चिराग तले अँधेरा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

चिराग तले अँधेरा मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Chirag tale andhera muhavare ka arth)

चिराग तले अँधेरा मुहावरे का अर्थ – आवश्यक गुण की कमी होना।

Chirag tale andhera muhavare ka arth – avashyak gun ki kami hona.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सीता पढ़ने में तो बहुत ही तेज है लेकिन वह दूसरों को समझा नहीं पाती है ऐसी परिस्थिति में कहा जाता है चिराग तले अंधेरा होना अर्थात वह खुद तो काफी अच्छे से पढ़ाई तो समझ जाती है लेकिन दूसरे को समझाने में और समाज रहती है और समर्थ रहती।

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल एक बहुत बड़े पंडित हैं लेकिन उनका सुपुत्र एक बहुत बड़ा गुंडा है सोहनलाल ने अपने पुत्र को वह गुण नहीं दिया जो उनके अंदर मौजूद है ऐसी स्थिति में कहा जाता है चिराग तले अंधेरा होना।

वाक्य प्रयोग: रमेश एक बहुत बड़ा पुलिस ऑफिसर है मगर उसका बेटा एक गुंडा है रमेश अपने बेटे को वह गुण नहीं दे पाया जो कि उसके लिए आवश्यक था ऐसी स्थिति में कहा जाता है चिराग तले अंधेरा होना।

वाक्य प्रयोग: मोहन एक बहुत बड़ा कबड्डी का खिलाड़ी है लेकिन उसका भाई खेल से काफी दूर रहता है मोहन में जो गुण है उसके भाई मैं उन सभी गुणों की कमी है ऐसी स्थिति में ही कहा जाता है चिराग तले अंधेरा होना।

यहां हमने “चिराग तले अँधेरा” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। चिराग तले अंधेरा होना मुहावरे का अर्थ होता है कि आवश्यक गुण की कमी होना इसका उदाहरण है कि अक्सर हम देखते हैं कि जिन घरों में डॉक्टर हो इंजीनियर हो उनके घरों में सभी लोग डॉक्टर या इंजीनियर ही बनते हैं लेकिन यह जरूरी नहीं है कि सभी उनके घरों में डॉक्टर या इंजीनियर बने उनके घरों में दूसरे गुण भी पाए जाते हैं, जो कि डॉक्टर इंजीनियर में नहीं होते हैं ऐसी स्थिति में लोग कह देते हैं कि इनके घर में तो चिराग तले अंधेरा है। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आपे से बाहर होनाउड़ती चिड़िया के पंख गिनना
बड़ी बात होनाअपना घर समझना
आसमान सिर पर उठानाअक्ल चरने जाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here