भक्ति काल के कवि और उनकी रचनाएँ

भक्ति काल के कवि और उनकी रचनाएँ एवं रचनाकर (Bhakti Kaal ke Kavi): भक्तिकाल का साहित्य अनेक अमूल्य कृतियों का सागर है, ऐसा समृद्ध साहित्य किसी अन्य भाषा का नहीं है, न ही किसी अन्य भाषा की परंपरा और साहित्य इतने लंबे समय तक अविरल प्रवाह के रूप में जीवित रह पाया है।

bhakti kaal ke kavi aur unki rachna

भक्ति काल के कवि, काव्य और उनकी रचनाएँ:

“पुरइनि पात रहत जल भीतर, ता रस देह न दागी।
ज्यौं जल माहँ तेल की गागरि, बूँद न ताकौं लागी।”

जिस तरह इन पंक्तियों में कवि कहते है कि जिस तरह कमल का पत्ता पानी में रहकर भी उसमें पानी का एक बूंद नहीं टिकता, जिस तरह तेल की गागरी में पानी का बूंद नहीं ठेहरता, उसी तरह हम अपने भक्तिकाल के साहित्य हमारे सामने होते हुए भी हम उनसे अछूते हैं। इतना समृद्ध साहित्य किसी और भाषा की नहीं है एवं इतने दीर्घ काल तक नहीं रह पाई हैं।

भक्ति काल के कवि और उनकी रचनाएँ एवं रचनाकर

भक्तिकाल को हिंदी साहित्य का स्वर्ण काल कहा गया हैं। इसके चार खंड किए गए हैं।

  1. संत काव्य
  2. सूफी काव्य
  3. कृष्ण भक्ति काव्य
  4. राम भक्ति काव्य

भक्ति काल की रचना एवं रचनाकार की सूची नीचे दी गई हैं।

संत काव्य

क्रम

काव्य (रचनाएँ)

कवि(रचनाकर)

1.

ग्रंथ साहिब में संकलित (संकलन- गुरु अर्जुन देव)

नानक देव

2.

बानी

रैदास

3.

रत्न खान, ज्ञानबोध

मलूक दास

4.

सुंदर विलाप

सुंदर दास

5.

बीजक (1. रमैनी 2. सबद 3. साखी; संकलन धर्मदास)

कबीरदास (निर्गुण पंथ के प्रवर्तक)

सूफी काव्य

क्रम

काव्य (रचनाएँ)

कवि(रचनाकर)

1.

रूप मंजरी

नंद दास

2.

लखमसेन पद्मावती कथा

दामोदर कवि

3.

मधुमालती

मंझन

4.

इंद्रावती, अनुराग बाँसुरी

नूर मुहम्मद

5.

चित्रावती

उसमान

6.

पद्मावत, अखरावट, आखिरी कलाम, कन्हावत

जायसी

7.

माधवानल कामकंदला

आलम

8.

ज्ञान दीपक

शेख नबी

9.

रस रतन

पुहकर

10.

मृगावती

कुतबन

11.

चंदायन या लोरकहा

मुल्ला दाऊद

12.

हंसावली

असाइत

13.

सत्यवती कथा

ईश्वर दास

कृष्ण भक्ति काव्य

क्रम

काव्य (रचनाएँ)

कवि(रचनाकर)

1.

परमानंद सागर

परममानंद दास

2.

जुगलमान चरित्र

कृष्ण दास

3.

फुटकल पद

गोविंद स्वामी

4.

फुटकल पद

कुंभन दास

5.

फुटकल पद

छीत स्वामी

6.

युगल शतक

श्री भट्ट

7.

हित चौरासी

हित हरिवंश

8.

हरिदास जी के पद

स्वामी हरिदास

9.

भक्त नामावली, रसलावनी

ध्रुव दास

10.

प्रेम वाटिका, सुजान रसखान, दानलीला

रसखान

11.

सुदामा चरित

नरोत्तमदास

12.

नरसी जी का मायरा, गीत गोविंद टीका, राग गोविंद, राग सोरठ के पद

मीराबाई

13.

सूरसागर, सूरसारावली, साहित्य लहरी, भ्रमरगीत (सूरसागर से संकलित अंश)

सूरदास

14.

द्वादशयश, भक्ति प्रताप, हितजू को मंगल

चतुर्भुज दास

15.

रास पंचाध्यायी, भंवर गीत (प्रबंध काव्य)

नंद दास

राम भक्ति काव्य

क्रम

काव्य (रचनाएँ)

कवि(रचनाकर)

1.

रामचन्द्रिका (प्रबंध काव्य)

केशव दास

2.

रामाष्टयाम, राम भजन मंजरी

अग्र दास

3.

भरत मिलाप, अंगद पैज

ईश्वर दास

4.

राम आरती

रामानंद

5.

भक्त माल

नाभादास

6.

पौरुषेय रामायण

नरहरि दास

7.

रामचरित मानस (प्र०), गीतावली, कवितावली, विनयपत्रिका, दोहावली, कृष्ण गीतावली, पार्वती मंगल, जानकी मंगल, बरवै रामायण (प्र०), रामाज्ञा प्रश्नावली, वैराग्य संदीपनी, राम लला नहछू

तुलसीदास

विविध रचनाकर एवं रचनाएँ

क्रम

काव्य (रचनाएँ)

कवि(रचनाकर)

1.

हनुमन्नाटक

बलभद्र मिश्र

2.

शत प्रश्नोत्तरी

मनोहर कवि

3.

रुक्मिणी मंगल, छप्पय नीति, कवित्त संग्रह

महापात्र नरहरि बंदीजन

4.

माधवानल कामकंदला

आलम

5.

काव्य कल्पद्रुम

सेनापति

6.

रस रतन

पुहकर कवि

7.

पंचसहेली

छीहल

8.

हरिचरित, भागवत दशम स्कंध भाषा

लालच दास

9.

सुंदर श्रृंगार

सुंदर

10.

पद्मिनी चरित्र

लालचंद

11.

कविप्रिया, रसिक प्रिया, वीर सिंह देव चरित (प्र०), विज्ञान गीता, रतनबावनी, जहाँगीर जस चंद्रिका

केशव दास

12.

रहीम दोहावली या सतसई, बरवै नायिका भेद, श्रृंगार सोरठा, मदनाष्टक, रास पंचाध्यायी, रहीम रत्नावली

रहीम (अब्दुर्रहीम खाने खाना)

अष्टछाप के कवि

विट्ठलनाथ के शिष्य

छीत स्वामी,

गोविंद स्वामी,

चतुर्भुज दास,

नंद दास

वल्लभाचार्य के शिष्य

सूरदास,

कुंभन दास,

परमानंद दास,

कृष्ण दास

इन हिंदी साहित्य तथा इनके साहित्यकार के बारे में हमें ज़रूर जानना चाहिए। हम तीव्र गती से तरक्की तो कर रहे हैं, मगर अपने साहित्य के बारे में हमें ज़्यादा ज्ञान नहीं हैं। हम लोग ने यह सूची विशेष रूप से सभी को जागरूक करने हेतु तथा विभिन्न परीक्षाओं में पूछे जाने वाले प्रश्न की दृष्टिकोण से बनाया हैं।

आशा है इससे आपको सहायता मिली होगी, इसी तरह के अन्य लेख के लिए दुबारा ज़रूर पधारे। इस जानकारी “भक्ति काल के कवि और उनकी रचनाएँ (Bhakti Kaal ke Kavi)” को आगे शेयर जरूर करें। आपको यह जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here