व्लादिमीर पुतिन का जीवन परिचय

Biography of Vladimir Putin in Hindi: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दुनिया के सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली व्यक्तियों में शामिल है और वर्तमान समय में पूरे विश्व भर में इस रशियन राष्ट्रपति की चर्चा हो रही है। जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं व्लादिमीर पुतिन युद्ध का ऐलान कर दिया है और यह युद्ध रशिया और यूक्रेन के बीच शुरू हो चुका है।

रूस और यूक्रेन के बीच इस युद्ध को लेकर संपूर्ण विश्व भर में रूस चर्चा का विषय बन चुका है और इसी युद्ध को लेकर पूरे दुनिया भर में लोग रूस के राष्ट्रपति के विषय में जानने के लिए बहुत ही ज्यादा इच्छुक हो रहे हैं।

रूस के द्वारा यूक्रेन पर लगातार हमले किए जा रहे हैं और यूक्रेन पीछे नहीं है। यूक्रेन ने इस युद्ध को स्वीकार किया है और लगातार युद्ध में बमबारी किए जा रहा है। इसी को लेकर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बहुत ही ज्यादा क्रोधित हुए हैं और यूक्रेन को नष्ट करने पर आ गए हैं।

Biography of Vladimir Putin in Hindi
Image: Biography of Vladimir Putin in Hindi

रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण भारत ही नहीं बल्कि भारत के साथ-साथ विश्व के कई देश इस मामले पर आपत्ति जता रहे हैं और कहीं ना कहीं अन्य देशों को भी इस युद्ध के गलत परिणाम देखने को मिल रहे हैं। इस युद्ध का ऐलान यूक्रेन की तरफ से नहीं बल्कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के द्वारा ही किया गया है और इस युद्ध में रूस के राष्ट्रपति बिल्कुल भी पीछे नहीं हट रहे हैं।

व्लादिमीर पुतिन को पूरे विश्व भर में अपनी निर्भरता और फिटनेस के लिए जाना जाता है। हालांकि व्लादीमीर पुतिन की उम्र लगभग 70 वर्ष है और यह सोवियत संघ की गुप्तचर संस्था के अधिकारी भी हैं। आज के इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से हम सभी लोग रशियन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के जीवन परिचय (Vladimir Putin in Hindi) के विषय में जानेंगे और इनके जीवन से संबंधित सभी जानकारियां विस्तार से पढेंगे।

व्लादिमीर पुतिन का जीवन परिचय | Biography of Vladimir Putin in Hindi

व्लादिमीर पुतिन की जीवनी संक्षिप्त में (Vladimir Putin Biography in Hindi)

नामव्लादीमीर पुतिन
जन्म और जन्म स्थान7 अक्टूबर 1952, सेंड पीटर्स वर्ग
पिता का नामव्लादीमीर स्पिरीदोनोविच पुतिन
माता का नाममारिया सेलोमोवा
पत्नी का नामल्युडमिला
बच्चेमारिया पुतिन (बेटी), एकातेरिना पुतिन (बेटी)
उम्र70 वर्ष
राजनीतिक की शुरुआत1990
धर्मईसाई
राष्ट्रपति कार्यकालपहला कार्यकाल- 2000-2004
दूसरा कार्यकाल- 2004-2008
तीसरा कार्यकाल- 2012-2018
चौथा कार्यकाल- 2018-अभी तक
Vladimir Putin Biography in Hindi

व्लादिमीर पुतिन कौन है? (Vladimir Putin Koun Hai)

व्लादीमीर पुतिन रशिया के राष्ट्रपति है और इन्होंने रसिया को विकास के सर्वोच्च शिखर तक पहुंचाया और इस दुनिया के सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली देशों की लिस्ट में शामिल कर दिया है। व्लादिमीर पुतिन रशिया के राष्ट्रपति के रूप में वर्ष 2000 से कार्यरत हैं और इनके कार्यप्रणाली और शैली को देखते हुए वहां की जनता सदैव व्लादीमीर पुतिन को ही चुनती है और व्लादीमीर पुतिन भी अपनी राष्ट्रभक्ति को दिखाते हुए सदैव अपने जनता के हित के लिए ही काम किया करते हैं।

यही कारण है कि वर्ष 2000 से अब तक लगातार रूस के राष्ट्रपति बने रहे। हालांकि बीच में 4 वर्षों के लिए किन्हीं कारण वश इन्हें राष्ट्रपति के पद से हटा दिया गया था परंतु इन्हें वापस से राष्ट्रपति बना दिया गया। क्योंकि जनता को ऐसा लगने लगा था, यदि व्लादीमीर पुतिन राष्ट्रपति नहीं होंगे तो रसिया का विकास रुक जाएगा।

व्लादिमीर पुतिन अपने राजनीतिक शक्ति के कारण पूरे विश्व भर में खुद को शक्तिशाली घोषित कर दिया है और वर्तमान समय में संयुक्त राष्ट्र संघ अमेरिका भी रूस से टक्कर लेने में खुद को कमजोर समझता है। रूप भले ही एक छोटा सा देश हो परंतु वहां पर टेक्निकल विकास काफी ज्यादा है और इन्हीं कारणों की वजह से पूरा विश्व डरता है।

