सचिन तेंदुलकर का जीवन परिचय

Sachin Tendulkar Biography Hindi: जब भी जहां भी क्रिकेट का जिक्र होता है, वहां सचिन तेंदुलकर का नाम शान से लिया जाता है। क्रिकेट खेल को इतना लोकप्रिय बनाने में सचिन तेंदुलकर का बहुत बड़ा हाथ है, ऐसा कहें तो गलत नहीं होगा।

sachin-tendulkar-wikipedia
Sachin Tendulkar Biography Hindi

भारत में लोग क्रिकेट को धर्म मानते हैं और सचिन को क्रिकेट का भगवान। लोगों में सचिन को लेकर इतना क्रेज था कि जब वे बैटिंग करने मैदान में उतरते थे तो पूरा मैदान सचिन! सचिन!! के नारों से गूंज उठता था।

उनके फैन्स की दीवानगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके एक आस्ट्रेलियन फैन ने सचिन के बारे में यहां तक कहा कि “अपराध तब करो जब सचिन बैटिंग कर रहे हों” क्योंकि उस समय भगवान भी सचिन की बैटिंग देखने में व्यस्त होता है। तो आइये आज हम जानते हैं, सचिन तेंदुलकर की जीवनी (Sachin Tendulkar ka Jivan Parichay) के बारे में।

सचिन तेंदुलकर का जीवन परिचय (जन्म, परिवार, शिक्षा, करियर, अवार्ड्स, रिकार्ड्स) | Sachin Tendulkar Biography Hindi

सचिन तेंदुलकर बायोग्राफी (Biography of Sachin Tendulkar in Hindi)

नामसचिन तेंदुलकर
उप नाम (Nick Name)मास्टर ब्लास्टर, क्रिकेट का भगवान, लिटिल मास्टर
जन्म दिनांक24 अप्रैल 1973 (47 वर्ष)
सचिन तेंदुलकर की मातारजनी तेंदुलकर
पिता का नामरमेश तेंदुलकर (मराठी नावेल लेखक)
भाईअजीत तेंदुलकर, नितिन तेंदुलकर
बहनसविता तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर की पत्नीअंजली तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर की बेटाअर्जुन तेंदुलकर
स्कूलशारदाश्रम विद्यालय
समाजब्राह्मण (हिन्दू)
पता19-ए, पैरी क्रोस रोड, बांद्रा (वेस्ट), मुंबई
सचिन तेंदुलकर विवाह दिनांक24 मई 1995
नागरिकताभारतीय

सचिन तेंदुलकर का जन्म व शिक्षा (Sachin Tendulkar Education)

सचिन तेंदुलकर का बचपन बहुत ही सरल रहा। 24 अप्रैल 1973 को मुंबई के उपनगर दादर में रजनी व रमेश तेंदुलकर के यहां एक पुत्र ने जन्म लिया, जिसका नाम रखा गया सचिन। सचिन के पिता रमेश तेंदुलकर अपने प्रिय म्यूजिक डायरेक्टर सचिन देव बर्मन के नाम पर सचिन का नाम रखा। म्यूजिक के फैन रमेश तेंदुलकर को क्या पता था कि नियति ने नन्हे सचिन की किस्मत पहले ही स्वर्णिम अक्षरों में लिख रखी थी।

sachin-tendulkar-essay
Sachin Tendulkar Information in Hindi

सामान्य परिवार में पले बढ़े सचिन ने अपनी शिक्षा मुंबई के शारदाश्रम विद्यालय में पूरी की, वे बचपन में अपने वर्तमान स्वभाव से बिल्कुल ही विपरीत थे, उनको लड़ाई-झगड़ा और अपने सहपाठी छात्रों को धमकाना पसन्द था। सचिन की झगड़ालू आदत थी।

उनकी बचपन से ही क्रिकेट की दीवानगी को देखते हुए उनके बड़े भाई अजित तेंदुलकर ने उनका दाखिला क्रिकेट अकादमी में करवाया। उनके कोच रमाकांत आचरेकर, जो उस समय के क्रिकेट के प्रसिद्ध कोच हुआ करते थे, उन्होंने सचिन की क्रिकेट के प्रति दीवानगी को पहचान लिया और उन्हें बेहतरीन ट्रेनिंग देना शुरू किया।

