समीक्षा अधिकारी क्या होता है? (कार्य, योग्यता, उम्र, वेतन, कैसे बने)

आज लोग विभिन्न प्रकार के सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करते रहते है। सरकारी नौकरी का चलन दिन पर दिन भारत में बढ़ता जा रहा है। उत्तर प्रदेश में विभिन्न प्रकार के सरकारी नौकरी के लिए विभिन्न परीक्षा आयोजित करवाई जाती है। उनमें से एक प्रचलित परीक्षा उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा है, जिसमें समीक्षा अधिकारी की नौकरी दी जाती है।

अगर आप इस संस्था के द्वारा आयोजित सहायक समीक्षा अधिकारी या समीक्षा अधिकारी के पद के लिए चयनित होते हैं, तो आप अपने करियर के एक सुरक्षित और अच्छी तनख्वाह पाने वाले नौकरी को पा सकेंगे।

samiksha adhikari kya hota hai

हर कोई इसके महत्व को समझता है। इस वजह से आज के लेख में हम समीक्षा अधिकारी क्या है, RO कैसे बने, वेतन, योग्यता क्या है, इसके बारे में विस्तार पूर्वक सरल शब्दों में जानकारी व्यक्त करने जा रहे है। 

किसी भी नौकरी को पाने से पहले यह आवश्यक है कि आप उस नौकरी के बारे में अच्छे से जानकारी एकत्रित कर ले। इस वजह से हम आज के लेख में समीक्षा अधिकारी कैसे बने?, इसके वेतन योग्यता और इससे जुड़े अन्य प्रकार के प्रश्नों का उत्तर सरल शब्दों में देने वाले हैं। 

समीक्षा अधिकारी क्या होता है? (कार्य, योग्यता, उम्र, वेतन, कैसे बने)

समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

उत्तर प्रदेश के विभिन्न राजस्व विभाग जैसे सचिवालय लोकसभा लोक सेवा आयोग के कार्यालय में जितने भी प्रश्न पत्र और अन्य प्रकार के पत्र आते रहते हैं, उन सब को एकत्रित करना, उन सब का जवाब लिखना, उन सबको दिनांक अनुसार रखना, इन सब के लिए समीक्षा अधिकारी को चुना जाता है।

लोक सेवा आयोग के द्वारा चयन हेतु एक प्रतिष्ठित पद है, जिसे मुख्य रूप से पूछे जाने वाले सवालों का जवाब देने के लिए चुना जाता है। अगर आप सवालों का सही तरीके से जवाब देने में प्रांगत है, तो यह नौकरी आपके लिए एक बेहतर नौकरी साबित हो सकती है।

उत्तर प्रदेश में समीक्षा अधिकारी की नौकरी के लिए चयन प्रक्रिया लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित करवाई जाती है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग प्रत्येक साल समीक्षा अधिकारी के लिए परीक्षा आयोजित करवाता है। जिस परीक्षा को पास करने के बाद एक अच्छी तनख्वाह वाली सुरक्षित नौकरी आपको उत्तर प्रदेश राजस्व सरकार द्वारा संचालित विभिन्न विभागों में मिल जाएगी।

समीक्षा अधिकारी का मुख्य कार्य क्या होगा है?

बहुत सारे लोग यह नहीं जानते कि समीक्षा अधिकारी को मुख्य रूप से क्यों चयनित किया जाता है? इसके कार्य और कर्तव्य क्या है? अगर आप इस नौकरी को पाना चाहते हैं, तो आपको इसके द्वारा किए जाने वाले कार्य और इसकी अहम भूमिका के बारे में जानकारी होनी चाहिए। जिसे हमने सरल शब्दों में नीचे समझाया है। 

  • उत्तर प्रदेश राजस्व सरकार के विभिन्न विभाग में अलग-अलग प्रकार के पत्र आते हैं, जिनको एकत्रित करना और दिनांक में अंकित करना और विभिन्न पत्र पंजियों का रखरखाव करना इस पद का मुख्य कर्तव्य होता है।
  • उत्तर प्रदेश के विभिन्न सचिवालय भवन, लोक सेवा आयोग भवन, लोकसभा और विधानसभा जैसे जगहों पर आने वाले प्रश्नों और विभिन्न पत्रों का उत्तर देना भी इस अधिकारी का कार्य होता है।
  • पत्रों का निर्गमन होने से पूर्व उनका सही तरीके से जांच करना और आने वाले सही पत्रों को सही तरीके से परखना एक समीक्षा अधिकारी का कार्य होता है। 

इस कार्य के लिए समीक्षा अधिकारी के साथ विभिन्न सहायक समीक्षा अधिकारी कार्य करते हैं। वह सभी लोग किस प्रकार कार्य कर रहे हैं?, किस तरह के पत्रों को कैसे रखरखाव कर रहे हैं?, साथी पत्रों का क्या उत्तर जा रहा है? और पत्रों के निर्गम से पूर्व उनको सही तरीके से जांचा परखा जा रहा है या नहीं?, इन सभी चीजों को सुपरवाइज करना एक समीक्षा अधिकारी का कार्य होता है।

