लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप स्टेटस

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

Long Distance Relationship Shayari in Hindi
Image: Long Distance Relationship Shayari in Hindi

दूर रहना आपका हमसे सहा नहीं जाता,
जुदा हो के आपसे हमसे रहा नहीं जाता,
अब तो वापस लौट आईये हमारे पास ,
दिल का हाल अब किसी से कहा नहीं जाता।

वो मुझसे दूर रहती है पर उसकी तस्वीर मेरी आँखों के,
मेरे दिल, के और मेरे सीने के नज़दीक रहती है।

चाहे कितने भी दूर क्यू ना रहे
मेरे दिल के सबसे करीब हो तुम

कभी सुबह होती थी आपको देख कर,
आपको देख कर ही चांद निकलता,
अब आलम कुछ यूं हैं मेरे महबूब,
कि ये जुदाई का मौसम है हमें खलता

इन दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल करे जब हमे पुकार लीजिये,
ज्यादा दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस एक कॉल करके हमे बुला लीजिये।

काश मेरी एक ख्वाहिश पूरी हो मेरी इबादत के बगैर,
वो आकर मुझे अपने गले लगा ले मेरी इजाजत के बगैर।

दिल में प्यार इतना हो की
फासले बीच की दूरी न बन सके।

कौन कहता है दूर रहेने से
प्यार कम हो जाता है
एक बार सॅचा प्यार करके देखो

दिन ये कट जाते हैं लेकिन,
रातें चांद को देख कर हैं कटती,
बैंगलोर से दिल्ली तक की दूरी,
सात समंदर पार जैसी है लगती।

दूर रहकर भी तुम रहते हो मेरे पास,आपकी
हर बात मेरे लिए है खास, यकीन करो,करो
मेरी बात पर विश्वास, कितना खूबसूरत है
आपके होने का एहसास।

दूरियाँ है हमारे बीच लेकिन दिलों में हमारे प्यार है,
जीतेंगे हम ही एक दिन होगी इन फासलों की हार है।

दिल नज़दीक होने चाहिए,
प्यार के लिए शरीर का नज़दीक होना कोई ज़रूरी नहीं।

ट्रस्ट तो है तुमपे .
पर इनसेक्यूर होना भी तो ग़लत न्ही

ये दूरियां लेती हैं,
सबके प्यार का इम्तिहां,
उन्हें भी साबित करना पड़ा था,
जिन्होंने कर दी थी प्यार की इन्तेहां।

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक तुम दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे रह जाऐ हमें तुम इतना मजबूर कर दो।

यदि प्रेम समय की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता है,
तो यह प्रेम की परीक्षा में विफल रहा है।

माना के मैं तुमसे रोज मिल न्ही पाता
पर इस दिल मैं सिर्फ़ तेरी जगह है
इसलिए ये दिल कही न्ही जाता

हमारे बीच की ये दूरी अब सही नहीं जाती,
शाम सवेरे अब सिर्फ तेरी याद है आती,
तेरे साथ की आदत लगी थी इस कदर,मुझे
इन दिनों अपनी सहेलियां भी नही भाती।

सच्चे प्यार के रिश्ते किसी बहाने से कमजोर नहीं पड़ते,
चाहे कितने भी दूर रहे, पर अपने सनम को नहीं भूलते |

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

माना तुमसे दूर हूँ मैं,
पर तुम्हारा दिल तो मेरे ही पास है।

बात तो रोज होती है
पर थोड़ी देर भी अगर बात ना हो
तो मेरी दुनिया थम्सि जाती है

सच्ची मोहब्बत के आगे ये दूरियां भी हार जाएंगी,
पतझड़ के मौसम के बाद, जीवन में फिर बहार आएगी।

तुम पूछती हो न मुझे सोने जाने की इतनी
जल्दी क्यों होती है, तो सुनों क्यूंकि रोज़
सपनों में मेरी तुम से मुलाक़ात होती है।

आप की यादें अमानत हैं हमारी,
आप..की ख़ुशी चाहत है हमारी,
आप से वफ़ा फितरत है हमारी,
पर…
आप से दूरी शायद किस्मत है हमारी!

प्यार के लिए नज़दीक होना ज़रूरी नहीं है,
नज़दीकियां होना ज़रूरी है।

हमने तो तुम्हे अपना खुदा माना है
चाहे जहा भी रहें
तेरा हे नाम जाब्ते रहेंगे

हमारे बीच है दूरियां, लेकिन दिलों में प्यार है,
जाना, ये हमारी नहीं, इन फासलों की हार है।

थोड़ी दूरियाँ भी ज़रूरी है,ज़िन्दगी में,
किसी के इतने करीब भी न जाओ,
की वो दूर चला जाये.

