आत्मनिर्भर भारत में विद्यार्थियों का योगदान पर निबंध

नमस्कार दोस्तों, यहां पर हमने आत्मनिर्भर भारत में विद्यार्थियों का योगदान पर निबंध/आत्मनिर्भर भारत में युवाओं की भूमिका (Aatm Nirbhar Bharat me Vidyarthiyo ka Yogdan Essay) लिखा है।

Aatm Nirbhar Bharat me Vidyarthiyo ka Yogdan Essay

इससे पहले हमने आत्म निर्भर भारत अभियान पर निबंध 500, 800 और 1000 शब्दों में शेयर किया है। आप हमारा यह आत्मनिर्भर भारत में छात्रों की भूमिका/आत्मनिर्भर भारत स्वतंत्र भारत निबंध अंत तक जरूर पढ़े।

Read Also

आत्मनिर्भर भारत में विद्यार्थियों का योगदान पर निबंध – Aatm Nirbhar Bharat me Vidyarthiyo ka Yogdan Essay

आत्मनिर्भर भारत में विद्यार्थी की भूमिका पर निबंध

प्रस्तावना

किसी भी विकासशील और महाशक्तिशाली देश के पीछे एक विद्यार्थी का ही विशेष योगदान होता है। विद्यार्थी ही देश का भविष्य बनाता है और उसे हमेशा एक नई दिशा में ले जाने का काम करता है। किसी भी देश के आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक उन्नति के लिए युवा की ही सबसे महत्वपूर्ण भागीदारी होती है।

विद्यार्थी एक विकासशील देश की रीढ़ की हड्डी का काम करते हैं। हमेशा अपने समाज और देश को नई नई ऊंचाईयों में जाने में अपनी अहम भूमिका निभात्ते है।

विद्यार्थी जीवन

भारत आत्मनिर्भर कैसे बने इसके लिए सिर्फ विद्यार्थी ही मददगार साबित हो सकते हैं। हर विद्यार्थी एक नई ऊर्जा और महत्वकांक्षा से परिपूर्ण होता है। विद्यार्थी जितना उत्साहवर्धक, देशप्रेमी और कौशलयुक्त होगा उतना ही एक देश के विकास के लिए और उसकी उन्नति और तरक्की के लिए प्रबल दावेदार होगा। हर विद्यार्थी के आँखों में अपने देश के भविष्य का इन्द्रधनुष होता है जो उसे हमेशा ही अपने देश और समाज की प्रगति के लिए प्रेरित करता रहता है।

आज भारत की हर सफलता के पीछे एक युवा का ही हाथ है। यह सफलता एक युवा की प्रबल इच्छा शक्ति का ही परिणाम है। यदि हमारे देश में जरूरत है तो सिर्फ युवाओं को एक अच्छे मार्गदर्शन की। जो हमेशा उनको एक सकारात्मक रास्ते पर चलने को प्रेरित करता रहे।

आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atma Nirbhar Bharat)

Aatm Nirbhar Bharat Essay in Hindi

आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के लिए हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने जिस तरह से देश के युवाओं और नागरिको को प्रेरित करते हुए भूमि, श्रम, तरलता और कानून से जुड़े हुए सभी महत्वपूर्ण तथ्यों का बारीकी से अध्ययन कर अर्थव्यवस्था, अवसंरचना, प्रौद्योगिकी, गतिशील जनसांखि्यिकी और मांग को और भी ज्यादा मजबूती देने का आह्वान किया है। इन आत्मनिर्भर भारत के पाँच स्तंभ से आसानी से भारत के आत्मनिर्भर होने का सपना पूरा किया जा सकता है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान की सफलता के लिए हमें और भारत के हर नागरिक को आगे आना चाहिए और हर संभव प्रयास करना चाहिए। जिससे इस मिशन को सफल बनाया जा सके।