सचिन ने एक साक्षात्कार में अपने बचपन की घटना का वर्णन करते हुए कहा था कि “जब बचपन में वे क्रिकेट का अभ्यास करते थे, तब उनके कोच स्टम्प पर एक रूपये का सिक्का रखा करते थे और बाकि खिलाड़ियों से कहा करते थे कि “जो भी गेंदबाज सचिन को आउट करेगा, वह ये सिक्का ले जायेगा। अगर कोई खिलाड़ी सचिन को आउट नहीं कर पाता है तो वो सिक्का सचिन का होगा।” सचिन ने कहा कि उनके पास ऐसे कुल 13 सिक्के हैं, जो उनके जीवन की अमूल्य सम्पति हैं।

सचिन तेंदुलकर की शादीशुदा जीवन

सचिन तेंदुलकर की पत्नी का नाम अंजली तेंदुलकर है। इन दोनों की शादी 12 अक्टूबर 1995 को हुई थी। हालांकि इन दोनों के प्यार का रिश्ता 5 साल पहले से ही शुरू हो गया था। सचिन तेंदुलकर बहुत शर्मीली टाइप के व्यक्तित्व वाले हैं, जिस कारण वे अपनी और अंजलि के लवस्टोरी को ज्यादा शेयर नहीं करते।

लेकिन जानकारी से पता चला है कि सचिन तेंदुलकर अपनी पत्नी अंजलि तेंदुलकर से पहली बार मुंबई एयरपोर्ट पर मिले थे, उसके बाद दोबारा इनकी मुलाकात एक मित्र के घर हुआ था, जो अंजली तेंदुलकर को भी जानते थे और उन्हें भी इनवाइट किये थे। वहां पर पहली बार इन दोनों की बातचीत हुई थी।

उस समय अंजलि तेंदुलकर मेडिकल की प्रैक्टिस कर रही थी और सचिन तेंदुलकर के क्रिकेट के सफर की शुरुआती समय में थे। वैसे उस समय अंजली तेंदुलकर को नहीं पता था कि सचिन तेंदुलकर एक क्रिकेटर है। लेकिन बाद में धीरे-धीरे इन दोनों का मिलना जुलना शुरू हुआ, जिसके बाद अंजलि को सचिन तेंदुलकर के क्रिकेटर होने के बारे में पता चला और फिर धीरे-धीरे उनकी दिलचस्पी भी क्रिकेट में बढी।

लेकिन कुछ सालों के बाद इनका मिलना जुलना इतना आसान नहीं रहा। दरअसल सचिन तेंदुलकर अपने क्रिकेट के सफर में बहुत कामयाब हो रहे थे। धीरे-धीरे लोग इन्हें पहचाने जाने लगे हैं और फिर कामयाबी की सीढ़ी पर चलते-चलते लोगों के बीच में यह मशहूर होने लगे। जिस कारण वे यदि कहीं मिलते तो सचिन तेंदुलकर के फैन इन्हें घेर लेते थे।

यहां तक कि एक बार इन दोनों ने एक फिल्म देखने का योजना बनाई थी, सिनेमा हॉल में सचिन तेंदुलकर को कोई पहचान ना जाए इसलिए सचिन नकली दाढ़ी मूछ लगाकर थिएटर गए थे। हालांकि इसके बावजूद भी इनके फैन इन्हें पहचान गए थे और उन्हें घेरकर ऑटोग्राफ लिए थे।

इस तरह उनके प्यार का सफर 5 साल तक चलता रहा। उसके बाद उन्होंने शादी कर ली। शादी के 2 साल के बाद सचिन तेंदुलकर को एक बेटी हुई, जिसका नाम सारा तेंदुलकर रखा गया। उसके 2 साल के बाद इन्हें एक बेटा भी हुआ। बेटे का नाम अर्जुन है।

वैसे बता दे सचिन तेंदुलकर की पत्नी एक शिशु विशेषज्ञ हैं लेकिन बच्चों की परवरिश के कारण उन्होंने अपने करियर को बीच में ही रोक दिया। हालांकि उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें अपने करियर को छोड़ने का दुख नहीं है। क्योंकि इन्हें अपने परिवार के साथ समय बिताना अच्छा लगता है। यह एक अच्छी मां और पत्नी का फर्ज निभा रही हैं। जानकारी के लिए बता दें कि सचिन तेंदुलकर की पत्नी अंजलि तेंदुलकर भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति अशोक मेहता की बेटी है।

