अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Apanee chilam bharane ko mera jhopada jalaate ho Muhavara ka arth)

अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो मुहावरे का अर्थ – अपने ज़रा से लाभ के लिए किसी दूसरे की बड़ी हानि करना, अपने अल्प लाभ के लिए दूसरे की भारी हानि करते हो।

Apanee chilam bharane ko mera jhopada jalaate ho Muhavara ka arth – apane zara se laabh ke lie kisee doosare kee badee haani karana, apane alp laabh ke lie doosare kee bhaaree haani karate ho.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल एक शहर का बड़े ही नामी और बड़ा ही प्रसिद्ध व्यक्ति है उसका बड़ा ही आलीशान मकान है जहां वह रहता है और ना जाने उस मकान को बनाने के लिए उसने कितने ही गरीबों का झोपड़ा जला दिया जिसका की कोई हिसाब-किताब ही नहीं है ऐसी परिस्थिति में ही कहा जाता है कि अपना चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो।

वाक्य प्रयोग: मोहनलाल ने एक गांव में एक फैक्ट्री बनाने के लिए ना जाने कितने ही गरीब व्यक्तियों का जमीन ले लिया जहां पर वह गरीब व्यक्ति अपना किसान का काम करके अनाज को उगाकर अपना रोजी-रोटी चलाते थे और उस पर एक बड़ी फैक्ट्री खड़ी करके मोहनलाल आज बहुत ही अमीर हो गया है ऐसी परिस्थिति में ही कहा जाता है कि अपना चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो।

वाक्य प्रयोग: सीता ने अपने अच्छे मार्क्स लाने के लिए मीरा को ना ही नोट्स दिए और ना ही उसे ठीक से पढ़ने दिया ताकि सीता पूरे कक्षा में अच्छे नंबर से पास कर सके इसलिए उन्होंने मीरा को कुछ भी मदद नहीं की क्योंकि मेरा भी पढ़ने में अच्छी थी इसीलिए सीता ने उसे कोई सहायता नहीं थी ऐसी परिस्थिति में कहा जाता है कि अपना चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो।

वाक्य प्रयोग: बड़े-बड़े शहरों में रहने वाले बड़े-बड़े लोग खुद तो आराम से रहते हैं लेकिन उनके आराम से रहने के पीछे कई गरीब लोगों का जीवन और गरीब व्यक्तियों का घर परिवार सभी बर्बाद हो जाते हैं यह बड़े लोग अक्सर छोटे लोगों को दबाकर उन्हें अपने फायदे के लिए यूज करते हैं इस्तेमाल करते हैं और अपना आलीशान मकान और धन दौलत कमाते हैं इसे ही कहा जाता है अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो।

यहां हमने “अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। अपनी चिलम भरने को मेरा झोपड़ा जलाते हो मुहावरे का अर्थ होता है कि जो व्यक्ति केवल और केवल अपने लाभ को देखता है और दूसरों को हानि पहुंचाता है दूसरों के हानि से उसे कोई मतलब नहीं होता है ऐसे व्यक्ति को कहा जाता है कि अपना चिलम भरने के लिए मेरा झोपड़ा जलाते हो अर्थात अपने लाभ के लिए ऐसे थोड़े से लाभ के लिए आप दूसरों का भारी नुकसान करते हो। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

बड़ी बात होना उड़ती चिड़िया के पंख गिनना
अक्ल पर पत्थर पड़ना अक्ल चरने जाना
आसमान सिर पर उठानाआड़े हाथों लेना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here