एलजी कंपनी किस देश की कंपनी है?

LG kis Desh ki Company Hai : जब से बिजली की खोज हुई उसके बाद इलेक्ट्रॉनिक सामानों के उत्पादन में काफी क्रांति आई और आज प्रतिदिन नई-नई इलेक्ट्रॉनिक चीजें आ जाती है। आज हर व्यक्ति के घर में कुछ ना कुछ इलेक्ट्रॉनिक चीजें जरूर होती है। आज हमारा सुबह से शाम इलेक्ट्रॉनिक चीजों के आसपास ही बीतता है। हालांकि इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को बनाने वाली कई सारी प्रसिद्ध कंपनियां है लेकिन उसमें से एलजी अपना मार्केट में एक अलग स्थान स्थापित की है।

आज हर व्यक्ति के घर में एलजी कंपनी का कुछ ना कुछ इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट जरूर देखने को मिलता है। यहां तक कि पहले के समय में जब कलर टीवी का जमाना था तब भी ज्यादातर लोग एलजी टीवी को ही लेना पसंद करते थे।

LG-kis-Desh-ki-Company-Hai
Image : LG kis Desh ki Company Hai

कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनाने वाली कंपनी जैसे कि नोकिया, रियलमी, सैमसंग स्मार्टफोन डिवाइस बनाने के लिए जानी जाती है लेकिन एलजी ब्रांड वाशिंग मशीन ,मिक्सर, टीवी इत्यादि चीजों को ज्यादा लेना पसंद करते हैं। हालांकि एलजी ने स्मार्टफोन भी लॉन्च किए लेकिन लोगों ने उसके ऊपर कुछ ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई।

फिर भी आज एलजी कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी टेलीविजन सेट निर्माता कंपनी बन चुकी है। साथ ही मोबाइल निर्माता कंपनी में भी तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। आज 80 से भी ज्यादा देशों में एलजी कंपनी के इलेक्ट्रॉनिक आइटम इस्तेमाल किए जाते हैं। यदि आपको एलजी कंपनी के बारे में और भी कुछ जानना है तो इस लेख को अंत तक पढ़े क्योंकि आज के लेख में हम एलजी किस देश की कंपनी है? उसके संस्थापक कौन है? और उससे संबंधित और भी चीजें बताएंगे।

एलजी कंपनी किस देश की कंपनी है? | LG kis Desh ki Company Hai

एलजी कंपनी का फुल फॉर्म

एलजी कंपनी का फुल फॉर्म लकी गोल्ड स्टार है जो गोल्ड स्टार और केमिकल कंपनी दोनों को मिलाकर रखा गया है। यह नाम 1958 में रखा गया था।

LG किस देश की कंपनी है?

एलजी कंपनी दक्षिण कोरियाई बहुराष्ट्रीय संगठन निगम है। एलजी कॉरपोरेशन की एक सहायक कंपनी है। एलजी कंपनी टीवी, फ्रिज ,वॉशिंग मशीन,स्मार्टफोन जैसे इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को बनाती है। इसका मुख्यालय एल्यूजी ट्विन टावर्स बिल्डिंग में है। एलजी कंपनी का स्थापना 1958 को हुआ।

उस समय इसका नाम गोल्ड स्टार था जो बाद में 1995 में बदलकर एलजी इलेक्ट्रॉनिक रख दिया गया। एलजी इलेक्ट्रानिक्स के अलावा एलजी कॉरपोरेशन LG Chem, LG Solar Energy,Zenith Electronics,LG Uplus, LG Household & Health Care जैसी कई तरह के व्यापार करती है।

एलजी कॉरपोरेशन की शुरुआत

एलजी कारपोरेशन की शुरुआत सन 1947 में Lak Hui Chemical Industrial Corp के नाम से हुई थी। उस समय दक्षिण कोरिया में यह कंपनी प्लास्टिक इंडस्ट्री में कदम रखने वाली पहली कंपनी बनी। फिर 1958 में गोल्ड स्टार जो आज की एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स है वह और केमिकल कंपनी दोनों को मिलाकर लकी गोल्ड स्टार नाम रखा गया। शुरुआती दौर में यह कंपनी घरों में इस्तेमाल होने वाली हर तरह के उत्पाद जैसे कि डिटर्जेंट, साबुन, क्रीम, टूथब्रश जैसी चीजों का निर्माण करती थी।

