दौड़ने के फायदे और नियम

Running ke Fayde in Hindi: आज कल के समय में हमारा शरीर एक मशीन की तरह हो गया है। हर दिन हम अपने काम में इतना व्यस्त रहते हैं कि शरीर को आराम मिलना मुश्किल हो गया है। सामान्य सी बात है यदि कोई मशीन भी लगातार काम करती है तो उसे भी मरम्मत की जरूरत पड़ेगी। इसी प्रकार हमारे शरीर को भी काम करने के लिए आराम की जरूरत पड़ती है। आराम ही हमारे शरीर को स्वस्थ और काम करने के लायक बनाता है।

दौड़ना हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इससे हमारे शरीर की मांसपेशियों को मजबूती मिलने के साथ-साथ शरीर भी शरीर पूरी तरह से फिट भी रहता है। लेकिन अब ये सवाल आता है कि शरीर को फिट रखने के लिए कितनी देर तक दौड़ना चाहिए? कई लोग 40 से 50 मिनिट तक दौड़ना सही मानते हैं तो कई लोग इससे कम दौड़ना भी सही मानते हैं।

running-tips
running ke fayde

दौड़ सभी व्यायामों में सबसे सरल और हर कोई कर सके ऐसा व्यायाम है। इससे सभी को फायदा होता है चाहे वो बुड्ढा हो या बच्चा। दौड़ने से आपका शरीर फिट तो रहेगा ही इसके साथ ही शरीर का वजन भी कम होगा। दौड़ना शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद और लाभदायक होता है।

आपने देखा होगा कि कई लोग सुबह उठकर जोगिंग करने के लिए जाते हैं चाहे वो अमीर या फिर गरीब ही क्यों न हो।

आज हम आपको इस पोस्ट में दौड़ने के फायदे (Running ke Fayde in Hindi) बताने जा रहे हैं। इसके साथ ही हम तेज दौड़ने के नियम, रनिंग का तरीका (Running Karne KA Tarika) और रनिंग टिप्स भी देंगे।

दौड़ने के फायदे और नियम | Running ke Fayde in Hindi

रनिंग के फायदे (Benefits of Running in Hindi)

तनावमुक्त रहना

हमेशा दौड़ना हमारे शरीर में एक दवाई के समान काम करता है। यदि आपको तनाव मुक्त रहना है तो आपके लिए दौड़ना बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। डॉक्टरों का दौड़ने को लेकर कहना है कि दौड़ना सिर्फ शरीर को तनाव मुक्त ही नहीं करता, यह शरीर को कई सारी भयंकर बीमारियों से भी दूर रखता है।

हमेशा दौड़ने से हमारे शरीर में Endorphins नाम का एक रसायन का स्त्राव होता है, जो हमारे शरीर को तनाव मुक्त रहने में मदद करता है।

वजन कम होता है

हमारी कई आदतों से हमारे शरीर का वजन बढ़ जाता है। यदि आप वजन कम करने का तरीका खोज रहे हैं तो आपको दौड़ने से आसान और कोई तरीका नहीं मिल सकता। दौड़ने से हमारे शरीर में हर मिनिट कैलोरी बर्न होती है। कैलोरी बर्न के लिए यह एक प्रभावशाली व्यायाम है।

यदि आप हमेशा दौड़ते हैं तो आपके शरीर की 705 से 865 कैलोरी बर्न होती है और इसके साथ-साथ आपके शरीर की वसा कोशिकाओं को जलाने में मदद करता है, जिससे चर्बी भी कम होती है।

हृदय स्वस्थ रहना

आपके दौड़ने से हृदय को बहुत सारा फायदा होता है। यदि आप हमेशा दौड़ते हैं तो आपका हृदय स्वस्थ रहता है और साथ-साथ धमनियों को भी स्वस्थ रखता है। दौड़ने से धमनियां फैलती और संकुचित होती है, इससे धमनियों का व्यायाम होता है।

इस कारण शरीर में रक्त का प्रवाह सही से हो पाता है। हमेशा दौड़ने से हमारे शरीर का रक्तचाप कम होता है और हृदय से जुड़ी कोई भी बीमारी दूर रहती है।

