सरदार वल्लभ भाई पटेल के अनमोल विचार

Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi
Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

सरदार वल्लभ भाई पटेल के अनमोल विचार | Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

“इस मिट्टी में कुछ अनूठा है,
जो कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान
आत्माओं का निवास रहा है।”

किसी भी महान काम को करने के लिए विश्वास और शक्ति ,
दोनों ही अनिवार्य है।
शक्ति के अभाव में विश्वास किसी काम का नहीं है।

जीवन की डोर तो ईश्वर के हाथ में है,
इसलिए चिंता की कोई बात हो ही नहीं सकती।

अगर आपके पास शक्ति की कमी है
तो विश्वास किसी काम का नहीं।
क्योंकि महान उद्देश्यों की पूर्ति के लिए,
शक्ति और विश्वास दोनों का होना जरूरी है।

शक्ति के अभाव में विश्वास व्यर्थ है।
विश्वास और शक्ति,
दोनों किसी महान काम को करने के लिए आवश्यक हैं।

इस देश की मिट्टी में कुछ अलग ही बात है,
जो इतनी कठिनाइयों के बावजूद हमेशा
महान आत्माओं की भूमि रही हैं।

मेरी एक ही प्रबल इच्छा है
कि भारत देश एक अच्छा उत्पादक हो।
इस देश में कोई भूखा ना हो कोई भी
अन्न के लिए आंसू बहता हुआ दिखे।

अगर हमारी करोड़ों की दौलत भी चली जाए या फिर
हमारा पूरा जीवन बलिदान हो जाए तो भी
हमें ईश्वर में विश्वास और उसके सत्य पर
विश्वास रखकर प्रसन्न रहना चाहिए।

“आपकी अच्छाई आपके मार्ग में बाधक है,
इसलिए अपनी आँखों को क्रोध से लाल होने दीजिये,
और अन्याय का सामना मजबूत हाथों से कीजिये।”

जब तक हमारे अन्दर का बच्चा जीवित है,
तब तक अंधकारमयी निराश की छाया
हमसे बहुत दूर रहेगी।

स्वार्थ के हेतु राजद्रोह करनेवालों
से नरककुंड भरा है।

आपके घर का प्रबंध दूसरों को सौंपा गया हो तो यह कैसा लगता है –
यह आपको सोचना है जब तक प्रबंध दूसरों के हाथ में है
तब तक परतन्त्रता है और तब तक सुख नहीं।

Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

“आपको अपना अपमान सहने
की कला आनी चाहिए।”

यह प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है
कि वह यह अनुभव करे की उसका देश स्वतंत्र है
और उसकी स्वतंत्रता की रक्षा करना उसका कर्तव्य है।

सेवा-धर्म बहुत कठिन है
यह तो काँटों की सेज पर सोने
के समान ही है।

उतावले उत्साह से बड़ा परिणाम
निकलने की आशा नहीं रखनी चाहिये।

“मेरी एक ही इच्छा है कि भारत एक
अच्छा उत्पादक हो और इस देश में कोई अन्न के
लिए आंसू बहाता हुआ भूखा ना रहे।”

हर एक भारतीय को अब यह भूल जाना चाहिए कि
वह एक राजपूत है, एक सिख या जाट है।
उसे सिर्फ यह याद होना चाहिए कि वह एक भारतीय है
और उसे इस देश में हर अधिकार है पर कुछ जिम्मेदारियां भी हैं।

“जब जनता एक हो जाती है,
तब उसके सामने क्रूर से क्रूर
शासन भी नहीं टिक सकता।
अतः जात-पांत के ऊँच-नीच के
भेदभाव को भुलाकर सब एक हो जाइए।”

जब कठिन समय आता है,
तो कायर और बहादुर का फर्क पता चल जाता हैं
क्योंकि उस समय कायर बहाना ढूंढते हैं
और बहादुर रास्ता खोजते हैं।

कठिन समय में कायर बहाना ढूंढते हैं
तो वहीं, बहादुर व्यक्ति रास्ता खोजते है।

“संस्कृति समझ-बूझकर शांति पर रची गयी है.
मरना होगा तो वे अपने पापों से मरेंगे।
जो काम प्रेम, शांति से होता है,
वह वैर-भाव से नहीं होता।”