LG के संस्थापक

एलजी कंपनी को कू इन-हवोंई नाम के साउथ कोरियन नागरिक ने किया था। इनका जन्म 27 अगस्त उन्नीस सौ छह को साउथ कोरिया में हुआ था। बचपन से ही व्यवसाय में लगा था इसीलिए उन्होंने अपनी हाईस्कूल पूरी करने के बाद साल 1926 को अपने घर वापस आ गए और उसके बाद एक कोऑपरेटिव यूनियन के साथ जुड़कर काम करने लगे।

इसके बाद वे डोंग लबों नूज़्पैपर के ब्रांच हेड भी बने। इन्होंने अपना पहला व्यवसाय सन 1931 में अपने छोटे भाई के साथ मिलकर किया। हालांकि उसमें इनको काफी नुकसान हुआ लेकिन ये कभी हार नहीं माने यहां तक कि इन्होंने अपनी फैमिली प्रॉपर्टी को भी गिरवी रखकर लोन चुकाया और फिर उन्होंने शुरूआत किया जिसके बाद आज यें इतने बड़े मुकाम पर पहुंच गए।

यह भी पढ़े: मोटोरोला किस देश की कम्पनी है?

LG Company का इतिहास

1947 में शुरू की गई एलजी कॉरपोरेशन एक केमिकल इंडस्ट्रियल कॉरपोरेशन था बाद में 1952 में इस कंपनी ने प्लास्टिक बिजनेस में प्रवेश किया। धीरे-धीरे इस कंपनी ने अपने प्लास्टिक बिजनेस का विस्तार किया उसके बाद फिर 1958 में गोल्डस्टार कंपनी लिमिटेड का गठन हुआ।

सन 1983 में लकी गोल्ड स्टार के नाम से दोनों कंपनियों का आपस में विलय कर दिया गया जिसे शॉर्ट में एलजी बुलाया जाने लगा। साल 1994 को कंपनी ने 3d0 मल्टीप्लयेर बनाने के लिए 3do कंपनी से परमिसन प्राप्त किया उसके बाद 1995 को उसने फिर से अपना पुराना नाम एलजी इलेक्ट्रॉनिक रख दिया गया।

1997 को एलजी कंपनी ने cdma मोबाइल बनाया और इसे अमेरिटेक और zte नाम के दो अमेरिकी कंपनी को बेचना शुरू किया। उसके बाद आया साल 1998 जब एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स ने दुनिया का पहला 50 इंच का प्लाजमा टीवी का बनाया। प्लाजमा टीवी के कारण इस कंपनी ने काफी सफलता हासिल की और इसी वजह से साल 2000 में इस कंपनी ने फिलिप्स कंपनी के साथ मिलकर एलजी फिलिप्स एलसीडी की स्थापना की।

साल 2008 में एलजी कंपनी ने सोलर पैनल बनाना शुरू किया इसके लिए उसने कोएनेर्जी के साथ सोलर प्रोडक्ट बनाने के लिए एक सयुंक्त बिज़नेस की घोसना की। 2009 में lg electronics ने एआर टीएसएम और डीएसएलआर नामक कैमकॉर्डर का उत्पादन करना शुरु किया।

एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स का भारत में बिक्री और उसके लिए चुनौती

एलजी कंपनी ने भारत में साल 1997 से अपने प्रोडक्ट को बेचना शुरू किया हालांकि भारत में अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए एलजी कंपनी को काफी चुनौती करना पड़ा क्योंकि उस समय पहले से ही भारत में सोनी, पैनासोनिक, सैमसंग जैसी कई बड़ी कंपनियां मौजूद थी। लेकिन भारत में जल्दी से जल्दी अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए कंपनी ने एक जबरदस्त रणनीति बनाई।