हड्डीयां मजबूत होना

स्वस्थ शरीर के लिए हमारी हड्डीयों का मजबूत होना बहुत ही जरूरी है। यदि हमारी हड्डियों में थोड़ी सी भी कमजोरी आ जाती है तो हमारा पूरा शरीर इससे प्रभावित हो जाता है और पूरे शरीर में कमजोरी आ जाती है। हमेशा दौड़ने से हमारे पैरों की हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत होती है। हमारे पैरों की हड्डियों में ही सबसे ज्यादा रक्त का निर्माण होता है।

रोग प्रतिरोधक शक्ति

यदि आप हमेशा 5 मिनिट के लिए दौड़ते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। आप एलर्जी, खांसी, बुखार, सर्दी-जुखाम आदि जैसी बीमारीयों से आसानी से ग्रस्त नहीं होंगे।

पाचन शक्ति में सुधार

यदि आपको समय पर भूख नहीं लगती तो अपको हमेशा दौड़ना शुरू कर देना चाहिए। हमेशा दौड़ने आपकी पाचन शक्ति सही से काम करेगी और आपको समय पर भूख लगेगी। दौड़ने से हमारे शरीर की कैलोरी बर्न होगी। इसके बाद हमें भूख लगने लगेगी।

हमेशा दौड़ने से पाचन शक्ति ठीक होने के साथ-साथ कब्ज की भी परेशानी भी दूर होगी और पेट के कैन्सर में भी एक सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

डायबिटीज में फायदा

आज के समय में हर दूसरा व्यक्ति डायबिटीज की समस्या से परेशान है। यह बीमारी हर दिन बढ़ती ही जा रही है, जो कि एक मीठे जहर की तरह है। इस बीमारी से बचना बहुत ही जरूरी है।

हमेशा दौड़ने से इंसुलिन बनने में सहायता मिलती है और इससे शरीर में रक्त शर्करा का स्तर सही से रहता है। यदि आप इस बीमारी से ग्रस्त है तो आपके लिए दौड़ना बहुत ही फायदेमंद साबित होगा।

हार्ट अटैक से बचने में फायदेमंद

यदि आप नियमित रूप से दौड़ते हैं तो आपको Heart Attack की सम्भावना कई गुना कम हो जाएगी और आपका हृदय अच्छे से रक्त का स्त्राव करेगा। यदि आप हमेशा 10 मिनिट के लिए दौड़ते है तो आपका हृदय अधिक धड़केगा और अधिक रक्त पम्प करेगा। उससे धमनियों का लचीलापन बना रहेगा।

अच्छी नींद

कई लोगों की ये शिकायत रहती है कि उनको नींद कम आती है या फिर देरी से आती है। ये हमारा सबसे बड़ा रोग है। क्योंकि इससे कई सारी परेशानियां होती है। यदि आप नियमित रूप से दौड़ते रहेंगे तो आप तनावमुक्त रहने के साथ-साथ और किसी की चिंता नहीं होगी। इससे आपको अच्छी नींद आने की सम्भावनाएं कई गुना बढ़ जाती है।

इन सभी के साथ रनिंग के फायदे और भी है, जो निम्न है:

  • हमेशा दौड़ने से आपके शरीर में नई ऊर्जा आती रहती है और हमेशा आपका दिन एक नई ऊर्जा के साथ शुरू होता है।
  • रोजाना दौड़ने से आपके फेफड़े सही से काम करते हैं और आपको एक लम्बा जीवन मिलता है।
  • हमेशा दौड़ने से आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल का स्तर बना रहता है।
  • नियमित दौड़ने से हमारी उम्र के बढ़ने की गति कम हो जाती है और हम जवान अधिक उम्र तक रहते हैं, जो एक बहुत बड़ा फायदा है।
  • हमेशा दौड़ने से मधुमेह का खतरा भी कम हो जाता है।
  • नियमित दौड़ने से आपका स्टेमिना बढ़ता है और आपके सहन शक्ति और भी मजबूत होती है।
  • दौड़ने से हमारे शरीर के जोड़ मजबूत हो जाते हैं।
  • दौड़ने से शरीर का संतुलन बना रहता है और कोई भी बीमारी नहीं होती।
  • नियमित दौड़ने से आपको अच्छा महसूस होता है।

रनिंग टिप्स (Running Tips Hindi)

यदि आप नियमित दौड़ने की सोच रहे हैं तो आपको इससे पहले दौड़ने के नियम, रनिंग करने के तरीके आदि जान लेना चाहिए। बिना रनिंग टिप्स के दौड़ना आपके शरीर के लिए काफी नुकसानदायक भी हो सकता है। इसलिए दौड़ने से पहले दोड़ने के लिए टिप्स (Running Tips Hindi) की जानकारी होना बहुत जरूरी है।

