टूटे दिल की शायरी

Dil tuta Shayari in Hindi

टूटे दिल की शायरी (Dil Tuta Shayari in Hindi)

Dil tuta Shayari in Hindi
Image: Dil tuta Shayari in Hindi

दुनिया से अपना हर दर्द छुपा लेना,
ख़ुशी न मिले तो गम गले लगा लेना,
कोई अगर कहे मोहब्बत आसान होती है,
तो उसे मेरा टूटा हुआ दिल दिखा देना।.

दिल की क्या बिसात थी निगाह-ए-जमाल में,
इक आइना था टूट गया देख-भाल में।

कल जहाँ से कि उठा लाए थे अहबाब मुझे,
ले चल आज वहीं फिर दिल-ए-बे-ताब मुझे।

हम दिल का आशियाना सजाने से
डरते हैं बागों में फूल खिलाने से डरते हैं,
हमारी एक पसंद से टूट जायेंगे हजारों दिल,
तभी तो हम गर्लफ्रेंड बनाने से डरते हैं।

ऐसा नहीं है कि अब तेरी जुस्तजू नहीं रही,
बस टूट कर बिखरने की आरज़ू नहीं रही।

आँखों में आँसू हैं पर किसी को दिखा नहीं
सकता,अपनी तकलीफ मैं किसी को सुना
नहीं सकता,प्यार करने की सज़ा होती ही
ऐसी हैं यारों टूटा हैं प्यार में दिल पर मैं
किसी को बता नहीं सकता।

वो रोए तो मगर मुझसे मुँह मोड़कर रोए,
कोई मजबूरी होगी जो दिल तोड़कर रोए,
मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े,
मेरे बाद वो उन्हें जोड़-जोड़ कर रोए।

किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नहीं,
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नहीं,
गुनाह हो यह ज़माने की नज़र में तो क्या,
ज़माने वाले इंसान हैं कोई खुदा तो नहीं।

इस दिल को अगर तेरा एहसास नही होता
तू दूर भी रहकर यूं दिल के पास नही होता
इस दिल ने तेरी चाहत कुछ ऐसे बसा ली है
इक लम्हा भी तुझ बिन कुछ खास नही होता.

बिखरा वजूद, टूटे ख़्वाब, सुलगती तन्हाईयाँ,
कितने हसीन तोहफे दे जाती है ये मोहब्बत।

समझा ना कोई दिल की बात को,
दर्द दुनिया ने बिना सोचे ही दे दिया,
जो सह गए हर दर्द को हम चुपके से,
तो हमको ही पत्थर दिल कह दिया।

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी..

मुझे परहेज है ज़ख्मों की नुमाइश से,
मेरे हमदर्द रहने दे दिले-बीमार की बातें।

जुल्फों में फूलों को सजा के आयी,
चेहरे से दुपट्टा उठा के आयी,किसी ने
पूछा आज बड़ी खुबसूरत लग रही है,
हमने कहा शायद आज नहा के आयी।

उनको मालूम है कि उनके बिना
हम टूट जाते हैं,
फिर क्यूँ वो आज़माते हैं
हमको बिछड़-बिछड़ कर।

इस दिल ने अदा कर दिया हक होने का अपने,
नफ़रत भी बहुत की है मोहब्बत भी बहुत की।

जिस्म का दिल से अगर वास्ता नहीं होता !
क़सम खुदा की कोई हादसा नहीं होता !
वे लोग जायें कहाँ बोलिये खड़े हैं जो ,
उस हद के बाद जहाँ रास्ता नहीं होता !

ज़ख्म लगा के मेरे दिल पे बड़ी सादगी के साथ,
टूटे हुए मेरे दिल का क्या पूछते हो?
ठुकरा दिया जो तुमने मोहब्बत को इस तरह,
पलट-पलट के प्यार से क्या देखते हो?

सौ बार कहा दिल से
चल भुल भी जा उसको।
हर बार कहा दिल ने
तुम दिल से नही कहते।

दिल का बस इतना ही कसूर था मेरे,
हमने उसे अपना समझा जो कभी था
ही नहीं मेरा,

Read Also: दिल शायरी

Dil tuta Shayari in Hindi

तेरा ख़याल तेरी तलब और तेरी आरज़ू,
इक भीड़ सी लगी है मेरे दिल के शहर में।

दिल टूटा है मेरा पर अश्क नहीं,
उस का एहसास है पर वह पास नहीं,
जुदाई का दर्द ज़रूर है हम को,
लेकिन इतना भी ख़ास नहीं।,..

ना‬ जाने कब तुम आ कर हमारे ‪‎दिल‬ मे बसने लगे !
तुम ‪‎पहले‬ दोस्त थे फिर प्यार फिर ना ‪‎जाने‬ कब ज़िंदगी बन गये !