सचिन तेंदुलकर का क्रिकेट में करियर

सचिन के कोच रमाकांत ने उनके स्कूल जाने से पहले और स्कूल से वापस आने के बाद निरन्तर क्रिकेट का अभ्यास करवाना शुरू कर दिया। उनका आवास अभ्यास स्थल से दूर होने के कारण उन्होंने अपने चाचा-चाची के साथ शिवाजी पार्क के निकट रहने का फैसला किया, जो उनके घर के मुकाबले नजदीक था।

क्रिकेटर विनोद काम्बली के साथ मिलकर सचिन 15 वर्ष की आयु में हारेस शील्ड मुकाबले में 664 रन की पारी की, जिसमें अपनी प्रतिभा के दम पर 320 रनों की पारी खेली। इस पारी से सचिन को बेहद लोकप्रियता मिली। इसी की बदौलत सचिन को मात्र 16 साल की कम आयु में भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का अवसर मिला।

सचिन ने 1989 में पहला अन्तर्राष्ट्रीय मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला, पहले मैच में पाकिस्तानी क्रिकेटरों ने नन्हे सचिन को आउट करने में एडी चोटी का जोर लगा दिया। इसी मैच के दौरान एक बाउंसर गेंद सचिन की नाक से टकराई और सचिन घायल हो गये उनकी नाक से खून बहने लगा, लेकिन नन्हे सचिन ने अपने दर्द की परवाह किये बगैर खेल जारी रखा।

sachin-tendulkar-information

ऐसा कहा जाता है कि जब शेर घायल हो जाता है, तब वह और भी खतरनाक हो जाता है। कुछ ऐसा ही सचिन के साथ भी हुआ। पहले मैच की बाउंसर ने सचिन को घायल तो जरुर किया, लेकिन उसके बाद जो सचिन ने गेंदबाजों की जो धुलाई की थी, वो आज भी दिग्गज गेंदबाजों को अच्छी तरह याद है। उनकी इस यादगार पारी ने क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीत लिया था।

1990 में इंग्लैड में सचिन ने पहले टेस्ट मैच में शतक लगाया जिसमें वे 119 रन पर नॉट आउट रहे। उनकी क्रिकेट की प्रतिभा के कारण क्रिकेट इंटरनेशनल पत्रिका द्वारा उन्हें डॉन ब्रेडमैन की उपाधि से नवाजा गया। सचिन के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें टीम का कप्तान भी बनाया गया। लेकिन कुछ समय तक कप्तानी के पद संभालने के बाद इस्तीफा दे दिया।

sachin-endulkar-biography

सचिन ने वन-डे क्रिकेट से 23 दिसंबर 2012 को सन्यास ले लिया और 16 नवंबर 2013 को टेस्ट मैच में अंतिम पारी 74 रनों की खेली। सचिन ने 200 टेस्ट मैचों में 15921 रन बनाये और 51 शतक और 68 अर्द्धशतक उनके नाम दर्ज है।

सफलता की उंचाईयों को छूने के बाद भी सचिन जमीन से जुड़े व्यक्ति हैं। सचिन अपनालय नाम का एक संगठन चलाते हैं, जिसमें 200 से भी अधिक बच्चों का पालन-पोषण होता है।