  • यदि आप दौड़ना शुरू कर रहे हैं तो आपको पहले दिन लम्बा चलने का प्रयास ही करना है। आप जितना हो सके उतना लम्बा चलें। शुरूआत के कुछ दिनों तक आपको लम्बा ही चलने का प्रयास रखना है। यदि अपने दौड़ना बंद कर दिया है और वापस दौड़ने की सोच रहे है तो भी आपको लम्बा ही चलने का प्रयास करना है। इसमें आपको शारीरिक परेशानियां आएगी। इन परेशानियों को नजरअंदाज नहीं करें, आप इनके बारे में डॉक्टर से सलाह जरूर लें।
  • दौड़ने के लिए आपको समतल मैदान का ही चयन करना है। यदि आप इसकी जगह पर रेतीले या ऊंचे नीचे रास्ते का चुनाव करते हैं तो ये आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • यदि आप शुरूआत में ही तेज दौड़ना शुरू कर रहे हैं तो ये गलत है। आप धीरे-धीरे समय के साथ अपने दौड़ने की गति बढ़ाये, जिससे आपको कोई परेशानी नहीं होगी।
  • वार्मअप करना ये बहुत ही जरूरी है। वार्मअप का मतलब है कि शुरूआत में दौड़ने के प्रति जोश भरना। दौड़ने से पहले आप अपने घुटनों को उठायें, थोडा व्यायाम करें, अपने हाथों को हिलाएं, पैरों को ऊपर नीचे करें, कमर को घुमाएं ऐसा करने से दौड़ने में आसानी होगी और अनावश्यक तनाव व थकान दूर हो जाते हैं।
  • इतना करने के बाद धीरे-धीरे चलना शुरू करें। आप पहले ही तेज दौड़ शुरू नहीं करें, पहले 5 से 10 मिनिट तक पैदल चलें। फिर समय के साथ-साथ अपने चलने की गति को बढ़ाएं।
  • दौड़ते समय शरीर को हल्का रखे और किसी भी तरह का वजन नहीं लें। शरीर को एकदम सीधा रखें।
  • आप एक सप्ताह में दो दिन खुद को आराम जरूर दें। यदि आपने नया-नया दौड़ना शुरू किया है और आप अपने शरीर को आराम नहीं दे रहे हैं तो आपको ये काफी नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए शरीर को आराम जरूर दें।
  • जो लोग अस्थमा की बीमारी से ग्रस्त है, उन लोगों को सड़क के किनारे दौड़ने से बचना चाहिए। क्योंकि वहां पर अधिक मात्रा में प्रदूषण होता है, जो परेशानी भरा हो सकता है।
  • आपको दौड़ने का समय तय कर लेना चाहिए। दौड़ने का सही समय सुबह और शाम का अच्छा माना जाता है। क्योंकि इस समय सूर्य ज्यादा गर्म नहीं होता है और ज्यादा गर्मी भी नहीं होती है। मौसम भी ठंडा रहता है। इसलिए आपको दौड़ने में कोई समस्या नहीं होगी।
  • हमेशा ये लिखते रहे कि आप कितना दौड़े है? इससे आपको ये पता चलता रहेगा कि आपके दौड़ने में कितना सुधार हुआ है।
  • दौड़ने के तुरंत बाद आपको अचानक नहीं रूकना है। आप अपनी तेज गति को धीरे-धीरे कम करें। इससे आपके शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा।

यह भी पढ़े: सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें?

दौड़ने से पहले इन बातों का रखे ध्यान

दौड़ने से पहले इन बातों को भी ध्यान में रखना जरूरी होता है, जिससे दौड़ते समय कोई परेशानी नहीं होगी।