समीक्षा अधिकारी की योग्यता

समीक्षा अधिकारी बनने के लिए सबसे पहले आपको योग्यता पार करनी होगी। जितने लोग समीक्षा अधिकारी की योग्यता पर सटीक उतरेंगे केवल वही समीक्षा अधिकारी के लिए आवेदन कर सकते है। समीक्षा अधिकारी बनने के लिए मुख्य रूप से आपको शिक्षण योग्यता और शारीरिक दक्षता की योग्यता में योग्य होना होगा।

समीक्षा अधिकारी के लिए शिक्षण योग्यता

समीक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं तो सबसे पहले 10वीं और 12वीं की परीक्षा को पास करते हुए अपनी प्रारंभिक शिक्षा को पूर्ण करना है।

इसके बाद स्नातक शिक्षा प्राप्त करनी है। जिस प्रक्रिया में आप किसी भी स्ट्रीम और किसी भी संस्था से स्नातक शिक्षा पूर्ण कर सकते हैं। जिसे पूर्ण करने के बाद आपको यूपी लोक सेवा आयोग की परीक्षा के लिए आवेदन करना है।

समीक्षा अधिकारी के लिए उम्र सीमा

इस नौकरी को पाने के लिए उम्र के अलावा कोई भी शारीरिक दक्षता नहीं रखी गई है। उम्र सीमा की बात की जाए तो न्यूनतम 21 वर्ष की उम्र सीमा होनी चाहिए। 

  • सामान्य वर्ग के लिए न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 37 वर्ष।
  • SC/ST के लिए न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 42 वर्ष।
  • OBC के लिए न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष।

समीक्षा अधिकारी कैसे बने?

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद आप समीक्षा अधिकारी की नौकरी करना चाहते हैं, तो इसके लिए नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करने की आवश्यकता है।

Step 1 – किसी भी विषय से स्नातक की पढ़ाई पूर्ण करें 

इस नौकरी को पाने के लिए सबसे पहले आपको 10वीं और 12वीं की परीक्षा पास करके अपनी प्रारंभिक शिक्षा खत्म करनी है जिसके बाद स्नातक की शिक्षा पानी है। जिसे आप किसी भी विषय और संस्था से कर सकते है। आपको केवल स्नातक और 10वीं, 12वीं की परीक्षा में पास होना है। कोई न्यूनतम अंक सीमा नहीं रखी गई है।

Step 2 – उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा के लिए आवेदन करें 

जिस प्रकार लोक सेवा आयोग राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न प्रकार की परीक्षा आयोजित करवाती है, उसी प्रकार प्रत्येक राज्य के लिए अलग-अलग परीक्षा भी आयोजित करवाती है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा हर साल समीक्षा अधिकारी के लिए उनके आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड की जाती है। जब इस नौकरी के लिए आवेदन प्रक्रिया भरने का समय वेबसाइट पर अपलोड किया जाए तो वहां से आपको इस परीक्षा के लिए आवेदन करना है।

Step 3 – लोक सेवा आयोग की परीक्षा को चार स्तर पर पास करें 

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा चार स्तर पर होगी, जिसमें पहला अस्तर आपके सामान्य ज्ञान के लिए होगा। जिसके बाद सामान्य हिंदी परीक्षा होगी, जिसमें विलोम शब्द पर्यायवाची शब्द जैसे कुछ प्रश्न पूछे जाएंगे।

इसके बाद आपको हिंदी व्याकरण की परीक्षा पास करनी होगी, जिसके बाद पत्र लेखन और लेख लेखन की परीक्षा होगी। इन चार स्तर पर परीक्षाओं को पास करते हुए आप इंटरव्यू तक पहुंचेंगे, जहां आपको समीक्षा अधिकारी की नौकरी दी जाएगी।

Step 4 – प्रत्येक परीक्षा को पास करते हुए नौकरी हासिल करें 

हमने आपको सामान्य ज्ञान और हिंदी के बारे में बताया। जिस की परीक्षा चार विभिन्न स्तर में ली जाएगी। जिसे पूरी तरह पास करने के बाद आप उत्तर प्रदेश के विभिन्न राजस्व विभाग में समीक्षा अधिकारी बनने के लिए ने पूर्ण हो जाएंगे।

ऊपर बताई गई परीक्षा को दिनांक अनुसार उपस्थित होकर अच्छे अंकों के साथ पास करें और कट ऑफ मार्क्स से अधिक लाने वाले व्यक्ति को समीक्षा अधिकारी की नौकरी दी जाएगी।

समीक्षा अधिकारी बनने की तैयारी कैसे करें?

