एड़ी-चोटी का पसीना एक करना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

एड़ी-चोटी का पसीना एक करना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Edee-chotee ka paseena ek karana Muhavara ka arth)

एड़ी-चोटी का पसीना एक करना मुहावरे का अर्थ –घोर परिश्रम करना, खूब परिश्रम करना, कड़ा परिश्रम करना।

Edee-chotee ka paseena ek karana Muhavara ka arth –ghor parishram karana, khoob parishram karana, kada parishram karana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सुमन ने अपनी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए एड़ी-चोटी का पसीना एक कर दिया और उसे सफलता भी मिली।

वाक्य प्रयोग: सोहन ने अपनी दसवीं की कक्षा में भी एड़ी चोटी का पसीना एक कर दिया था उसने खूब परिश्रम किया और वह अपने परीक्षा में उत्तीर्ण भी सकता है ।

वाक्य प्रयोग: मोहन को सोहन ने कहा कि तुम कितनी भी एड़ी चोटी का पसीना एक कर लो तुम कभी भी सरकारी नौकरी प्राप्त नहीं कर पाओगे।

वाक्य प्रयोग: सोहन जो कि एक किसान है अपने जमीन के छोटे से टुकड़े में वह एड़ी चोटी का पसीना एक करता है लेकिन फिर भी वह अपने परिवार का पालन करने में असक्षम रहता है।

यहां हमने “एड़ी-चोटी का पसीना एक करना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। एड़ी चोटी का पसीना एक करना मुहावरे का अर्थ होता है घोर परिश्रम करना को परिश्रम करना कड़ी परिश्रम करना अर्थात जो व्यक्ति अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए एड़ी चोटी का पसीना एक करता है अर्थात घोर परिश्रम करता है तो उसके जीवन में सफलता निश्चित ही उसे मिलती है और हमें बड़े बुजुर्ग के द्वारा यही उद्देश्य मिलती है कि हमें अपने काम में पूरी तरह से मगन रहना चाहिए और अपनी एड़ी चोटी का पसीना एक करके अपने काम में सफलता को प्राप्त करना चाहिए। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आपे से बाहर होना आकाश-पाताल एक करना
आकाश-पाताल एक करना अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना
आपे से बाहर होना कठपुतली बनना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here