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते,
बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा!
ऐसी तकदीर बना,कि वो खुद हम से आकर
कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते.

उदास हूँ पर तुझसे नाराज़ नहीं
तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नहीं
झूठ कहूँ तो सब कुछ है मेरे पास
और सच कहूँ तो तेरे सिवा कुछ नहीं

चेहरे पर हंसी छा जाती है,
आँखों में सुरूर आ जाता है,
जब तुम मुझे अपना कहते हो,
मुझे खुद पर गुरुर आ जाता है।

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है।

हर रात मेरा नाम बोल कर सोया करो,
खिड़की खोल तकिया मोड़ के सोया करो,
हम भी आएंगे तुम्हारे ख्यालों में,
इसलिये थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो।

मुमकिन अगर हो सके तो वापस कर दो,
बिना दिल के अब हमारा दिल नहीं लगता।

दिल तोड़ मेरा मुस्कुराकर चले गए तुम,
अपने हर वादे का जनाजा निकाल गए तुम,
क्या खता थी हमारी ये तो बता जाते
खुद से ज्यादा भरोसा करने की सज़ा दे गए तुम।.

जिस्म उसका भी मिटटी का है मेरी तरह ऐ खुदा,
फिर भी मेरा दिल ही क्यों तड़पता है उसके लिए।

मैं उसको जितना देखूँ प्यास उतनी ही बढ़े,
इन आँखों में उसके अक्स की तलब ऐसी है..

दिल-ए-नादान तुझे हुआ क्या है,
आखिर इस दर्द की दवा क्या है,
हमको उनसे है उम्मीद वफ़ा की,
जो जानते ही नहीं वफ़ा क्या है।

प्यार “हम उम्र” से हो, ये ज़रूरी तो नहीं दोस्त ….
प्यार तो “हर उम्र” को “हम उम्र” बना देता है दोस्त ….

यूँ तो हर बात सहने का हौसला है इस दिल को
तेरा इक नाम ही मुझकों कमज़ोर कर देता है
खुद ही दे जाओगे तो बेहतर है
वरना..
हम दिल चुरा भी लेते है..

दिल का दर्द दिल तोड़ने वाला क्या जाने,
प्यार के रिवाजों को ये ज़माना क्या जाने,
होती है इतनी तकलीफ लड़की पटाने में,
ये घर बैठा उसका बाप क्या जाने।.

न ख़ुशी अच्छी है ऐ दिल न मलाल अच्छा है,
यार जिस हाल में रखे वही हाल अच्छा है।

आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है,
इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है,
कोई संभाले बहक रहे है मेरे कदम,
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है।

जान है वो हमारी सब उस पे कुर्बान है,
ख्वाबों में ही सही लेकिन वो मेरी शान है।

Dil tuta Shayari in Hindi

दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,
सुक्र है कि यार ही बेवफा निकले।

ख्वाबों में दो पल भी उसके साथ जन्नत के
समान है,अरे प्यार तो उन्ही से करेंगे हम
भले ही कुछ पल के मेहमान है।

कुछ ठोकरों के बाद नज़ाक़त आ गई मुझ में,
अब दिल के मशवरों पे मैं भरोसा नहीं करता।

लगा के आग मेरे दिल को शहज़ादी ने कहा…
उठा है आज दिल में तमाशे का शौक बहुत है।
झुका कर के सर सभी आशिक़ बोल उठे…
शहज़ादी का शौक सलामत रहे दिल तो
अभी ओर भी बहुत है।

इन दिनों दिल अपना सख्त बे-आराम रहता है,
इसी हालत में लेकर सुबह से शाम रहता है।

अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल,
अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल,
अब किसी दिलासे की जरूरत नही है,
क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल।.

मुझे नहीं पता के ये बिगड़ गया या सुधर गया,
बस अब ये दिल किसी से मोहब्बत नहीं करता।

शिकायत नहीं ज़िन्दगी से की तेरा साथ नहीं…
बस तू खुश रहे मेरी कोई बात नहीं।

कभी पत्थर कहा गया तो कभी शीशा कहा गया,
दिल जैसी एक चीज़ को क्या-क्या कहा गया।

पेहली दफा सही उनसे बात हो गई,
यु गरीब पर खुदा की इमदाद हो गई..

लाखों में इंतिख़ाब के क़ाबिल बना दिया,
जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया,
पहले कहाँ ये नाज़ थे ये इश्वा-ओ-अदा,
दिल को दुआएँ दो तुम्हें क़ातिल बना दिया।

तुम याद नही करते, हम तुम्हे भुला नही सकते…
तुम्हारा और हमारा रिश्ता इतना खूबसूरत है..
तम सोच नही सकते,,,, हम बता नही सकते….|

मुझे रिश्तो की लम्बी..
मुझे रिश्तो की लम्बी कतारों से
क्या मतलब..
कोई दिल से हो मेरा तो एक
शख्स ही काफी है ।

मैं हूबहू किसी अपने ही जैसे अपने की तलाश में हूँ,
गलती कर रही हूं, लेकिन होशोहवास में हूँ …

फैन की कमी नहीं हमे…
हजारो है दर्द सुनकर वाह करनेवाले…
पर इंतजार तो मरहम का है…!