यह भी पढ़े: विराट कोहली का जीवन परिचय

सचिन तेंदुलकर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • सचिन तेंदुलकर पाकिस्तानी टीम के लिए भी खेल चुके हैं। दरअसल 1988 मे ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेले गए एक प्रैक्टिस मैच में सचिन तेंदुलकर पाकिस्तानी टीम के तरफ से सब्‍स्टीच्यूट के तौर पर फील्डिंग की थी।
  • साल 2008 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच में एक टेस्ट मैच हुआ था, जिसमें सचिन तेंदुलकर ने सर्वाधिक रन बनाकर रिकॉर्ड तोड़ा था। इस खुशी में सचिन तेंदुलकर के फैन ने जश्न में इतनी आतिशबाजी की थी कि जिसके कारण स्टेडियम में 20 मिनट तक खेल को रोकना पड़ा था ताकि धुंआ हट जाए।
  • सचिन तेंदुलकर का पहला मैच पाकिस्तान में हुआ था तब सचिन तेंदुलकर सुनील गावस्कर के द्वारा दिए गए पैड को पहनकर खेले थे।
  • सचिन तेंदुलकर का नाम इनके पिताजी ने संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा था।
  • बहुत कम लोग जानते होंगे कि सचिन तेंदुलकर दोनों हाथों का इस्तेमाल कर सकते हैं। सचिन तेंदुलकर गेंदबाजी और बल्लेबाजी करने के लिए अपने दाएं हाथ का प्रयोग करते हैं लेकिन लिखने और टेनिस खेलने के लिए अपने बाएं हाथ का प्रयोग करते हैं।
  • लगभग 128 मैचों में सचिन तेंदुलकर और गांगुली ने पारी की शुरुआत करके 6271 रन बनाए हैं, जो एक रिकॉर्ड है। लेकिन एक बार गांगुली मैच की पहली गेंद पर ही आउट हो गए थे। जिसके कारण राहुल द्रविड़ उनके बाद आए और फिर सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ बल्लेबाजी की और वनडे में 331 रन बनाकर पार्टनरशिप रिकॉर्ड बना दिया।
  • सचिन तेंदुलकर ने अपने इंटरव्यू में क्रिकेट के अभ्यास के बारे में जिक्र करते हुए कहा था कि जब वे दूसरे खिलाड़ियों के साथ अभ्यास करते थे तो इनके स्टंप पर एक सिक्का रखा करते थे और दूसरे खिलाड़ियों को कहते थे कि यदि वे सचिन तेंदुलकर को आउट कर देते हैं तो सिक्का उनका हो जाएगा और यदि नहीं आउट कर पाए तो सिक्का सचिन तेंदुलकर का हो जाएगा। इस तरह सचिन तेंदुलकर के पास आज भी वह 13 सिक्के जमा है।
  • सचिन तेंदुलकर को अर्जुन अवार्ड, पद्मश्री अवार्ड, राजीव गांधी खेल रत्न जैसे पुरस्कार मिले हैं। भारत रत्न पुरस्कार पाने वाले सचिन तेंदुलकर इकलौते सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं।
  • एक बार किसी एक इंटरव्यू में सचिन तेंदुलकर ने अपनी बारी में बहुत महत्वपूर्ण बात का खुलासा किया था कि उन्हें सोते वक्त चलने और बोलने की आदत है, जिसके कारण अक्सर उनके घरवाले और टीम परेशान रहते हैं।
  • कोविड-19 की महामारी के दौरान साल 2021 में सचिन तेंदुलकर भी इस महामारी की चपेट में आ गए जब उन्हें कोराना के लक्षण महसूस हुआ तो वे डॉक्टर से चेकअप करवाएं और पता चला कि वे कोरोना पॉजिटिव है। जिसके बारे में उन्होंने अपने ट्विटर के जरिए अपने फैंस और मीडिया को बताया था। उन्होंने यह भी बताया कि वह डॉक्टर के द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन किया। उनके परिवार के बाकी सभी सदस्य नेगेटिव पाए गए थे, इसलिए सचिन तेंदुलकर आइसोलेटेड रहें थे।

सचिन तेंदुलकर की पसंद

  • सचिन तेंदुलकर के करोड़ों फैन है और उनके सभी फैन को सचिन तेंदुलकर की पसंद नापसंद के बारे में जानने की उत्सुकता रहती है।
  • बात करें सचिन तेंदुलकर के अलग-अलग चीजों में पसंद की तो इन्हें खाने में बॉम्बे डक, क्रैब मसाला, कीमा पराठा, लस्सी, चिंगरी प्रवन्स, मटन बिरयानी, मटन करी, बेगन भरता, सुशी बेहद ही पसंद है।
  • सचिन तेंदुलकर की पसंदीदा फिल्म शोले और कमिंग टू अमेरिका है। बात करें इनके पसंदीदा एक्टर की तो अमिताभ बच्चन, आमिर खान और नाना पाटेकर इनके पसंदीदा अभिनेता हैं। वहीं माधुरी दीक्षित उनकी पसंदीदा अभिनेत्री हैं।
  • सचिन तेंदुलकर को न्यूजीलैंड और मसूरी घूमना पसंद है। हालांकि सचिन तेंदुलकर एक क्रिकेटर है लेकिन इसके अतिरिक्त इन्हें लॉन टेनिस खेलने का भी शौक है। सचिन तेंदुलकर को बप्पी लहरी, सचिन देव बर्मन और दीरे स्ट्रेट्स के द्वारा गाए गए संगीत सुनना बेहद पसंद है। किशोर कुमार और किशोर कुमार, लता मंगेशकर के गीत भी इन्हें पसंद है।
  • सचिन तेंदुलकर को बुखारा और दिल्ली का मोर्य शैराटन रेस्टोरेंट में खाना खाना बेहद पसंद है।
  • वंही सिडनी की पार्क रॉयल डार्लिंग होटल इनकी पसंदीदा होटलो में से एक है। जोन मकएनरॉय और रॉजर फेडरर सचिन तेंदुलकर के पसंदीदा खिलाड़ी हैं। वैसे बता दें सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट खेलने के लिए सिडनी का मैदान सबसे ज्यादा पसंद है।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदु

  • सचिन तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय मैचों में कुल रन – 18,421
  • सचिन तेंदुलकर टेस्ट मैच कुल रन – 15,921
  • कुल टेस्ट मैच – 200
  • कुल वनडे मैच – 463
  • टेस्ट मैच में कुल शतक – 51
  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक – 49
  • विश्व कप में कुल रन – 2278

सचिन तेंदुलकर अवार्ड्स (Sachin Tendulkar Awards)

  • अर्जुन अवार्ड (1994)
  • राजीव गांधी खेलरत्न अवार्ड (1997)
  • विसडन क्रिकेटर ऑफ़ द इयर (1997)
  • पद्मश्री (1999)
  • महाराष्ट्र भूषण अवार्ड (2001)
  • आई सी सी ओ डी आई टीम ऑफ़ द इयर (2004)
  • आई सी सी ओ डी आई टीम ऑफ़ द इयर (2007)
  • पद्म विभूषण (2008)
  • सर गरफील्ड सोबर्स ट्राफी (2010)
  • आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट इन स्पोर्ट्स (2010)
  • पीपल्स चॉइस अवार्ड (2010)
  • एल जी पीपल्स चॉइस अवार्ड (2010)
  • विसडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड (2010)
  • आई सी सी ओ डी आई टीम ऑफ़ द इयर (2010)
  • वर्ल्ड टेस्ट XI (2010)
  • वर्ल्ड टेस्ट XI (2011)
  • बी सी सी आई क्रिकेटर ऑफ़ द इयर (2011)
  • कैस्ट्रोल इंडियन क्रिकेटर ऑफ़ द इयर (2011)
  • विसडन इंडिया आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट अवार्ड (2012)
  • भारत रत्न (2013)

सचिन तेंदुलकर रिकार्ड्स लिस्ट

  • खेल के दोनों प्रारूपों में सचिन ने सबसे अधिक रन बनाये है। वनडे में 18,426 और टेस्ट में 15,921 रन और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक 34,347 रन बनाएं।
  • सचिन ने सबसे अधिक शतक बनाये है वनडे में 49, टेस्ट में 51 और 100 अंतरराष्ट्रीय शतक एक मात्र सचिन ने ही बनाये है।
  • सचिन ने 989 खिलाडियों के साथ और खिलाफ़ क्रिकेट खेला है जिसमें 848 विरोधी और 141 भारतीय खिलाड़ी शामिल है।
  • सचिन ने 200 अंतरराष्ट्रीय टेस्ट खेले हैं जो कि एक खिलाडी के लिए अधिक है।
  • सचिन ने सबसे अधिक वनडे मैच खेले है जो कि 463 है।
  • सचिन वनडे मैच में 10000 रन तक जाने वाले पहले खिलाड़ी थे और सचिन ने टेस्ट मैच में 12000 रन और इससे ज्यादा सबसे पहले बनाये थे।
  • सचिन ने सभी देश जो टेस्ट मैच खेलते है उनके खिलाफ़ शतक लगाया है।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ विवाद

