इस हाथ ले उस हाथ दे मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

इस हाथ ले उस हाथ दे मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Is haath le us haath de Muhavara ka arth)

इस हाथ ले उस हाथ दे मुहावरे का अर्थ – कर्म का फल तुरंत ही मिलता है, लेन-देन साफ करना।

Is haath le us haath de Muhavara ka arth – karm ka phal turant hee milata hai, len-den saaph karana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल ने जब अपने बेटे के पढ़ाई के लिए विद्यालय के प्रिंसिपल से मिले, तो विद्यालय के प्रिंसिपल ने कहा कि तुम बहुत गरीब हो, तुम अपने बेटे का एडमिशन तभी करवा सकते हो। जब तुम मेरे ऑफिस में नौकरी पर रहो यानी इस हाथ ले उस हाथ से क्योंकि प्रिंसिपल को अपने विद्यालय में एक चपरासी की जरूरत थी और वह सोहनलाल को चपरासी बना दिया।

वाक्य प्रयोग: सोहन इतना खुद्दार है कि जब वह विषम परिस्थिति में मोहन से कुछ पैसे उधार लिया तो उसके बदले में उसने अनाज देकर उस उधार की भरपाई कर दी ऐसी परिस्थिति में ही कहा जाता है कि इस हाथ ले तो उस हाथ दे।

वाक्य प्रयोग: आजकल के व्यापार में उधार का काम नहीं चलता है उसमें एक हाथ ले तो दूसरे हाथ दे वाली मुहावरे का काम चलता है तभी कोई व्यापार फलता और फूलता है।

वाक्य प्रयोग: मोहन एक गरीब किसान है लेकिन जब उसने सोहन से कुछ पैसे की मदद ली तो उसके बदले उसने अपने क्षेत्र के कुछ अनाज उस पैसे के बदले में दे दिए ऐसी स्थिति को ही कहा जाता है कि इस हाथ ले तो उस हाथ दे।

यहां हमने “इस हाथ ले उस हाथ दे” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। इस हाथ ले उस हाथ दे मुहावरे का अर्थ होता है कि लेनदेन साफ रखना, कर्म का फल तुरंत ही मिलता है अर्थात जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति से किसी चीज की मदद लेता है या फिर किसी चीज को लेकर उधारी लेता है यह सामान लेता है तो उसकी भरपाई वह तुरंत करता है उसके बदले में कुछ अनाज देकर कुछ पैसे देकर उसकी भरपाई करता है या फिर वह अपने शारीरिक रूप से परिश्रम करके भी उस दिए गए लाभ को पूरा करता है तो वैसे परिस्थिति को कहा जाता है कि इस हाथ ले उस हाथ दे। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आड़े हाथों लेना आपे से बाहर होना
अपना घर समझना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
कठपुतली बननाकरारा जवाब देना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here