बहुत कुछ लुटा चुका हूँ :
जिंदगी में अपनी यारो:
वो जज्बात तो मेरे ना लूटो:
लिखकर जो बयाँ करता हूँ।

चाँद उतरा था हमारे आँगन में,
ये सितारों को गवाँरा ना हुआ..
हम भी सितारों से क्या गिला करें,
जब चाँद ही हमारा ना हुआ……

बहुत संभाल कर
खर्च करते है तेरी यादों की दौलत
आखिर एक उम्र
गुजारनी है इन्हीं की बदौलत..||

ये जरूरी तो नही जिन्दगी को
हंसने की ही आदत हो जाऐ
क्या फर्क पडता है जिन्दगी
को तन्हाईयो से प्यार हो जाऐ ?

Read Also: ब्रेकअप स्टेटस

Dil tuta Shayari in Hindi

एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी,
यह सच है कि मेहमान हैं बेटी,
उस घर की पहचान बनने चली
जिस घर से अनजान हैं बेटी.

मरा जमाने को दर्द बताना गुनाह तो नहीं.
मेरा दर्द तो सामने ही रखा था
मगर किसी को मिला ही नहीं

करोगे क्या तुम अब
हाले दिल हमारा लेकर
बस धड़कन ही चल रही है
नाम तुम्हारा लेकर ।।

रोकर सारा दर्द बया कर दूं..
कैसे खुद को इतना सस्ता
कर दूं…..!!

आज किसी ने बातों बातों में,
जब उन का नाम लिया
दिल ने जैसे ठोकर खाई,
दर्द ने बढ़कर थाम लिया..|

मालूम है हमें….
कि ये मुमकिन नहीं, मगर…
एक आस सी रहती है कि …
तुम याद करोगे…

ग़म में मुस्कुराने का हुनर रखता हुँ,
रूठे महबूब मनाने का हुनर रखता हुँ,
तल्ख़ होता नहीं कभी लहज़ा मेरा,
तल्ख़ी में इश्क़ उपजाने का हुनर रखता हुँ।

माना कि तुम मेरे नहीं हो सके मगर,
तुझे बयां करने का हक़ हम ताउम्र रखेंगे…!!!

खामोश रहेंगे…शिकवा नहीं करेंगे,
तुम सितम करना…हम मोहब्बत करेंगे..

ख़त्म कर दी थी ,जिन्दगी की हर
खुशियाँतुमपर कभी फुरसत मिले
तो ,सोचना की मोहब्बतकिसनेकी_थी.

अपनी सांसें अपनी आहें तुम पर वार बैठे हैं,
मोहब्ब्त तेरे सदके खुद को हार बैठे हैं..|

जब मुश्किल समय आए,
सब कुछ बेकाबू हो जाए….
उससे थोड़ा और प्रेम करना,
जिससे तुम अब तक करते आए…!!

अपने दिल के रास्ते से तेरे
यादों को मोड़ रहे है….
तुझे बुरा लगता है मेरा ह़क़ जताना
चलो आज से हक़ जताना छोड़ रहे है ।

इश्क़ में आँखें बोलती है,
मुहब्बत पागलों की गूफतगू है।

बस !!
एक ही झिझक है यही हाल ए दिल
सुनाने में,कि तेरा जिक्र भी आएगा
इस फसाने में…!!

उसने पूछा…सात जनम तक साथ
दोगे न मेरा…?
मैंने कहा मियाद तुम तय करो,,,मैं
सिर्फ मुहब्बत करूंगा..!!

अपने लबों को कोई और काम दे दो..
आंखें बेहतर बोलती हैं तुम्हारी।

Dil tuta Shayari in Hindi

भरी कायनात मे हमने
कितने ही मुखोटो को देखा है…
चाय फीकी लगती है
जबसे तेरे होठों को देखा है…

दिल के बाजार में दौलत नहीं देखी जाती…
प्यार हो जाए तो सूरत नहीं देखी जाती…
एक ही साथी पर लुटा देना अपना सब कुछ…
क्यूं की पसंद हो चीज तो कीमत नहीं देखी जाती…||

हम तंन्हाई मे भी तुझसे बिछडने से डरते हैं,
तुझे पाना अभी बाकी है,और खोने से डरते हैं…

मेरी पलकों का अब नींद स कोई ताल्लुक नही रहा,..
मेरा कौन है ये सोचने में रात गुज़र
जाती है…!!!

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here