इसके लिए कंपनी ने साल 1999 वर्ल्ड कप में विज्ञापन दिलवाया जिसके लिए कंपनी ने 8 मिलियन से भी अधिक रुपए निवेश किए। इसके बाद से भारत में एलजी कंपनी के प्रोडक्ट की बिक्री काफी हद तक बढ़ने लगी। जैसा कि सभी भारतीयों को क्रिकेट से काफी लगाव है यहां तक कि दुनिया भर के लोगों द्वारा पसंद किया जाने वाला सबसे पसंदीदा खेल है। ऐसे में इस कंपनी ने इसका फायदा उठाया।

साल 2003 में कंपनी ने एक बार फिर अपनी इसी रणनीति का इस्तेमाल किया । अपने प्रोडक्ट कि ज्यादा से ज्यादा बिक्री करवाने के लिए 2003 के वर्ल्ड कप में भी एलजी ने इंडियन क्रिकेट के चार कप्तानों के साथ अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन करवाया।

एलजी की भारत में मैनुफ़ैक्चर प्लांट

भारत में एलजी ने कोलकता, मोहाली और भोपाल में सीटीवी पर मिले अनुबंध पर निर्माण सुरु किया। प्रोडक्ट की ज्यादा आयात शुल्क को कम करने के लिए एलजी ने भारत के नोएडा शहर में अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित किया जिसमें मॉनिटर और रेफ्रिजरेटर का निर्माण होता है।

भारत के लोगों को एलजी कंपनी के प्रोडक्ट द्वारा स्वस्थ लाभ मिल सके इसके लिए कंपनी ने जरूरत के हिसाब से अपने प्रोडक्ट में कुछ ना कुछ हमेशा बदलाव किया है जैसे कि ऐरकण्डीशनर में हेल्थ एयर सिस्टम, सीटीवी रेंज में गोल्डन आई तकनीक और माइक्रोवेव में हेल्थ वेव सिस्टम मुख्य है।

इसके अतिरिक्त भारत में अपने प्रोडक्ट की पकड़ को मजबूत करने के लिए और अपने प्रोडक्ट को ज्यादा से ज्यादा उपयोग में लाने के लिए एलजी कंपनी ने यहां के लोगों की जरूरत के अनुसार प्रोडक्ट का निर्माण किया जैसे कि एलजी टीवी में हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को भी शामिल किया कि ग्रामीण बाजार के लिए कीमत में सिनेपलश और सम्पूर्ण रेंज भी पेश किया।

यहां के लोगों को क्रिकेट बहुत पसंद है इसीलिए उसके प्रति उनके जुड़ाव को कायम रखने के लिए सीटीवी में क्रिकेट गेम की शुरुआत की । एलजी कंपनी ने भारत का क्षेत्रीय वितरण मॉडल अपनाया है। एलजी ने भारत के सभी आर्थिक स्तर पर आने वाले लोगों की पसंद को बारीकी से अध्ययन किया और उनके अनुसार ही अपने प्रोडक्ट में कुछ ना कुछ बदलाव किया।

यहां तक कि कंपनी ने लोगों के रंग में रुचि होने की वजह से विभिन्न रंग वाले फ्रिज, एसी, वाशिंग मशीन का भी निर्माण किया। इस तरीके से कंपनी लोगों की पसंद को ध्यान में रखकर अपने प्रोडक्ट का निर्माण करती है। शायद इसीलिए आज यह कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स प्रोडक्ट निर्माण करने वाली कंपनियों में अपना अलग स्थान जमा चुकी है।

यह भी पढ़े: इंस्टाग्राम किस देश की कम्पनी है?

