हेमंत ऋतु पर निबंध

Hemant Season Essay in Hindi: भारत की ऋतुओं में हेमंत ऋतु का भी विशेष महत्व होता है। हम यहां पर हेमंत ऋतु पर निबंध शेयर कर रहे है। यह निबन्ध सही विद्यार्थियों के लिए लाभदायक होगा।

hemant season essay in hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

हेमंत ऋतू पर निबंध | Hemant Season Essay in Hindi

हेमंत ऋतू पर निबंध (250 शब्द)

प्रस्तावना

ऋतुओं के बंधन में बंधी यह भी एक ऋतू हैं जिसकी शुरुआत नवम्बर से होती हैं जो जनवरी के अंत तक चलती हैं। यह ऋतु सर्दी के बाद आती हैं जिस वजह से इस ऋतु में मौसम काफी ठंडा होता है। हेमंत ऋतु शरद और शिशिर ऋतु के बीच में ऋतू हैं। यह ऋतु हमारे शरीर के लिए काफी भारी माना जाता हैं, इस मौसम में शरीर में पाचन क्रिया काफी काफी धीमी होती हैं। इस ऋतू में मौसम काफी ठंडा होता हैं।

हेमंत ऋतू का समय

साल का सबसे सुहावन ऋतू कहा जाने वाले इस मौसम की शुरुआत नवम्बर माह में होती हैं जो की जनवरी माह तक चलती हैं। इस ऋतु में मौसम काफी सुहावना होता है। इस मौसम में सर्दी अपने अंतिम चरम पर होती और इस मौसम में दिन और रात का तापमान काफी निचले स्तर पर होता है।

हेमंत ऋतू की हानि

इस ऋतु के सन्दर्भ में कई लोग ऐसा भी मानते हैं की हमे हेमंत ऋतु के समय हमें ठंडी चीजों को कभी नहीं खाना चाहिए, इससे हमारे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ सकता हैं। इस मौसम में ठंडी चीजों का सेवन करने से हम बीमार पड़ सकते हैं। हेमंत ऋतू में ठंडी चीजों को ना खाए।

इस ठंड वाली ऋतु के समय में हम जानते हैं कि काफी कड़ाके की ठंड पड़ती है जिस कारण कोहरा भी अधिक होता है, जिससे आते जाते समय यातायात के साधनों में भी रुकावट बनती है।

हेमंत ऋतू पर निबंध (600 शब्द)

प्रस्तावना

गुलाबी ठंडी के नाम से जाना जाने वाले इस मौसम से को सामान्य भाषा में हेमंत ऋतु भी कहते हैं। हेमंत ऋतु के मौसम से हम भारत में रौशनी का त्यौहार दीपावली मनाते हैं। इस ऋतु का समय नवंबर और जनवरी माह के मध्य होता हैं। इस मौसम में लोग गर्म कपड़े पहनते हैं।

इस मौसम में लोगों की दिनचर्या भी एकदम अलग होती हैं, शाम को जल्दी सोना और सुबह देरी से उठना इस मौसम में लोगों की दिनचर्या का हिस्सा है। इस मौसम को साल के सभी मौसम में सबसे प्यारा मौसम माना जाता है।

हेमंत ऋतू में दिनचर्या

हेमंत ऋतु (hemant ritu) में लोगों की दिनचर्या में हल्का बदलाव आता है। इस मौसम में लोग हलके गर्म कपड़े पहनते हैं। इस मौसम को सबसे अच्छा मौसम माना जाता है। इस ऋतू  में पेड़ पोधे काफी हरे भरे रहते हैं वही इस ऋतू में लोग भारी और ऊनी कपडे पहनना पसंद करते हैं ताकि से सर्दी से बच सके।

हेमंत ऋतू में वातावरण

हेमंत ऋतू में वातावरण की बात करे तो इस ऋतू में हमारे आसपास का वातावरण हरा-भरा होता है और यह काफी सुहावना भी होता हैं। हेमंत ऋतू के आते ही आपने आसपास देखा होगा की फूल खिलने लगते हैं और साथ ही उन फूलो में चमक आती है। हेमंत ऋतू में अक्सर सुबह के समय हल्का हल्का कोहरा पड़ता हैं। दिन की शुरुआत में आने वाली धुप भी काफी सुहावनी लगती है। हेमंत ऋतू में लोग धुप में घूमना ज्यादा पसंद करते हैं।

हेमंत ऋतु में मनाए जाने वाले त्योहार

हेमंत ऋतु की अक्टूबर से शुरू हो जाती हैं। इस ऋतु की शुरुआत से ही हम देखते हैं की हमारे आसपास कई प्रकार के त्यौहार मनाये जाते हैं। हेमंत ऋतू के समय में हिन्दू माह कार्तिक,अगहन और पौष मास पड़ते हैं जिसमे कार्तिक मास में औरते करवा चौथ मानती हैं और साथ ही लोग इस माह में धनतेरस, रुप चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा, भाई दूज आदि त्यौहार को एक साथ मना कर इन त्योहारों का आनंद लेते हैं।

हेमंत ऋतु का वातावरण

हमारे देश में हेमंत ऋतु (hemant ritu) के समय का मौसम काफी सुहावना होता है । इस मौसम का आनंद लेने के लिए कई लोग दुसरे देशो से भारत घूमने को आते हैं। यह मौसम किसानों के लिए काफी अच्छा होता है, इस मौसम में धान की फसल पूरी तरीके से पक कर तैयार हो जाती है। हेमंत ऋतु के इस समय में बादल एक प्रकार से कोमल रूप से धूप से बाहर आते हैं।

हेमंत ऋतू में हमे आसमान नीले रंग में काफी साफ़ और स्पस्ट दिखाई देता हैं। हेमंत ऋतू के मौसम में दिन छोटा और रात बड़ी होती हैं। गर्मी के मौसम में जहां दिन सुबह 5:30 के बाद उगने लगता है वह इस मौसम में दिन सुबह 7 बजे के बाद उगता हैं।

हेमंत ऋतु में रात के समय में हलकी हलकी बूंदा बांदी होती हैं। इस मौसम में रात में होने वाली बारिश को देसी भाषा में पाला गिरना कहते हैं वह राजस्थान और कई एनी राज्यों में इसे ओस गिरना भी कहते हैं।

निष्कर्ष

हेमंत ऋतु (hemant season essay in hindi) के समय का मौसम काफी ठंडा होता है। इस मौसम में दिन छोटा और रात बड़ी होती हैं। हेमंत ऋतु को चारो ऋतुओं में सबसे खूबसूरत ऋतु माना जाता है। हेमंत ऋतु के समय लोगो की दिनचर्या में भी काफी बदलाव देखने को मिलता है।

इन्हें भी पढ़ें

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here