  • सचिन तेंदुलकर एक बहुत अच्छे गेंदबाज है। लेकिन इसी को लेकर साल 2001 में इन पर एक विवाद छिड़ गया। दरअसल 2001 में दक्षिण अफ्रीका और इंडिया के बीच में मैच हो रहा था तब सौरव गांगुली ने सचिन तेंदुलकर पर आरोप लगाया कि वह बोल को टेपरिंग करते हैं और इस कारण सचिन तेंदुलकर पर टेस्ट मैच के लिए प्रतिबंध भी लगा दिया गया। इस बात का सचिन तेंदुलकर को बहुत दुख हुआ, जिसके बाद उस समय रेफ़री माइक डेनिस को भी इस बात की हैरानी हुई। जिसके बाद यह बात विवादों में घिरा। पूरे मामले की जांच पड़ताल हुई। आईसीसी ने पूरा मामला संभाला बाद में सचिन तेंदुलकर पर लगाया आरोप गलत साबित हुआ।
  • सर डॉन ब्रैडमैन ने सचिन तेंदुलकर को 2002 में 29 टेस्ट सेंचुरी पूर्ण करने की खुशी में फरारी 360 स्पोर्ट्स कार गिफ्ट की थी, जिसके बाद सचिन तेंदुलकर पर 1 करोड़ से ज्यादा की इम्पोर्ट ड्यूटी को रिश्वत दे कर माफ़ कराने का आरोप लगा था। यह केस कोर्ट में कई दिनों तक चला अंत में इन्हें राशि चुकानी पड़ी थी।
  • साल 2010 में सचिन तेंदुलकर के बर्थडे के दिन भी वे विवाद में घिर गए। दरअसल उनके जन्मदिन पर इनके खास दोस्तों और रिश्तेदारों ने एक पार्टी की योजना बनाई और पार्टी में केक पर तिरंगे का डिजाइन किया था। सचिन तेंदुलकर ने तिरंगे बने हुए केक को काटा तो भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने का आरोप उनपर लगा दिया गया था।
  • सचिन तेंदुलकर के पास अपने घर जाने का अधिभोग प्रमाण पत्र नहीं था, जिसके कारण एक बार बीएमसी ने उन पर जुर्माना लगाया। सचिन तेंदुलकर ने जुर्माने को चुका दिया और मामले को वहीँ खत्म कर दिया।

सचिन तेंदुलकर के सोशल मीडिया

सचिन तेंदुलकर इंस्टाग्रामयहाँ क्लिक करें
सचिन तेंदुलकर फेसबुकयहाँ क्लिक करें
सचिन तेंदुलकर ट्विट्टरयहाँ क्लिक करें

FAQ

सचिन तेंदुलकर 99 रन पर कितनी बार आउट हुए हैं?

सचिन तेंदुलकर अब तक 3 बार 99 रन पर आउट हो चुके हैं।

सचिन तेंदुलकर का जन्म कब हुआ था?

24 अप्रैल 1973

सचिन तेंदुलकर के पास कितनी संपत्ति है?

सचिन तेंदुलकर के पास 1000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे हैं। इसके साथ ही उनके पास महंगी कार, निवेश, घर और विविध संपत्ति भी है।

सचिन तेंदुलकर की पत्नी का क्या नाम है?

सचिन तेंदुलकर की पत्नी का नाम अंजली तेंदुलकर है, जो शिशु विशेषज्ञ है। सचिन तेंदुलकर और इन दोनों की शादी साल 1995 को हुई थी।

सचिन तेंदुलकर के पिता क्या है?

सचिन तेंदुलकर के पिता का नाम रमेश तेंदुलकर था, जो एक मराठी उपन्यासकार और कवि थे।

सचिन तेंदुलकर के माता का क्या नाम है?

सचिन तेंदुलकर की माता का नाम रजनी तेंदुलकर था, जो एक बीमा कंपनी में काम करती थी। बता दें यह रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्नी थी।

सचिन तेंदुलकर ने पहला शतक कब लगाया था?

सचिन तेंदुलकर ने अपना पहला शतक इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में मैनचेस्टर में लगाया था। इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 119 रन बनाया था। यह इनका नौवां टेस्ट मैच था। इस समय सचिन तेंदुलकर मात्र 17 साल के थे।

सचिन तेंदुलकर कौन से राज्य के हैं?

सचिन तेंदुलकर का जन्म महाराष्ट्र के राजापुर के मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ था।

निष्कर्ष

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी सचिन तेंदुलकर के बारे में जानकारी (Sachin Tendulkar Biography in Hindi) पसंद आई होगी। इसे आगे शेयर जरूर करें। यदि इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।