चारपाई पकड़ना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

चारपाई पकड़ना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Charpai pakadna muhavare ka arth)

चारपाई पकड़ना मुहावरे का अर्थ – बहुत बीमार पड़ना।

Charpai pakadna muhavare ka arth – bahut bimar padnaa.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: आजकल लोग गलत खानपान के चक्कर में अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ करते हैं और उम्र से पहले ही चारपाई पकड़ कर बैठ जाते हैं।

वाक्य प्रयोग: सीता को किसी परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने की खबर से अचानक ही उसे चारपाई पकड़वा दिया।

वाक्य प्रयोग: सोहनलाल अपनी बूढ़ी मां का ध्यान नहीं रखता है जिस वजह से उसकी मां कई महीनों से चारपाई पकड़ी हुई है।

वाक्य प्रयोग: हमारे बड़े बुजुर्ग हमें यह समझाते हैं कि हमें अपने सेहत का सबसे पहले ध्यान रखना चाहिए ताकि हम स्वस्थ और निरोग जीवन जी सके लेकिन लोग अपने जी के स्वाद के लिए अपने सेहत का ध्यान नहीं रखते हैं जिस वजह से वह उम्र से पहले ही चारपाई पकड़ लेते हैं।

यहां हमने “चारपाई पकड़ना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। चारपाई पकड़ना मुहावरे का अर्थ होता है कि बहुत बीमार पड़ना। जब कोई व्यक्ति या फिर कोई इंसान अपने सेहत का ध्यान नहीं रखता है और ना ही स्वस्थ खाना और स्वस्थ जीवन जीता है तब उसका शरीर उसका साथ छोड़ देता है और जिस वजह से वह अत्यधिक बीमार पड़ जाता है। इसीलिए हमें हमारे बड़े बुजुर्ग समझाते हैं कि हमें हमेशा स्वस्थ और निरोग जीवन जीने के लिए हमें स्वस्थ भोजन को ग्रहण करना चाहिए और स्वस्थ जीवन अपनाना चाहिए नहीं तो हम जल्दी ही चारपाई पकड़ कर बैठ जाएंगे। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आपे से बाहर होनाउड़ती चिड़िया के पंख गिनना
बड़ी बात होनाअपना घर समझना
आसमान सिर पर उठानाअक्ल चरने जाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here