  • हमेशा अपने पास एक पानी से भरी एक बोतल जरूर रखें और जब भी आपको लगे कि अब पानी पीना चाहिए तो पानी पी लें। लेकिन ज्यादा नहीं कम मात्रा में ही पीएं।
  • आपको दौड़ने के लिए अपने दोस्तों को भी साथ लेना चाहिए। इससे आपका दौड़ने का मनोबल बढेगा और दौड़ने का आनंद भी आएगा।
  • दौड़ने के लिए आपको उपयुक्त कपड़ों का ध्यान रखना है। भारी कपड़े दौड़ते समय नहीं पहने, जिससे आपको पसीना हो और परेशानी हो। इसके लिए आपको ढीले कपड़ों का चयन करना चाहिए।
  • आपको कभी भी खाली पेट नहीं दौड़ना चाहिए। दौड़ने के लिए जाने से पहले हल्का सा कुछ खा लें, जिससे आपको दौड़ते समय भूख की समस्या नहीं होगी।
  • आपको दौड़ने के तुरंत बाद कुछ नहीं खाना है। दौड़ने के 30 मिनिट बाद ही कुछ खाएं वो भी पौष्टिक आहार, फलों का जूस या फिर फलों का सेवन करें।

जब आप दौड़ने के लिए मैदान में पहुचेंगे तो आपको कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। इन समस्याओं को आप ध्यान में रखते हुए दौड़ना प्रारंभ करें। यदि आपको दौड़ते समय कोई शारीरिक समस्या होती है तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

यदि आपने नियमित रूप से दौड़ना शुरू कर दिया तो आपको कोई परेशानी नहीं होगी। इसका फायदा आपको कुछ ही दिनों में देखने को मिल जायेगा। यदि आपके दौड़ना नियमित रूप से शुरू कर दिया है तो आपको ये नियमित रखना है। इसे बंद नहीं करना है।

सड़क पर दौड़ने के फायदे

सड़क पर या फिर सड़क के किनारे दौड़ने का कोई फायदा नहीं है, बल्कि आपको इससे नुकसान अवश्य हो सकता है। हम सभी लोगों को हमेशा मैदानों में जाकर ही दौड़ना चाहिए, यदि हम सड़कों पर दौड़ेंगे तो सड़कों पर चलने वाले वाहनों के द्वारा कभी भी एक्सीडेंट होने की संभावना बनी रहती है, इसीलिए आप सभी लोगों को सड़क पर नहीं दौड़ना चाहिए।

इतना ही नहीं दौड़ते समय हमारी सांसे काफी तेजी से चलने लगती है और इस स्थिति में यदि हम रोड पर दौड़ेंगे तो सड़कों पर चलने वाले वाहनों से निकलने वाला प्रदूषण हमारे लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है।

खाली पेट दौड़ने के फायदे

जैसा कि आप सभी लोग भी जानते ही होंगे कि यदि हम खा पीकर खेल खेलते हैं या फिर दौड़ करते हैं तो उल्टी होने की संभावना काफी ज्यादा होती है और ऐसे में यदि हम खाली पेट दौड़ते हैं तो उल्टी होने की संभावना बेहद कम होती है और खाली पेट दौड़ने से रनिंग स्पीड भी काफी अच्छी हो जाती है।

सुबह दौड़ने के क्या नियम है?

अक्सर कई बार यह सवाल पूछा जाता है कि सुबह दौड़ने का क्या नियम होता है तो हम आपको बता दें कि आपको सुबह दौड़ते समय विश्राम कम से कम करना है, आपको दौड़ते समय अपना एक टारगेट फिक्स करना है कि हमें आज इतना दूर तक भागना है। आप सभी लोगों को दौड़ते समय किसी भी चीज का सेवन नहीं करना है और ना ही दौड़ने से पहले किसी चीज का सेवन करना है।

सुबह-सुबह अपनी दौड़ पूरी करने के बाद आप सभी लोगों को घर जाना है और रिलैक्स बिल्कुल भी नहीं करना है। घर जाने के बाद आप सभी लोगों को थोड़े समय के पश्चात पौष्टिक आहार लेने हैं जैसे कि दूध, अंडे, केले इत्यादि। इसका असर आप सभी लोगों के शरीर पर काफी अच्छा दिखेगा और केले को खाने से आपकी इम्यूनिटी भी मजबूत होती है और इंस्टेंट एनर्जी भी मिलती है तथा आप सभी लोगों को रनिंग के बाद केले को अपने जीवन में शामिल करना चाहिए।

शाम को दौड़ने के फायदे

यदि आप सुबह दौड़ते हैं और इसके बावजूद शाम को भी दौड़ते हैं तो आप सभी लोगों को काफी अच्छा रिस्पांस मिल सकता है, क्योंकि सुबह और शाम दोनों समय दौड़ने से आपका रनिंग एक्सपीरियंस और भी ज्यादा मजबूत होता है और रनिंग करते समय आपकी सांस फूलने की शिकायत भी कम हो जाती है।

इसका अर्थ है कि आप जितनी ज्यादा प्रैक्टिस करेंगे आपको उतना ही ज्यादा लाभ होगा और आपकी सांस भी कम फूलेंगी।

सुबह कितना दौड़ना चाहिए?

