आग खाएगा तो अंगार उगलेगा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

आग खाएगा तो अंगार उगलेगा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Aag khaega to angaar ugalega Muhavara ka arth)

आग खाएगा तो अंगार उगलेगा मुहावरे का अर्थ – बुरे काम करने का बुरा फल ही मिलता है, बुरे काम का बुरा फल।

Aag khaega to angaar ugalega muhaavare ka arth – bure kaam karane ka bura phal hee milata hai, bure kaam ka bura phal.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन चोरी का काम करता है तो पुलिस से मार खाएगा ही आग खाएगा तो अंगारे उगलेगा।

वाक्य प्रयोग: सीता हमेशा दूसरों से लड़ती रहती है जिसकी वजह से लोग उससे कोई भी बातें करना नहीं चाहता जिस वजह से वह अकेली रहती है और उसकी मदद के लिए कोई भी नहीं आता है इसे ही कहा जाता है कि आग खाएगा तो अंगार उगलेगा।

वाक्य प्रयोग: रोहन हमेशा बुरे कार्य में लगा रहता है और बुरे कार्य का फल हमेशा बुरा ही होता है और इसे कहा जाता है कि आग खाएगा तो अंगार लेगा।

वाक्य प्रयोग: सोहन अपने बुरे दोस्तों के साथ रहकर बुरे काम करने लगा है और उसका फल उसे बुरा ही मिलेगा उसकी मां उसे लाख समझाया लेकिन वह बुरा काम ही करता है इसे ही कहा जाता है कि आंख खाएगा तो अंगार उगलेगा।

यहां हमने ” आग खाएगा तो अंगार उगले ” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा।आग खाएगा तो अंगार उगले का अर्थ होता है कि पूरे कार्य का फल बुरे कार्य का फल बुरा ही मिलता है जैसे कि हमारे बड़े बूढ़े हमेशा हमें यह समझाते हैं कि हमें हमेशा अच्छे कार्य करना चाहिए क्योंकि आपके कार्य अच्छे हो या बुरे आपको उनका फल भुगतना ही पड़ता है इसीलिए हमें हमेशा अच्छे कार्य करना चाहिए और बुरे कार्यों से हमेशा दूर रहना चाहिए । चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारनाअक्ल पर पत्थर पड़ना
आपे से बाहर होनाअक्ल चरने जाना
आसमान सिर पर उठानाआड़े हाथों लेना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here