आत्मनिर्भर भारत में विद्यार्थी का योगदान

हर देश के विकास और उसकी प्रगति के लिए वहां का नागरिक जागरूक और शिक्षित होना बहुत ही जरूरी है। हर शिक्षित व्यक्ति की देश की तरक्की में अपनी अहम भूमिका होती है। देश के नागरिक होने के नाते हमारा यह कर्तव्य होना चाहिए कि हमारे बच्चे शिक्षित हो और वह देश के विकास में अपनी भूमिका निभाए।

देश को उन्नतिशील, विकासशील और शक्तिशाली बनाने के साथ साथ उसका सर्वंगीण विकास भी जरूरी है। इसके लिए हर नागरिक को शिक्षित होना आवश्यक है। विद्यार्थियों में बहुत ही तीव्र इच्छा शक्ति और ऊर्जा होती है। जिससे वह देश में व्याप्त भ्रष्टाचार, कन्याभ्रूण हत्या, आतंकवाद, अनुशासनहीनता जैसे समस्याओं का विभिन्न प्रकार के अभियान का आयोजन इनका अंत करने में अपनी भूमिका अदा कर सकते है।

विद्यार्थियों का मार्गदर्शन

विद्यार्थी के पास वह शक्ति होती है जिससे वह चाहे वो संभव कर सकता है। लेकिन इन सबके लिए उसको एक अच्छे और सफल मार्गदर्शन की जरूरत पड़ती है। यदि युवाओं को सही मार्गदर्शन न मिलने के कारण वह अपने सही रास्ते से भटक जाते हैं। फिर वह अपनी ऊर्जाओं और क्षमताओं का सही से जगह पर नहीं करते।

रास्ता भटक जाने पर स्वार्थ से भरे लोग उनका पूरा फायदा उठाने लग जाते हैं और विद्यार्थियों को देश के विरोधी कार्यों में डाल देते है और फिर राष्ट्रीय संपदा को नुकसान पहुंचाना, देश के विकास में बाधा उत्पन करना, तोड़फोड़ करना और पत्थरबाजी करना आदि जैसे कार्यों में अपनी जिम्मेदारी निभाने लग जाते हैं।

इस कारण हमारे देश के युवाओं को सही मार्गदर्शन मिलना बहुत ही जरूरी है।

विद्यार्थी आत्मनिर्भर भारत अभियान में कैसे सहयोग करें

यह जरूर नहीं कि आत्मनिर्भर भारत में सहयोग के लिए सिर्फ वो लोग ही सहयोग कर सकते हैं जिनके पास कोई बड़ा पद हो या फिर कोई बड़ा व्यक्ति हो। भारत का हर नागरिक आत्मनिर्भर भारत अभियान में सहयोग कर सकता है।

इसके लिए हमें अधिक से अधिक देश में बनी वस्तुओं का उपयोग करना चाहिए। इससे हमारे देश की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और हमारे देश में नए उद्योग निर्मित होंगे, रोज़गार खुलेंगे और गरीबी जैसी भयंकर समस्या जल्दी ही समाप्त होगी।

उपसंहार

Aatm Nirbhar Bharat Essay in Hindi

हमें भारत के विद्यार्थी होने नाते आत्मनिर्भर भारत अभियान में हर संभव सहयोग प्रदान करना चाहिए और सफल बनाने के पूरी कोशिश करनी चाहिए। यदि हमारा देश आत्मनिर्भर बनेगा तो हमारे देश में किसी भी संसाधन की कोई कमी नहीं होगी।

आत्मनिर्भर भारत निबंध 500 शब्दों में । Essay on Aatm Nirbhar Bharat in Hindi 500 Words
आत्मनिर्भर भारत निबंध 800 शब्दों में । Essay on Aatm Nirbhar Bharat in Hindi 800 Words

Read Also: संस्‍कृत निबंध संग्रहण

हमने यहां पर राष्ट्रीय विकास में छात्रों की भूमिका पर निबंध उपलब्ध किया है। उम्मीद करते हैं आपको यह राष्ट्रीय विकास में छात्रों की भूमिका निबन्ध पसंद आया होगा। इसे आगे शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। हमारा Facebook Page लाइक जरूर कर दें।

Read Also

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here