इतना ही नहीं रूस के शक्तिशाली होने का कारण भी व्लादीमीर पुतिन ही है। क्योंकि इन्होंने वहां की शिक्षा और व्यवस्था को इतनी ज्यादा बढ़ा दिया है कि वहां का हर एक बच्चा देश की तरक्की में अपना हाथ बता रहा है।

व्लादिमीर पुतिन का जन्म

व्लादिमीर पुतिन रूस के एक मध्यमवर्गीय और रूढ़िवादी परिवार में जन्म लिए एक बहुत ही समझदार और होशियार बालक थे। इनका जन्म सेंट पीटर्स वर्ग नामक स्थान पर 7 अक्टूबर 1952 ईस्वी में हुआ था। व्लादिमीर पुतिन के पिता रशियन सेना में जवान थे। व्लादीमीर के पिता द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान दुश्मनों को धूल चटा दिए थे और युद्ध समाप्ति के बाद पूरा रूस बिखर गया था, जिसके कारण इन्हें कारखाने में भी काम करना पड़ा था।

व्लादीमीर पुतिन अपने माता-पिता के तीसरी संतान है और सबसे संतान है और व्लादीमीर के जन्म के कुछ ही वर्षों बाद इनके दोनों बड़े भाइयों की मृत्यु हो गई और यह अपने माता-पिता के अकेले बेटे हो गए।

व्लादीमीर ने अपने पिता को देखते हुए सेना में भर्ती होने का निर्णय लिया और देश सेवा करना चाहते थे। परंतु यह सेना में तो भर्ती नहीं हो सके फिर भी देश सेवा के लिए राजनीति को चुना और अपने देश प्रेम के चलते आज भी रूस के राष्ट्रपति हैं।

यह भी पढ़े: रूस का इतिहास और रोचक तथ्य

व्लादीमीर पुतिन के माता-पिता

व्लादिमीर पुतिन के पिता का नाम व्लादिमीर स्पीरीदोनोबीच था, जो रशियन सेना में जवान थे। इन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान डटकर दुश्मनों का सामना भी किया। इसके अलावा व्लादीमीर पुतिन के माता का नाम मारिया सोलोमिया था, जो एक हाउसवाइफ थी।

व्लादीमीर पुतिन को प्राप्त शिक्षा

वैसे तो रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के शिक्षा के विषय में कोई विशेष जानकारी प्राप्त नहीं है। फिर भी कुछ जानकारियों के मुताबिक व्लादिमीर पुतिन ने अपने शिक्षा को रूस के एक चर्चित विश्वविद्यालय लेनिनग्राड राजकीय विश्वविद्यालय से पूरा किया है और इसी विद्यालय से उन्होंने स्नातक की डिग्री भी प्राप्त की है।

व्लादिमीर पुतिन ने शिक्षा को पूरा करने के बाद रूस के एक गुप्तचर संस्था मे भी कार्य किया है और इसके बाद उन्होंने अपनी देश प्रेम के कारण राजनीति में कदम रखे और रूस को ऊंचाइयों तक पहुंचाया।

व्लादीमीर पुतिन का व्यक्तिगत जीवन

व्लादिमीर पुतिन के ऊपर इनकी पत्नी ने बहुत से घिनौने इल्जाम लगाए थे, जिसके कारण इनका पूरा जीवन बदल ही गया था। इनकी पत्नी का नाम ल्युडमिला था और व्लादीमीर पुतिन का विवाह इन से 28 जुलाई 1983 को हुआ था। व्लादीमीर पुतिन को इनकी पत्नी से दो पुत्रियों की प्राप्ति हुई, जिनका नाम मारिया पुतिन और येकातेरिना पुतिन था।

व्लादिमीर पुतिन पर इनकी पत्नी ने इल्जाम लगाते हुए कोर्ट में कहा था कि इनका किसी अन्य महिला के साथ प्रेम संबंध है और इतना ही नहीं बहुत सी महिलाओं के साथ इनका शारीरिक संबंध भी है। इसके अलावा इनकी पत्नी का कहना था कि पुतिन इन्हें प्रतिदिन मारा-पीटा करते थे।

इसका विरोध करते हुए व्लादिमीर ने अपने पक्ष में कहा कि यह बिल्कुल गलत है और यह कभी भी अपनी पत्नी पर हाथ नहीं उठाए थे। व्लादीमीर के चाहने वालों ने इस बात को मानने से बिल्कुल इनकार कर दिया था और व्लादिमीर के पक्ष में खड़े हो गए, जिसके कारण बाद में उनकी पत्नी को बिना इनके ज्यादा से एक भी पैसा मिले बेदखल कर दिया गया।