एलजी कंपनी से जुड़े कुछ तथ्य

  • एलजी कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को बनाने से पहले हर तरह के प्लास्टिक के प्रोडक्ट को बनाती थी । यहां तक कि लोगों के घर में उपयोग होने वाले विभिन्न प्रकार के चीजों का भी निर्माण किया। कंपनी ने केमिकल इंडस्ट्री भी स्थापित किया।
  • कंपनी शुरुआत में घरेलू इस्तेमाल में होने वाले प्रोडक्ट को लकी ब्रांड के नाम से बेचती थी।
  • कंपनी ने भारत में अपने प्रोडक्ट की बिक्री को बढ़ाने के लिए क्रिकेट का विज्ञापन के रूप में मदद लिया।
  • एलजी कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक सामान में सबसे पहला प्रोडक्ट रेडियो बनाया जो हिट साबित हुई।
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मार्केटिंग करने के लिए कंपनी ने अमेरिका को चुना। क्योंकि अमेरिका की जनसंख्या भी काफी की थी और उसे इकोनॉमिक्स हब भी माना जाता था जिसके बाद कंपनी ने फ्रिज ,वॉशिंग मशीन टीवी और बहुत सी इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट का निर्माण करना शुरू किया और उसे अमेरिका में बेचना शुरू किया।
  • एलजी कंपनी ने दुनिया का पहला सीडीए मोबाइल फोन लांच किया था।
  • साल 1998 को कंपनी ने दुनिया का पहला प्लाजमा टीवी लॉन्च किया जो 50 इंच का था।
  • एलजी कंपनी से जुड़ी एक महत्वपूर्ण बात यह है कि इस कंपनी का कोई मुखिया नहीं है। इस कंपनी का ज्यादातर शेयर पब्लिक होल्ड करती है इस तरीके से यह पब्लिक ट्रेडेड कंपनी है।
  • साल 1999 को एलजी कंपनी ने फिलिप कंपनी से हाथ मिलाया जिसके बाद कंपनी ने एलजी फिलिप्स एलसीडी बनाया।
  • साल 2009 में एलजी कंपनी दुनिया की एलसीडी पैनल मैन्युफैक्चरिंग करने वाली कंपनी बन गई।
  • साल 2010 से एलजी कंपनी ने स्मार्टफोन बनाना शुरू किया। उसके बाद कंपनी ने अल्ट्रा एचडी टीवी भी बनाना शुरू किया।
  • साल 2013 तक एलजी कंपनी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी टीवी निर्माता कंपनी बन गई।
  • एलजी 30 से भी ज्यादा कंपनियों का एक ग्रुप है। जो अपने-अपने फील्ड में विशेष तरीके से काम करती है जैसे कि केमिकल इंडस्ट्रीज, होम अप्लायंसेज टेक्सटाइल,प्लास्टिक इंडस्ट्री पाइप और कोको कोला, कॉस्मेटिक प्रोडक्ट मेडिकल, अलीबाबा। इस तरीके से मल्टीनेशनल कंपनियों को यह मैनेज करती है।

FAQ

एलजी कंपनी का मुख्यालय कहां है?

इसका मुख्यालय सियोल, दक्षिण कोरिया में है।

एलजी किस देश की कंपनी है?

एलजी दक्षिण कोरिया की बहुराष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक कंपनी है।

भारत में एलजी कंपनी के प्रोडक्ट बिकने कबसे शुरू हुए?

एलजी ने साल 1997 से भारत में अपने प्रोडक्ट बेचने शुरू किए।

एलजी का फुल फॉर्म क्या होता है?

एलजी का फुल फॉर्म लकी गोल्ड स्टार है।

क्या एलजी सैमसंग का भाग है?

नहीं एलजी और सैमसंग दोनों अलग-अलग कंपनी है?

निष्कर्ष

आज यदि कोई भी इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को खरीदता है तो एक बार उसके मन में एलजी कंपनी का विचार तो जरूर आता है। इस तरीके से आज दुनिया भर के लोगों के लिए एलजी कंपनी इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की सबसे पसंदीदा कंपनी बन चुकी है।

तो आज के लेख में हमने आपको एलजी कंपनी किस देश की कंपनी है (LG kis Desh ki Company Hai) ? इसके संस्थापक कौन है? इसके इतिहास और इससे जुड़ी कई सारे तथ्य के बारे में बताया तो हमें उम्मीद है कि यह लेख आपको अच्छा लगा होगा।

यदि लेख से संबंधित कोई भी समस्या हो तो आप कमेंट में पूछ सकते हैं इसके साथ ही इस लेख को अपने सोशल मीडिया अकाउंट जैसे कि फेसबुक, इंस्टाग्राम,व्हाट्सएप इत्यादि पर जरूर शेयर करें।

यह भी पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here