सरदार वल्लभभाई पटेल पर कविता

Sardar Vallabhbhai Patel Poem in Hindi: देश को एकता के सूत्र में बाँधने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल हमारे लिए आज भी एक आदर्श के रूप में जाने जाते हैं। वल्लभभाई पटेल हमारे देश की आजादी के नायक थे, जिन्होंने देश को एकजुट करने में भी महती भूमिका निभाई थी।

sardar vallabhbhai patel poem in hindi
Image: sardar vallabhbhai patel poem in hindi

यहां पर हमने सरदार वल्लभभाई पटेल पर कविताएं (Sardar vallabhbhai patel Poems in Hindi) शेयर की है। उम्मीद करते हैं आपको यह कविताएँ पसंद आएगी।

सरदार वल्लभभाई पटेल पर कविता | Sardar Vallabhbhai Patel Poem in Hindi

सरदार वल्लभभाई पटेल पर कविता

लोह पुरुष की ऐसी छवि
ना देखी, ना सोची कभी
आवाज में सिंह सी दहाड़ थी
ह्रदय में कोमलता की पुकार थी
एकता का स्वरूप जो इसने रचा
देश का मानचित्र पल भर में बदला
गरीबो का सरदार था वो
दुश्मनों के लिए लोहा था वो
आंधी की तरह बहता गया
ज्वालामुखी सा धधकता गया
बनकर गाँधी का अहिंसा का शस्त्र
महकता गया विश्व में जैसे कोई ब्रहास्त्र
इतिहास के गलियारे खोजते हैं जिसे
ऐसे सरदार पटेल अब ना मिलते पुरे विश्व में

सरदार पटेल जी पर कविता

देश भक्ति थी जिसके रग में.
सबल बने, भारत इस जग में.
एकीकरण के स्वप्न को जिसने.
यथार्थ में बदल दिया, भुजबल से.
भारत के सरदार देश के लाल
शत- शत नमन तुम्हे है !!
नडियाद के वीर, भारतरत्न.
बारडोली सत्याग्रह के सरदार.
जिसके समक्ष हरा निज़ाम.
जिसके समक्ष हरा निज़ाम.
आताताइयों का झूठा स्वाभिमान.
भारत के सरदार देश के लाल
शत- शत नमन तुम्हे है !!

Sardar patel poem in hindi

वह सरदार पटेल चाहिये,
जो किसानो के हक की बात करें,
इनके दुःख-दर्द मिटाने के लिए लड़े,
जिसकी ईमानदारी और विनम्रता की बातें सब करें.
वह सरदार पटेल चाहिए,
जो अपनी आखों को क्रोध से लाल करें,
अन्याय के खिलाफ़ मजबूत हाथों से लड़े,
जिसकी आवाज से दुश्मन भी काप उठे.
वह सरदार पटेल चाहिए,
जो भारत को एकता का पाठ पढाये,
हर मजहबों को गले मिलने का सबक सिखाये,
जो हर वक्त सच के साथ खड़ा रहकर दिखाये.
वह सरदार पटेल चाहिए,
जो देश के लिए कुर्बान हो,
जिसका हृदय विशाल हो,
आने वाली पीढ़ियों के लिए मिशाल हो

देशभक्त सरदार पटेल पर कविता

खुशबू से जिसकी महका सारा हिन्दुस्तान
वो थे वल्लभ भाई पटेल भारत की शान।
प्रतिभाशाली, व्यक्तित्व के धनी थे सरदार
भारत की आजादी के नायक थे महान।।
बारडोली सत्याग्रह की सफलता के बाद
सरदार की उपाधि वहां की महिलाओं ने दी
दुश्मनों के लिए लौह पुरुष थे सरदार पटेल
इनको मरणोपरांत भारत रत्न की उपाधि दी।।
हृदय कोमल,आवाज में सिंह सी दहाड़ थी
भारतीय राजनीति के प्रखण्ड विद्वान थे।।
शत् शत् नमन ऐसे महान व्यक्ति को
वे भारत की आन बान और शान थे।।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल पर कविता पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह कविताएँ कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here