जिंदगी को खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं यह फिल्टर्स

जिंदगी को खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं यह फिल्टर्स (Take the filters to make Life Beautiful) – दोस्तों आज के समय में अपनी फोटो पर फ़िल्टर (Filter) लगाने का चलन बहुत तेज़ है। फिर चाहे वो इंस्टाग्राम (Instagram) हो या स्नैपचैट (Snapchat) और अब तो फेसबुक (Facebook) भी इस दौड़ में शामिल हो गया है। यह कहना भी गलत नहीं होगा कि इंस्टाग्राम अपने फ़िल्टर (Filter) फीचर के कारण ही इतना लोकप्रिय हुआ है।

हम सभी सोशल मीडिया (Social Media) में तो बहुत फ़िल्टर का इस्तेमाल करते हैं। क्यों न हम यह तय कर लें कि अपनी ज़िन्दगी में भी कुछ फ़िल्टर (Filter) लगायें। जी हाँ फ़िल्टर (Filter) से मेरा मतलब है कसौटी। इससे हमारा जीवन बहुत आसान हो जायेगा और जीवन में आगे बढ़ने के लिए यह बहुत जरुरी है कि हम फालतू बातों में अपना वक्त जाया न करें। इन फिल्टर्स (Filters) में पहला है सत्य (Truth), दूसरा अच्छाई (Goodness) और तीसरा उपयोगिता (Utility)। यानी जो बात आप सुन रहे हैं या किसी और को कह रहे हैं क्या वो इन तीन कसौटी पर खरी उतरती है या नहीं?

Take the filters to make Life Beautiful

इसे भी पढ़ें : सफलता के लिए जरूरी है आत्मसम्मान का महत्व, इन 5 तरीकों से होगा यह आसान।

जिंदगी को खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं यह फिल्टर्स (Take the filters to make Life Beautiful):

मैं अपनी यह बात आपको एक प्राचीन कहानी के माध्यम से बताना चाहूँगा।

यूनान में एक बहुत ही प्रसिद्ध दार्शनिक (Philosophical) हुआ सुकरात, यह घटना उनके जीवन से जुड़ी है। सुकरात के पास एक दिन उनका एक परिचित मित्र आया और बोला की “मैंने आपके मित्र के बारे में कुछ सुना है”। इस दौरान सुकरात अपने किसी काम में व्यस्त थे। उसने कहा की दो क्षण रूको मित्र, आप वो बात मुझे बताएं इससे पहले कि आप उसका एक छोटा सा परिक्षण कर लें। जिसेमें तीन कसौटी का परिक्षण कहता हूँ।

परिचित मित्र थोड़ा हैरान हुआ, सुकरात से पूछा कि कैसा परिक्षण? जिस पर सुकरात ने कहा कि जो बात आप मेरे मित्र के बारे में कहने जा रहे हो, क्या आप आश्वस्त हो कि यह बात पूर्णतया सत्य है? इस पर परिचित ने कहा “दरअसल मैंने ऐसा सुना है।”

इस पर सुकरात ने कहा ठीक है इसका मतलब आप पूरी तरह से आश्वस्त नहीं है कि जो आप कह रहे है वो सत्य है या नहीं।

सुकरात ने कहा चलिए अब इसे दूसरी कसौटी पर परखते है, जिसे मैं अच्छाई की कसौटी (Criterion) कहता हूँ। आप जो मेरे मित्र के बारे में जो बताने जा रहे है क्या उसमें कोई अच्छी बात है? इस पर परिचित ने कहा “नहीं, बल्कि वह तो….”

सुकरात ने कहा की इसका मतलब जो आप मुझे बताने जा रहे थे इसको लेकर आप न तो आश्वस्त है कि वो सत्य है या नहीं और न ही उसमें कुछ अच्छाई है।

लेकिन फिर भी कोई बात नहीं चलिए अब इस पर तीसरी कसौटी (Criterion) का प्रयोग करते है वह है उपयोगिता की कसौटी।

अब आप यह बताइये कि जो बात आप मुझे कहने जा रहे है क्या वह मेरे किसी काम की है? इस बार परिचित ने थोड़ा असहज होकर कहा “नहीं तो नहीं है”।

इस पर सुकरात ने कहा “जो आप मुझे बताने वाले है वह न तो सत्य है, न ही उसमें भलाई और न ही वह मेरे किसी काम आने वाली है। तो उसे जानने में मैं अपना कीमती समय क्यों बर्बाद करूँ?”

इसे भी पढ़ें : कैसे बढ़ाएं अपनी एकाग्रता की शक्ति और दिमाग का पॉवर।

दोस्तों इस कहानी के माध्यम से मैं आपको यह कहना चाहता हूँ न जाने हमारे जीवन में ऐसे कितने लोगों से पाला पड़ता है। इनकी कही बातों का हमारे मन पर नकारात्मक (Negative) प्रभाव पड़ता है। अगर हम भी किसी भी बात को सुनने या कहने से पहले अगर इन तीन फ़िल्टर (Filter) का इस्तेमाल करें तो हमारा जीवन कितना शांतिपूर्ण हो सकता है।

इस नकारात्मकता (Negative) के कारण हमारी बहुत सी उर्जा व्यर्थ चली जाती है। हम अपना अधिकतर समय और उर्जा को ऐसी समस्याओं को सुलझाने में व्यर्थ कर देते है जो वास्तव में समस्या है ही नहीं। इसलिए व्यर्थ के कामों में अपने समय और ऊर्जा को लगाने से बेहतर है कि उनका समाधान (Solution) करने में लगायें जो असली समस्याएँ है।

अगर हमारी उर्जा और समय फालतू खर्च न हो तो उसका उपयोग हम सकारात्मकता (आदतें जो आपको सकारात्मक बनाने में मदद करेगी) लाने में कर सकते है। जो हमारे जीवन में आगे बढ़ने में बहुत उपयोगी है। मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि हमारे जीवन की 90 प्रतिशत परेशानियाँ खत्म हो जाएगी अगर हम इन फिल्टर्स (Filters) का इस्तेमाल करें तो।

इसे भी पढ़ें: सफल वही होते है जो कुछ अलग करते है, जानिये कैसे पैदा करें यूनिक सोच।

मेरी यह जानकारी “जिंदगी को खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं यह फिल्टर्स (Take the filters to make Life Beautiful)” पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर जरूर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here