आसमान से गिरा खजूर में अटका मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आसमान से गिरा खजूर में अटका मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aasamaan se gira khajoor mein ataka muhaavare ka arth)

आसमान से गिरा खजूर में अटका मुहावरे का अर्थ – एक विपत्ति से छूटकर दूसरी में उलझ जाना, एक मुसीबत से निकलकर दूसरी मुसीबत में फंस जाना, एक परेशानी से निकलकर दूसरी परेशानी में आना।

Aasamaan se gira khajoor mein ataka muhaavare ka arth – ek vipatti se chhootakar doosaree mein ulajh jaana, ek museebat se nikalakar doosaree museebat mein phans jaana, ek pareshaanee se nikalakar doosaree pareshaanee mein aana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: मोहन अपने शिक्षक की मदद से गणित के विषय में पास तो हो गया लेकिन वह अपने अंग्रेजी के विषय में अच्छे नंबर नहीं ला पाया इसे कहा जाता है आसमान से गिरे और खजूर पर अटके।

वाक्य प्रयोग: सीता ने एक अच्छी टीचर की जॉब छोड़ कर अपने घर में पढ़ाना शुरू किया लेकिन उसके घर पर कोई भी बच्चा पढ़ने के लिए नहीं जाता था इसे कहा जाता है आसमान से गिरे और खजूर पर अटके ।

वाक्य प्रयोग: मोहनलाल ने अपने विदेश की नौकरी छोड़कर बेंगलुरु में नौकरी करना शुरू किया लेकिन बेंगलुरु में जहां पर नौकरी कर रहा था वह कंपनी ही बंद हो गई और मोहनलाल बेरोजगार हो गया इसे कहा जाता है आसमान से गिरे और खजूर पर अटके।

वाक्य प्रयोग: श्यामलाल ने अपनी जमीन बेचकर बैंक का लोन चुराया चुकाया और सोचा कि अपनी खेती से वह अपना काम चला लेगा लेकिन मौसम की खराबी की वजह से उसकी खेती अच्छे से नहीं हुई और श्यामलाल को खाने खाने के लिए मोहताज होना पड़ा इसी स्थिति को कहा जाता है आसमान से गिरे और खजूर पर अटके।

यहां हमने “आसमान से गिरा खजूर में अटका” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। आसमान से गिरे और खजूर पर अटके का अर्थ होता है कि एक विपत्ति से निकले भी नहीं है और दूसरी विपत्ति सर पर आ जाना अर्थात जब लोग अपने एक कार्य को खत्म कर भी नहीं पाते हैं और उसके सर पर दूसरे कार्य का भार आ जाता है तो ऐसी परिस्थिति में कहा जाता है कि आसमान से गिरे और खजूर पर अटके। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आड़े हाथों लेनाआँखें चार होना
अपना घर समझनाआसमान सिर पर उठाना
कठपुतली बननाकरारा जवाब देना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here