उगल देना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

उगल देना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Ugal dena Muhavara ka arth)

उगल देना मुहावरे का अर्थ – भेद खोल देना, भेद प्रकट कर देना, भेद प्रकट कर देना, गुप्त बात प्रकट कर देना, रहस्य या भेद खोल देना वास्तविकता प्रकट कर देना।

Ugal dena Muhavara ka arth – bhed khol dena, bhed prakat kar dena, bhed prakat kar dena, gupt baat prakat kar dena, rahasy ya bhed khol dena vaastavikata prakat kar dena.

दिए गए मुहावरे का हिंदी में वाक्य प्रयोग

वाक्य प्रयोग: हमें दूसरों के सामने अपने भेद प्रकट नहीं करना चाहिए क्योंकि दूसरों के सामने भेद प्रकट करने से हमारा नुकसान भी होता है, दूसरा व्यक्ति हमारे भेद को दूसरों के सामने उगल देते हैं।

वाक्य प्रयोग: सीता के सामने कोई भी बात या कोई भी रहस्य नहीं बताना चाहिए क्योंकि वह किसी के भी बात को दूसरों के सामने किसी के भी भेद को दूसरों के सामने उगल देती है।

वाक्य प्रयोग: मोहन अपने प्रिय मित्र सोहन को अपनी सारी बातें अपने सारे रहस्य बताता था लेकिन एक दिन उन दोनों के बीच झगड़ा हो गया और सोहन ने मोहन के सारे भेद को दूसरों के सामने उगल दिया।

वाक्य प्रयोग: हमारे बड़े बूढ़े हमें यह समझाते हैं कि हमें दूसरों के सामने अपने भेद प्रकट नहीं करना चाहिए चाहे वह व्यक्ति आपका कितना भी प्रिय क्यों ना हो लेकिन दूसरों को अपने रहस्य अपने गुप्त बातों को कभी नहीं बताना चाहिए, क्योंकि दूसरा व्यक्ति हमारे भेद को दूसरों के सामने उगल देते हैं।।

यहां हमने “उगल देना” जैसे बहुचर्चित मुहावरे का अर्थ और उसके वाक्य प्रयोग को समझा। उगल देना मुहावरे का अर्थ होता है कि भेद खोलना, भेद प्रकट करना, गुप्त बातें प्रकट करना, रहस्य भेद खोलना। जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति पर पूर्ण विश्वास करके अपना भेज अपना रहस्य बताता है और दूसरा व्यक्ति उस व्यक्ति के रहस्य या भेद को दूसरों के सामने खोल देता है तो ऐसी परिस्थिति में उस व्यक्ति का काफी नुकसान होता है और उसके भेद जाने के बाद लोग उसकी कमजोरी को भी जान जाते हैं इसीलिए हमें अपने प्रिय सर प्रिय व्यक्ति के सामने भी अपने गुप्त बातों को प्रकट नहीं करना चाहिए नहीं तो वह हमारे भेज दूसरों के सामने उगल देता है। चुकी यह मुहावरा है और मुहावरा और असामान्य अर्थ प्रकट करता है इसीलिए यहां इस मुहावरे का अर्थ दोहरा लाभ प्राप्त करने से हैं।

मुहावरे परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं। एक शब्द के कई मुहावरे हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए मुहावरे ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी किसी का भी मुहावरे पूछा जा सकता है।

मुहावरे का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में मुहावरे पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से मुहावरे बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुहावरे का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत में भी मुहावरे पूछे जाते हैं।

मुहावरे कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण मुहावरे और उनका वाक्य प्रयोग

अक्ल पर पत्थर पड़नाउड़ती चिड़िया के पंख गिनना
बड़ी बात होनाअपना घर समझना
आसमान सिर पर उठानाअक्ल चरने जाना

1000+ हिंदी मुहावरों के अर्थ और वाक्य प्रयोग का विशाल संग्रह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here