ओखली में सिर देना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

ओखली में सिर देना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग(Okhalee mein sir dena Muhavara ka arth)

ओखली में सिर देना मुहावरे का अर्थ –यदि कठिन कार्य हाथ में ले लिया है तो कठिनाइयों से नहीं डरना चाहिए, जान-बूझकर परेशानी में फँसना, जानबूझ कर संकट मोल लेना।

Okhalee mein sir dena Muhavara ka arth –yadi kathin kaary haath mein le liya hai to kathinaiyon se nahin darana chaahie, jaan-boojhakar pareshaanee mein phansana, jaanaboojh kar sankat mol lena.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: मोहन को सभी ने समझाया था कि वह सोने का व्यापार ना करें और उसने किसी की बात ना मानकर ओखली में सिर दे दिया है ।

वाक्य प्रयोग: रामू ने कल रात हथियारबंद बदमाशों से उछल उलझ कर ओखली में सिर दे दिया है।

वाक्य प्रयोग: सीता ने आईएस की तैयारी करने की सोच कर ओखली में सिर देने के बराबर कार्य की है।

वाक्य प्रयोग: जब आप किसी खतरनाक और खूंखार जगह पर बिना किसी सुरक्षा के और बिना किसी जानकारी के जाते हैं तो आप ओखली में सिर देने जैसा कार्य करते हैं।

यहां हमने “ओखली में सिर देना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। ओखली में सिर देना मुहावरे का अर्थ होता है कि जब यदि कठिन कार्य हाथ में ले लेते हैं और उस कठिनाइयों से अगर आप डरने लगते हैं या फिर आप उस कठिनाइयों से नहीं डरते हैं तो आपको लोग कहते हैं कि जब ओखली में सिर दे दिया है तो फिर चोट से क्या डरना जब कुछ लोग जानबूझकर किसी परेशानी में फंस जाते हैं अर्थात वह ऐसी जगह चले जाते हैं, जिस जगह के बारे में उसे जानकारी नहीं होती है और वह खतरनाक जगह होती है। तो वैसे जगह में जाने वाले व्यक्ति के लिए यही कहा जाता है कि उसने ओखली में अपना सिर दे दिया है अर्थात उसने जानबूझकर संकट मोल लिया है। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आसमान सिर पर उठाना अक्ल पर पत्थर पड़ना
बड़ी बात होनाअपना घर समझना
अक्ल चरने जाना आड़े हाथों लेना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here