जैसा कि हमने आपको बताया कि रनिंग करते समय आप सभी लोगों को अपना टारगेट फिक्स करके रखना है तो आप सभी लोगों को हम बता दें कि रनिंग करते समय आप सभी लोगों को अपने टारगेट को अपनी एज और आवश्यकता के अनुसार चूस करना चाहिए।

आप सभी लोग यदि भारतीय सेना की भर्ती के लिए रनिंग कर रहे हैं तो आप सभी लोगों को सुबह-सुबह प्रतिदिन लगभग तीन से 4 किलोमीटर तक दौड़ना है।

यदि आप सभी लोग अपनी हेल्थ के लिए रनिंग करते हैं तो आप लोगों को अपनी उम्र के हिसाब से रनिंग करनी चाहिए। यदि आप यंग है तो आप प्रतिदिन का 2 किलोमीटर तक दौड़े और यदि आप थोड़े से बूढ़े हैं तो आपके लिए 500 मीटर से 1 किलोमीटर तक काफी होगा।

तेज दौड़ने के टिप्स

अक्सर भारतीय सेना की भर्ती के लिए लोग तेज दौड़ना चाहते हैं तो यहां पर हमारे द्वारा तेज दौड़ने के कुछ आसान एवं महत्वपूर्ण टिप्स बताए गए हैं, जिन की सूची नीचे निम्नलिखित है:

  • रनिंग शुरू करने से पहले आप सभी लोगों को कुछ दिनों तक लंबी लंबी चाल से पैदल ही चलना है।
  • इसके बाद रनिंग करते समय आप सभी लोग जूते का उपयोग अवश्य करें।
  • दौड़ करते समय आप सभी लोग अपना एक रनिंग टारगेट और टाइम फिक्स करें।
  • आप सभी लोगों को रनिंग शुरू करने से पहले लगभग 5 मिनट तक वार्म अप करना है, जिसके अंतर्गत आपको कुछ दूरी तक तेजी से चलना भी है।
  • दौड़ते समय अपने बाजू और कंधों पर जोर कम से कम लगाएं और दौड़ते समय आप अपने कहानियों को मोरे रखें।

FAQ

दौड़ने से कितनी कैलोरी बर्न होती है?

रोजाना एक घंटा रनिंग करने से लगभग 600 कैलोरी बर्न होती है।

क्या रनिंग करने से पेट कम होता है?

जी हां रनिंग करने से हमारा बेली फैट कम हो जाता है।

क्या रनिंग करने से वजन घटता है?

जी हां यदि आप मोटे हैं और रनिंग करते हैं तो आपका वजन कम होगा।

क्या रनिंग करने से पहले खाना खाना चाहिए?

जी नहीं रनिंग करने से पहले आप सभी लोगों को कुछ भी नहीं खाना है, वरना उल्टी की संभावना बन जाएगी और यदि आप खाना खाकर दौड़ेंगे तो आप अच्छी गति भी नहीं प्राप्त कर पाएंगे।

रनिंग करने के बाद क्या खाना चाहिए?

रनिंग करने के बाद हमें क्या खाना चाहिए इसके विषय में हमने आपको ऊपर भी बताया है और यहां भी बता रहे हैं, हमें रनिंग करने के बाद पौष्टिक आहार के रूप में केला, दूध और अंडा खाना है।

रनिंग करते समय हमारे हाथों की गति कैसी होनी चाहिए?

रनिंग करते समय हमारे हाथों की गति हमारे पैरों की गति के बराबर होनी चाहिए और हमारा जो पैर आगे जाए, उसके ऑपोजिट वाला हाथ आगे जाना चाहिए जिससे आपकी स्पीड काफी अच्छी होगी।

हमने यहाँ पर रनिंग करने के फायदे (dodne ke fayde) और तरीके के बारे में जानकारी दी है उम्मीद करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह लेख कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

दिमाग की एकाग्रता कैसे बढ़ाये?

गुस्से पर काबू कैसे पाएं?

जिंदगी में हमेशा खुश कैसे रहे?

सकारात्मक सोच कैसे बनाये?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here