आटे के साथ घुन भी पिसता है मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आटे के साथ घुन भी पिसता है मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aate ke saath ghun bhee pisata hai Muhavara ka arth)

आटे के साथ घुन भी पिसता है मुहावरे का अर्थ – अपराधी के साथ निरपराधी भी दण्ड प्राप्त करता है, दोषी के साथ निर्दोषी को भी सज़ा मिलना, अपराधी के साथ निर्दोष को भी सजा मिलना।

Aate ke saath ghun bhee pisata hai Muhavara ka arth – aparaadhee ke saath niraparaadhee bhee dand praapt karata hai, doshee ke saath nirdoshee ko bhee saza milana, aparaadhee ke saath nirdosh ko bhee saja milana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: दिवाली पर अक्सर लोग जुआ खेलते हैं उसी को देखने के लिए रावण भी जो जुआरी के पास खड़ा था और जब पुलिस आई तो राघव को भी अपने साथ ले गई इसे ही कहा जाता है कि आटे के साथ घुन भी पिस जाता है।

वाक्य प्रयोग: कुछ बच्चे बहुत ही शरारत कर रहे थे और नरेश उसके साथ खड़ा था इसे देखकर शिक्षक ने सभी विद्यार्थियों को पीट दिया जबकि नरेश बहुत ही अच्छा विद्यार्थी है इसी परिस्थिति को कहा जाता है कि आटे के साथ घुन भी पिस जाता है।

वाक्य प्रयोग: सोहन अपने स्कूल में नया-नया विद्यार्थी बन कर आया था और उसके स्कूल में किसी बात को लेकर सभी बच्चों की पिटाई हो रही थी साथ में सोहन की भी पिटाई हो गई जबकि वह नया बच्चा था ऐसी स्थिति में कहा जाता है कि आटे के साथ घुन भी पिस जाता है।

यहां हमने “आटे के साथ घुन भी पिसता है” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। आटे के साथ घुन पीसने मुहावरे का अर्थ होता है कि जो लोग निर्दोष होते हैं वह केवल दोषी के साथ रहने मात्र से ही सजा के पात्र हो जाते हैं उन्हें सजा मिल जाती है तो ऐसी परिस्थिति में कहा जाता है कि आटे के साथ घुन भी पिस गया। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आँख का तारा करारा जवाब देना
आकाश-पाताल एक करना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
आपे से बाहर होना कठपुतली बनना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here