इधर कुआँ उधर खाई मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

इधर कुआँ उधर खाई मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Idhar kuaan udhar khaee Muhavara ka arth)

इधर कुआँ उधर खाई मुहावरे का अर्थ – हर हाल में मुसीबत का आना, दोनों तरफ़ संकट, हर तरफ विपत्ति होना, दोनों तरफ मुसीबत, दो विपत्तियों के बीच में।

Idhar kuaan udhar khaee Muhavara ka arth – har haal mein museebat ka aana, donon taraf sankat, har taraph vipatti hona, donon taraph museebat, do vipattiyon ke beech mein.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन जब अपनी गणित की परीक्षा दे रहा था तभी उसके अंग्रेजी की परीक्षा का भी समय था सोहन के लिए ऐसी परिस्थिति थी मानो इधर कुआं उधर खाई।

वाक्य प्रयोग: आजकल ऐसा जमाना आ गया है कि लोग बोलने में भी जाते हैं और ना बोलने में भी जाते हैं ऐसे विकट स्थिति आ गई है कि इधर कुआं है तो उधर खाई है।

वाक्य प्रयोग: सोहन की परीक्षा की तैयारी पूरी नहीं हुई है पर परीक्षा में शामिल भी हुआ तो फेल होने का डर है और नहीं बैठेगा तो उसके पिताजी उससे काफी नाराज होंगे उसके लिए ऐसी स्थिति है मानव इधर कुआं है तो उधर खाई है।

वाक्य प्रयोग: मोहन ने अपनी पत्नी से कहा कि मैं अगर तुम्हारा साथ दो तो मेरी मां बुरा मानती है और जब मैं अपनी मां का साथ दूं तो तुम बुरा मानती हो मेरे लिए तो ऐसी स्थिति है कि इधर कुआं है तो उधर खाई है।

यहां हमने “इधर कुआँ उधर खाई ” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। इधर कुआं उधर खाई मुहावरे का अर्थ होता है कि दोनों तरफ से विपत्तियों का आना दोनों तरफ से मुसीबत में फंस जाना हर तरफ विपत्ति होना हर हाल में मुसीबतों का ही सामना करना जब कोई व्यक्ति एक मुसीबत से नहीं निकलता है और दूसरे मुसीबत में फंस जाता है या फिर या दोनों तरफ से मुसीबत उसके सर पर आ जाता है तो वैसे ही स्थिति को कहा जाता है इधर कुआं है उधर खाई है। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

बड़ी बात होना चार चाँद लगाना
आड़े हाथों लेनाअपना घर समझना
आपे से बाहर होनाआसमान सिर पर उठाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here