शाहबाज़ शरीफ का जीवन परिचय

Shahbaz Sharif Biography in Hindi: शाहबाज़ शरीफ एक पाकिस्तानी राजनेता के साथ-साथ एक बिजनेसमैन भी है। पूर्व प्रधान मंत्री मोहम्मद नवाज़ शरीफ के छोटे भाई है। शाहबाज़ शरीफ पाकिस्तान के राजनीतिक दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के सबसे बड़े नेता है।

Shahbaz-Sharif-Biography-in-Hindi
Image : Shahbaz-Sharif-Biography-in-Hindi

इमरान खान के प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद शाहबाज शरीफ पाकिस्तान में प्रधान मंत्री पद चुने गये है। शाहबाज़ शरीफ पाकिस्तान के पंजाब के 3 बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। पंजाब शहर को विकसित करने के लिए उन्होंने मेट्रो बस और लैपटॉप योजना जैसी परियोजनाएं शुरू की थी। इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको शाहबाज़ शरीफ का जीवन परिचय के बारे में विस्तारपूर्वक बताएँगे।

शाहबाज़ शरीफ का जीवन परिचय (Shahbaz Sharif Biography in Hindi)

असली नाममियां मुहम्मद शाहबाज़ शरीफ
निक नेम एसएस (SS)
जन्म तारीख23 सितंबर 1951
जन्म स्थानलाहौर, पंजाब, पाकिस्तान
पिता का नाममोहम्मद शरीफ
माता का नामशमीम अख्तर
भाई के नामनवाज शरीफ और अब्बास शरीफ
शिक्षास्नातक (बीए)
धर्मसुन्नी इस्लाम
पेशाबिज़नेस मैन और राजनेता
राजनीतिक दलपाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन)
पत्नीबेगम नुसरत शाहबाज (शादी 1973-1993 मृत्यु तक)
आलिया हनी (शादी 1993-1994)
तहमीना दुर्रानी (शादी 2003) 
संतानबेटे: सलमान, हमजा 
बेटियाँ: खदीजा शाहबाज़, जावेरिया और राबिया
नेट वर्थलगभग 700 करोड़ रुपये

शाहबाज़ शरीफ का जन्म और प्रारंभिक जीवन

शाहबाज़ शरीफ का जन्म 23 सितंबर 1951 को पंजाब, लाहौर, पाकिस्तान में हुआ है। शाहबाज़ कश्मीरी परिवार से ताल्लुख रखते है और उनकी बोली पंजाबी है।

शाहबाज़ शरीफ के पिता का नाम मोहम्मद शरीफ है। मोहम्मद शरीफ पाकिस्तान के एक सफल बिज़नेस मैन है। उनकी माता का नाम शमीम अख्तर है। शाहबाज़ के दो भाई है। बड़े भाई का नाम है नवाज शरीफ है, जो पाकिस्तान के तीन बार पूर्व प्रधानमंत्री रह चुके है। उनके दूसरे भाई का नाम अब्बास शरीफ है।

20 वीं शताब्दी की शुरुआत में शाहबाज़ शरीफ के पिता कश्मीर के अनंतनाग से आकर पंजाब के अमृतसर जिले के जाति उमरा गाँव में बस गए थे और उनकी मां का परिवार पुलवामा से आया था। साल 1947 में जब भारत पाकिस्तान अलग हुए तब उनका पूरा परिवार पंजाब से लाहौर में चला गया।

शाहबाज़ शरीफ की शैक्षिक योग्यता

शाहबाज़ शरीफ ने अपनी प्रारंभिक अपनी शिक्षा लाहौर से ही पूरी की। उसके बाद उन्होंने लाहौर के गवर्नमेंट कॉलेज यूनिवर्सिटी से आर्ट्स में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। उन्होंने पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने परिवार के बिज़नेस इत्तेफाक समूह में शामिल हो गए और उन्हें साल 1985 में लाहौर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री का अध्यक्ष चुना गया।