व्लादीमीर पुतिन का राजनीतिक करियर

व्लादीमीर पुतिन ने 1990 ईस्वी में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत लेनिनग्राड के मेयर के रूप में की थी। इसके बाद अपने करियर में आगे बढ़ते हुए व्लादिमीर पुतिन ने साल 1996 ईस्वी में पीटर्सवर्ग में कई सरकारी पदों पर भी कार्य किया है।

1996 ईस्वी के बाद व्लादिमीर पुतिन ने मास्को जाने का फैसला किया और मास्को चले गए और वहां के तत्कालीन राष्ट्रपति के प्रशासन कार्यालय में कार्य करने लगे। यहां से इन्होंने और राष्ट्रपति की सभी नियमों को और राष्ट्रपति के कार्यों को भलीभांति समझा।

1998 आते-आते व्लादीमीर पुतिन रूस सुरक्षा संघ के सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य बन गए थे। 1999 ईस्वी में इनका प्रमोशन हुआ और उसी परिषद के सचिव के रूप में कार्य करने लगे।

1999 ईस्वी में व्लादिमीर पुतिन को रूस के तीन उप प्रधानमंत्रियों में से एक नियुक्त किया गया और इस पद पर कार्यरत रहते हुए व्लादिमीर पुतिन ने अपने सभी क्रियाकलापों को पूरे ईमानदारी के साथ किया था और वहां के तत्कालीन राष्ट्रपति के समय से पहले ही इस्तीफा देने के कारण रूस के राष्ट्रपति के रूप में व्लादिमीर पुतिन को नियुक्त किया गया।

उन्होंने उन्हें कुछ समय में अपने कार्य को इतना अच्छे तरीके से किया कि लोगों ने इन्हें अपना परमानेंट राष्ट्रपति बनाने का फैसला कर लिया और यही कारण है कि तब से लेकर अब तक व्लादिमीर पुतिन ही रूस के राष्ट्रपति हैं।

Biography of Vladimir Putin in Hindi01
व्लादिमीर पुतिन और नरेन्द्र मोदी

व्लादिमीर पुतिन का राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल

व्लादीमीर पुतिन 1999 से सन 2000 तक राष्ट्रपति के इस्तीफा देने के कारण राष्ट्रपति पद पर नियुक्त रहें और अपने कार्य की वजह से इन्हें वर्ष 2000 के चुनाव में राष्ट्रपति नियुक्त किया गया। इसके बाद इन्हें दूसरी बार भी वर्ष 2004 में राष्ट्रपति नियुक्त किया गया, जो कि लगभग वर्ष 2008 तक राष्ट्रपति थे।

वर्ष 2008 में किन्हीं कारणों की वजह से इन्हें राष्ट्रपति नियुक्त नहीं किया जा सका और 4 वर्षों के लिए कोई अन्य राष्ट्रपति पद पर नियुक्त था। इसके बाद वर्ष 2012 में फिर से व्लादीमीर को राष्ट्रपति नियुक्त कर दिया गया और इसके बाद वर्ष 2018 में फिर से इन्हें एक बार और राष्ट्रपति नियुक्त किया गया और तब से लेकर अब तक व्लादिमीर पुतिन ही राष्ट्रपति पद पर कार्यरत हैं।

व्लादीमीर पुतिन के विषय में रोचक तथ्य

  • व्लादीमीर पुतिन को खुद को फिट रखने चाहा है और इसी कारण चाहिए प्रतिदिन योगा और जिम करते हैं।
  • हालांकि व्लादीमीर की उम्र लगभग 70 वर्ष है, फिर भी यह पूरी तरह से फिट हैं और लॉगइन के फिटनेस की मिसाल देते हैं।
  • व्लादीमीर पुतिन रूस के रहते हुए भी जर्मनी भाषा के विशेष ज्ञाता है और गद्दी संभालने के बाद उन्होंने अंग्रेजी भाषा भी सीखना शुरू कर दिया और इंटरनेशनल लैंग्वेज के भी ज्ञाता हो गए।
  • व्लादिमीर पुतिन की फिटनेस इतनी ज्यादा अच्छी है कि यह बड़े से बड़े जंगली जानवरों को भी धूल चटा देते हैं।
  • व्लादीमीर पुतिन इन सबके अलावा खाली समय में संगीत सुनने का काफी शौक है और इसके साथ साथ म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी है।

FAQ

रूस के राष्ट्रपति कौन है?

व्लादीमीर पुतिन

रूस के प्रधानमंत्री कौन है?

मिखाइल मिशुस्टिन

पुतिन रूस के राष्टपति कब बने?

वर्ष 2000 में

निष्कर्ष

हम उम्मीद करते हैं कि आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख व्लादिमीर पुतिन का जीवन परिचय (Vladimir Putin ki Jivani) अवश्य ही पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख वाकई में पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल भी ना भूलें।

यह भी पढ़े

लता मंगेशकर का जीवन परिचय

गंगूबाई काठियावाड़ी का जीवन परिचय

हरनाज कौर संधू का जीवन परिचय

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here