जैसा कि हमने आपको बताया समीक्षा अधिकारी की परीक्षा उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग संस्था के द्वारा आयोजित करवाई जाती है और भारत में हर कोई लोक सेवा आयोग को कठिन परीक्षा आयोजित करवाने की वजह से जानता है। इस वजह से हम यह कहेंगे कि यह परीक्षा कोई साधारण परीक्षा नहीं होगी, यह थोड़ी मुश्किल परीक्षा होती है।

इस परीक्षा को पास करने वाला व्यक्ति राजस्व विभाग के मुख्य कार्यालय में विराजमान होता है, जिसके नीचे कुछ सहायक समीक्षा अधिकारी कार्य करते हैं और यह एक प्रतिष्ठित पद है जिसे पाने केलिए मुख्य रूप से आपको हिंदी विषय पर पकड़ होने की आवश्यकता है।

  • इस परीक्षा के पहले चरण को प्रारंभिक परीक्षा कहते हैं। जिसमें सामान्य ज्ञान के 120 सवाल पूछे जाते हैं। जिसके लिए आपको 2 घंटे का वक्त दिया जाता है।
  • उसके बाद इस परीक्षा में हिंदी के कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें हिंदी साहित्य, पर्यायवाची विलोम उपन्यास और इस तरह के कुछ सामान्य हिंदी के सवाल पूछे जाते हैं। जिसमें कुल 100 सवालों के उत्तर आपको 2 घंटे 30 मिनट में लिखने होते हैं।
  • इसके बाद पास करने वाला व्यक्ति तीसरे चरण में बैठ सकता है। तीसरे चरण की परीक्षा में हिंदी व्याकरण से सवाल पूछे जाते हैं, जिसमें अलंकार समास जैसे कुछ विभिन्न हिंदी व्याकरण से जुड़े सवाल पूछे जाते है। इस चरण में मात्र 30 सवाल पूछे जाते हैं जिनका उत्तर आपको 30 मिनट के अंदर देना होता है।
  • जो व्यक्ति तीसरे चरण को पास कर लेता है। उसे चौथे चरण में पत्र लेखन और लेख लेखन की परीक्षा करवाई जाती है। अगर आप अच्छा लेख लिख पाते हैं, तो इस परीक्षा में आपको एक हिंदी लेख और एक पत्र 3 घंटे के अंदर लिखना होता है, जो कुल 120 अंक के होते हैं। 

समीक्षा अधिकारी की परीक्षा कुल 400 अंक की होती है। जो व्यक्ति इन सभी चरण में परीक्षाओं को पास कर लेता है उसे समीक्षा अधिकारी के रूप में चयनित किया जाता है और उसके सभी डॉक्यूमेंट को वेरीफाई कर के कुछ सवाल पूछने के साथ ही उसे नौकरी दे दी जाती है, जिसके बाद वह उत्तर प्रदेश के विभिन्न राजस्व विभाग में एक प्रतिष्ठित पद पर विराजमान होता है। 

समीक्षा अधिकारी का वेतन

समीक्षा अधिकारी काफी लिखने पढ़ने वाली नौकरी और पद है। इस पद पर नौकरी करने के लिए लोगों को काफी कड़ी परीक्षा पास करनी होती है, जिसके बाद उन्हें जो तनख्वाह मिलती है।  वह सरकार की तरफ से प्रतिमाह ₹34000 से शुरू होती है। इसके अलावा विभिन्न सरकारी सुविधाएं दी जाती है, जिसमें सरकारी घर, गाड़ी और अन्य विभिन्न प्रकार की सुविधाएं शामिल है।

 FAQ

समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

समीक्षा अधिकारी एक प्रचलित उत्पादक है, जिस पर कार्यरत व्यक्ति को उत्तर प्रदेश के विभिन्न राजस्व विभाग में पत्र और अन्य लिखित जानकारियों का रखरखाव करना होता है।

समीक्षा अधिकारी कहां कार्य करता है?

समीक्षा अधिकारी को उत्तर प्रदेश के विभिन्न राजस्व विभाग में कार्यरत किया जाता है जिसमें लोकसभा भवन, विधानसभा भवन, लोक सेवा आयोग का ऑफिस या उत्तर प्रदेश का विभिन्न सचिवालय ऑफिस आता है। 

समीक्षा अधिकारी की तनख्वाह कितनी होती है?

समीक्षा अधिकारी की तनख्वाह ₹34000 होती है। यह शुरुआती तनख्वाह है जो धीरे-धीरे बढ़ती है और इसके अलावा सरकार के तरफ से विभिन्न सुविधाएं भी दी जाती हैं। 

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस लेख में आप सभी लोगों को समीक्षा अधिकारी क्या होता है?, RO कैसे बने?, समीक्षा अधिकारी का वेतन और योग्यता क्या है? के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आप लोगों के लिए काफी ज्यादा यूज़फुल और हेल्पफुल साबित हुई होगी।

अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़ें

बीडीसी (BDC) क्या है?, फुल फॉर्म, वेतन और कैसे बनें?

ANM और GNM कोर्स क्या है? फीस, सैलरी, जॉब की पूरी…

ड्रग इंस्पेक्टर (Drug Inspector) कैसे बनें?

SSC क्या है? SSC की पूरी जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here