चाहें हम हज़ारों की दौलत क्यों न गवां दें,
चाहें हमें अपने जीवन का बलिदान क्यों न देना पड़े,
हमें मुस्कुराते रहना चाहिए और ईश्वर एवं
सत्य में विश्वास रखकर प्रसन्न रहना चाहिए।

सेवा करनेवाले मनुष्य को विन्रमता सीखनी चाहिए,
वर्दी पहन कर अभिमान नहीं, विनम्रता आनी चाहिए।

कठोर-से-कठोर हृदय को भी प्रेम से वश में किया जा सकता है।
प्रेम तो प्रेम है। माता को अपना काना-कुबड़ा बच्चा भी
सुंदर लगता है और वह उससे असीम प्रेम करती है।

“अविश्वास भय का
प्रमुख कारण होता है।”

आज से ही हमें ऊंच-नीच, अमीर-गरीब,
जाति-पाती के भेदभावों को समाप्त कर देना चाहिए।

Read Also: मुंशी प्रेमचंद के अनमोल विचार

Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

हर जाति या राष्ट्र खाली तलवार से वीर नहीं
बनता तलवार तो रक्षा-हेतु आवश्यक है,
पर राष्ट्र की प्रगति को तो उसकी नैतिकता से ही मापा जा सकता है।

कर्तव्यनिष्ठ पुरूष कभी निराश नहीं होता।
अतः जब तक जीवित रहें और कर्तव्य करते रहें,
तो इसमें पूरा आनन्द मिलेगा।

चर्चिल से कहो कि भारत को
बचाने से पहले इंग्लैण्ड को बचाए।

हम कभी हिंसा न करें, किसी को कष्ट न दें
और इसी उद्देश्य से हिंसा के विरूद्ध गांधीजी ने
अहिंसा का हथियार आजमा कर संसार को चकित कर दिया।

किसी तन्त्र या संस्थान की पुनः
निंदा की जाए तो वह ढीठ बन जाता है
और फिर सुधरने की बजाय
निंदक की ही निंदा करने लगता है।

“मान-सम्मान किसी के देने से नहीं मिलते,
अपनी योग्यतानुसार मिलते हैं।”

बोलने में मर्यादा मत छोड़ना,
गालियाँ देना तो कायरों का काम है।

स्वतन्त्रता-प्राप्ति के बाद भी यदि परतन्त्रता की दुर्गन्ध आती रहे,
तो स्वतन्त्रता की सुगंध नहीं फैल सकती।

“सत्य के मार्ग पर चलने हेतु
बुरे का त्याग अवश्यक है,
चरित्र का सुधार आवश्यक है।”

एकता के बिना जनशक्ति शक्ति नहीं है
जब तक उसे ठीक तरह से सामंजस्य में ना लाया जाए और
एकजुट ना किया जाए, और तब यह आध्यात्मिक शक्ति बन जाती है।

जीवन में सब कुछ एक दिन
में नहीं हो जाता है।

Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi

गरीबों की सेवा ही
ईश्वर की सेवा है।

“सेवा करने वाले मनुष्य को विन्रमता सीखनी चाहिए,
वर्दी पहन कर अभिमान नहीं,
विनम्रता आनी चाहिए।”

जीवन में आप जितने भी दुःख और सुख के भागी बनते हैं,
उसके पूर्ण रूप से जिम्मेदार आप स्वंय ही होते है।
इसमें ईश्वर का कोई भी दोष नहीं।

जो तलवार चलाना जानते हुए भी
अपनी तलवार को म्यान में रखता है
उसी को सच्ची अहिंसा कहते है।

“प्रजा का विश्वास,
राज्य की निर्भयता की निशानी है।”

उतावलेपन में किये कार्य से बड़ा परिणाम
निकलने की आशा नहीं रखनी चाहिये।

हमारे देश में अनेक धर्म, अनेक भाषाए भी है
लेकिन हमारी संस्कृति एक ही है।

अधिकार मनुष्य को तब तक अँधा बनाये रखेंगे,
जब तक मनुष्य उस अधिकार को
प्राप्त करने हेतु मूल्य न चुका दे।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here