उल्टी पट्टी पढ़ाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

उल्टी पट्टी पढ़ाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ultee pattee padhaana Muhavara ka arth)

उल्टी पट्टी पढ़ाना मुहावरे का अर्थ – ग़लत कहकर बहकाना, गलत शिक्षा देना, बुरी राय देना, बहका देना, उल्टी राय देना।

Ultee pattee padhaana Muhavara ka arth – galat kahakar bahakaana, galat shiksha dena, buree raay dena, bahaka dena, ultee raay dena.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: महाभारत के शकुनि ने दुर्योधन को ऐसे पट्टी पढ़ाई की वह पांडवों का दुश्मन हो गया और उससे दुश्मनी के लेने के चक्कर में महाभारत का इतना बड़ा युद्ध हुआ।

वाक्य प्रयोग: सोहन और मोहन बचपन के दोस्त हैं लेकिन किसी बात को लेकर उन दोनों दोस्तों में झगड़ा हो गया तो तीसरे व्यक्ति ने उन दोनों दोस्तों को उल्टी पट्टी पढ़ा दिया जिस वजह से उन दोनों दोस्तों में काफी बड़ी खाई हो गई।

वाक्य प्रयोग: हमें किसी की झूठी बातों या गलत शिक्षा या उल्टी पट्टी पढ़ाने में नहीं आना चाहिए अगर हम उनके उल्टी पट्टी को पढ़ लिए तो हमारा काफी नुकसान होता है।

वाक्य प्रयोग: सोहन के पिता ने सोहन के दोस्त को काफी डांट लगाई और उससे कहा कि तुमने मेरे बेटे को ऐसे ही कौन सी पट्टी या उल्टी पट्टी पढ़ा दी है कि वह आजकल अपने पढ़ाई पर ध्यान नहीं देता है और ना ही घर समय पर आता है।

यहां हमने “उल्टी पट्टी पढ़ाना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। उल्टी पट्टी पढ़ाना मुहावरे का अर्थ होता है कि जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति को गलत बातें सिखाता है उसे गलत राह पर चलना सिखाता है उसे गलत शिक्षा देता है उसकी जो राय होती है दूसरे व्यक्ति के लिए वह गलत होती है उसे बहका देता है तो वैसी परिस्थिति में हम लोग उल्टी पट्टी पड़ना मुहावरे का प्रयोग करते हैं हमारे बड़े बुजुर्ग और हमारे माता-पिता हमें यह सिखाते हैं कि हमें दूसरों की बातों में नहीं आना चाहिए अपने दिमाग का सही उपयोग करना चाहिए अपने अच्छे बुरे का पता खुद से ही लगाना चाहिए हम दूसरों की बातों पर चलकर अक्सर अपना नुकसान ही करवाते हैं इसीलिए अपने नुकसान को ना कराएं और दूसरों के उल्टी पट्टी को पढ़ना बंद करें। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

करारा जवाब देनाआँखों पर परदा पड़ना
आँखें चार होनाअक्ल पर पत्थर पड़ना
आँखें खुल जानाआकाश-पाताल एक करना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here