उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ulta chor kotavaal ko daante Muhavara ka arth)

उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे मुहावरे का अर्थ – दोषी होने पर भी दूसरे को दोषी बताना, स्वयं अपराधी होकर दूसरे को दोषी ठहराना।

Ulta chor kotavaal ko daante Muhavara ka arth – doshee hone par bhee doosare ko doshee bataana, svayan aparaadhee hokar doosare ko doshee thaharaana.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: सोहन जब ट्रेन में सफर कर रहा होता है तो उसका पॉकेट पार हो जाता है और वह अपना सारा गुस्सा अपनी बहन पर निकाल देता है यह तो वही बात हो गई उल्टा चोर कोतवाल को डांटे में अपना बटवा तो संभाल कर नहीं रख सकता और दोष अपनी बहन को दे रहा है।

वाक्य प्रयोग: सीता से 1 किलो दूध नीचे गिर गया और सीता ने अपनी सारी गलती दूसरे पर डाल दी इसे कहते हैं उल्टा चोर कोतवाल को डांटे उसने कहा कि बर्तन में तेल लगा था इसलिए यह बर्तन मुझ से नीचे गिर गया और इसमें तेल किसी और ने लगा दिया।

वाक्य प्रयोग: मोहन को परीक्षा में अच्छे नंबर नहीं आने पर उसने अपने शिक्षक पर दोष दे दिया, जबकि वह तो पूरे साल अच्छे से पढ़ाई की नहीं और जब परीक्षा में कम अंक आए तो उसने अपने शिक्षक पर दोष दे दिया कि वह अच्छे से पढ़ाई नहीं करवाती है इसे कहते हैं उल्टा चोर कोतवाल को डांटे।

वाक्य प्रयोग: सोहन को आज ट्रेन पकड़ना था लेकिन उसकी ट्रेन छूट गई क्योंकि वह लेट से ज्यादा था लेकिन उसने अपना सारा दोस्त अपनी मां पर डाल दिया कि आपकी वजह से मुझे लेट हो गया इसे कहा जाता है कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे खुद तो समय पर तैयार नहीं हुआ बाकी सारी गलती अपने मां पर डाल दी भी।

यहां हमने “उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। उल्टा चोर कोतवाल को डांटे मुहावरे का अर्थ होता है कि दोषी होने के बावजूद भी अपना दोस्त दूसरे को बताना या स्वयं अपराधी होकर भी दूसरे को दोषी ठहराना अक्सर लोग खुद गलती करते हैं लेकिन अपना सारा दोस्त दूसरों पर डाल देते हैं ताकि उसे लोग कुछ ना कहें जैसे कि सोहन ने पूरे वर्ष ठीक से पढ़ाई नहीं की लेकिन जब उसके मार्क्स काम आए तो उसने अपना सारा दोष अपने शिक्षक पर डाल दिया कि उसके शिक्षक ने उसे अच्छे से नहीं पढ़ाया इस वजह से उसके मार्क्स कमाए इस तरह के कई ऐसे उदाहरण आपको मिल जाएंगे जो कि इस मुहावरे का अर्थ सही से बताते हैं कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

आकाश-पाताल एक करना उड़ती चिड़िया के पंख गिनना
बड़ी बात होनाअपना घर समझना
अक्ल चरने जाना करारा जवाब देना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here