होता है ऐसी स्थिति में अगर कोई व्यक्ति पर उंगली उठाए तो वह आगबबूला होकर कोई भी कार्य कर सकता है इसीलिए हमें हमेशा सोच समझकर ही किसी की नींद आया किसी पर दोस्त लगाना चाहिए। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आँख का तारा करारा जवाब देना
आकाश-पाताल एक करना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
आपे से बाहर होना कठपुतली बनना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here