शाहबाज़ शरीफ का राजनीतिक सफर

अपने राजनीतिक करियर में उन्होंने काफी चढ़ाव उतार देखे हैं। शाहबाज़ शरीफ की राजनीतिक यात्रा साल 1988 में लाहौर विधानसभा से चुनाव जीतने के बाद शुरू हुई। साल 1990 में शाहबाज़ ने एक बार फिर चुनाव जीत लिया। साल 1993 उनके लिए काफी फायदेमंद साबित हुआ। इस साल उन्होंने दो चुनाव जीते, एक विधानसभा का और दूसरा नेशनल असेंबली का। लेकिन उन्होंने विधान सभा की सीट को पसंद किया।

साल 1997 में उन्होंने पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) से चुनाव लड़कर जीत हांसिल की और इस बार उन्हें पंजाब प्रांत का मुख्यमंत्री बनाया गया। साल 1999 में जनरल परवेज मुशर्रफ ने तख्तापलट कर उनकी सरकार को अपदस्थ कर दिया, जिसके चलते पूरे परिवार के साथ उन्हें सऊदी अरब में रहना पड़ा। साल 2007 में वो पाकिस्तान लौट आये।

साल 2008 में उन्होंने फिर से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2008 और 2013 में भी शाहबाज़ शरीफ़ पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री रहे। मुख्यमंत्री के रूप में पंजाब प्रान्त को विकसित करने के लिए उन्होंने काफी अच्छे काम किये और जनता ने भी उनकी खूब सराहना की।

साल 2018 में पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज शरीफ पार्टी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद के लिए उन्हें चुना लेकिन वो इमरान खान के सामने हार गए, तब से लेकर अब तक शाहबाज़ शरीफ विपक्ष के नेता है।

यह भी पढ़े: नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

शाहबाज़ शरीफ़ का वैवाहिक जीवन

अपनी शादियों की वजह से शाहबाज़ हमेशा चर्चे में रहे है। कई पाकिस्तानी रिपोर्ट के अनुसार शाहबाद अब तक 5 बार शादी कर चुके है लेकिन आधिकारिक रूप में उनकी तीन शादी दर्ज गई है। शाहबाज़ शरीफ़ ने तीन शादियां की है। पहली शादी उन्होंने साल 1973 में बेगम नुसरत से की, जिससे उनके तीन बेटियां और दो बेटे थे।

बेगम नुसरत की मौत के बाद दूसरी शादी उन्होंने साल 1993 में आलिया हनी से की, जिनसे उनकी एक बेटी थी। एक साल के बाद उन्होंने आलिया को तलाक दे दिया। तीसरी शादी उन्होंने साल 2003 में तहमीना दुर्रानी से की।

पहली शादी से हुआ उनका एक बेटा हमजा शरीफ जो एक राजनेता है, जो अपने पिता से मिली राजनीतिक विरासत को संभाल रहे हैं। वहीं, दूसरा बेटा सुलमान एक बिजनेसमैन हैं, जो लंदन में रहता है।

शाहबाज़ शरीफ़ की नेटवर्थ

राजनेता के साथ साथ शाहबाद एक सफल बिज़नेस मैन भी है और संयुक्त रूप से इत्तेफाक समूह के मालिक हैं। साल 2013 में शाहबाज़ अपने बड़े भाई नवाज से 336.9 मिलियन पाकिस्तानी रुपये के साथ अमीर था। एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने 30 साल में 20 लाख से 700 करोड़ रुपये की नेटवर्थ बना ली है।

FAQ

शाहबाज़ शरीफ कौन है?

शाहबाज़ शरीफ एक पाकिस्तानी राजनेता, बिजनेसमैन, पूर्व प्रधान मंत्री मोहम्मद नवाज़ शरीफ के छोटे भाई और पाकिस्तान के राजनीतिक दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के सबसे बड़े नेता है।

शाहबाज़ शरीफ की नेटवर्थ कितनी है?

एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2020 में उनकी नेटवर्थ लगभग 700 करोड़ रुपये है।

शाहबाज़ शरीफ की कितनी पत्नियां है?

कई पाकिस्तानी रिपोर्ट के अनुसार शाहबाद अब तक 5 बार शादी कर चुके है लेकिन आधिकारिक रूप में उनकी तीन शादी दर्ज गई है। बेगम नुसरत शाहबाज (शादी 1973-1993 मृत्यु तक), आलिया हनी (शादी 1993-1994) और तहमीना दुर्रानी (शादी 2003) 

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी शाहबाज़ शरीफ का जीवन परिचय (Shahbaz Sharif Biography in Hindi) पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर करें।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here