उसे याद करने के हज़ार बहाने हैं,
मगर उसके पास जाने का एक भी नहीं |

बहुत ख़ास है ये प्यार,
और तेरे प्यार का एहसास के लिए तेरा मेरे पास होना ज़रूरी नहीं।

बात बात पे तेरा रूठ जाना
और फिर बाद मैं मुझे प्यार से समझना
क्या यही है सॅचा प्यार

न घर एक, न गली एक, न शहर एक,
फिर भी लगता है कि तुम दिल के पास हो,
शायद इसलिए कि हमारा आसमां है एक।

ना रही अब कोई जुस्तजू
इस दिल में तेरे बिना ए मेरे सनम,
मेरी पहली आरज़ू भी तू
और आखिरी भी बस तू ए मेरे सनम |

माना की तुम दूर हो मुझसे,
पर ये दूरी तुम्हारे पास आने का मज़ा दोगुना कर देती हैं।

आसान न्ही है तुमसे दूर रहना
प्यार करते है इसलिए
इंतेज़ार करते है तुम्हारा

याद आती हो तुम, तो ये आंखें भर आती हैं,
दिन कट जाते हैं, ये रातें बहुत सताती हैं,
खुश किस्मत हूं कि साया हो तुम मेरा,
जैसे चांदनी, चांद का साथ निभाती है।

ज़िंदगी मे जब आपसे ज़्यादा आपकी फिक्र कोई करने लगे,
तो ज़िंदगी बहुत खूबसूरत बन जाती हैं…

माना तुम दूर चले गए चलते-चलते,
पर इश्क़ के चलते हम कभी दूर नहीं हो सकते।

तुम्हारी कमी हमेशा.
महसूष होती है हमें

Read Also: टूटे दिल की शायरी

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

दिल चाहता है कि अब मिटा दूं ये फासले,
दिल चाहता है कि लग जाऊं अब तेरे गले,
तुझसे मिलकर फिर कभी न दूर जाऊं मैं,
सिर्फ यही सपना अब मेरी आंखों में पले।

मेरे दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू,
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू,
चाहा है तुझे मैंने अपनी चाहत से भी बढ़कर,
मेरी चाहत और मेरी चाहत की इंतिहा है तू।

दूरिया की वजह से थोड़ी देर लगती है मिलने में.
पर ये दूरियां हमारा मिलान नहीं रोक सकती।

सायड सारी दुनिया चाहते है
हमदोनो बिछड़ जाए
इसलिए सिर्फ़ बादनाम करते है तुम्हे

कल रात चांद से पूछा मैंने,
कि क्या है मेरे महबूब का हाल,
चांद ने मुस्कुरा कर पूछा,
क्या हर रोज करोगी एक ही सवाल?

दूरियों का एहसास उस वक़्त हुआ जब
में उसके सामने से गुज़री और उसे मेरी
मौजूदगी का एहसास तक न हुआ।

खुदा करे वो मेरी मोहब्बत जो तेरे नाम से है,
वो हजार साल गुजरने पे भी जवान ही रहे।

हर दूरी का दरिया चीर दूंगा तेरे लिए,
हर जरिया मिलने का ढून्ढ लूँगा तेरे लिए।

दूर तो हैं हम तुमसे
पर कभी दूरी
आने न्ही चाहिए हमारे प्यार पे

हम दोनों शायद दो पैरेलल लाइन की तरह हैं,
साथ चल तो रहे हैं, पर न जाने मिलेंगे कब।

मेरा इश्क औरों जैसा नहीं होगा
तन्हा रहूँगा पर सिर्फ तेरा रहूँगा….

तुझसे दूर रह कर भी यहाँ रात तो होती है,
पर चाँद नज़र नहीं आता।

आज हम जीतने दूर है तुमसे
देखलेना कल हम उतने हे करीब हो जांगे

ये दूरियां हमें थोड़ा और नजदीक लाएंगी,
दरमियां रहकर, प्यार हमारा बढ़ाएंगी,
साथ रहने का वादा किया था हम दोनों ने,
कुछ मिलो की दूरियां क्या हमें जुदा कर पाएंगी।

माना की दूरियां कुछ बढ़ सी गई है लेकिन,
तेरे हिस्से का वक्त आज भी तन्हा ही गुजरता है.

दूरी बहुत है शरीर में हमारे,
पर दिल के बीच एक इंच का भी फासला नहीं है।

चाहे जितनी भी खफा क्यू ना होजोअ ,
प्यार तो तुम्हे हमसे ज़्यादा कोई कर हे न्ही सकता

जुदा हो तुम, पर हमेशा हो मुझमें शामिल,
फासलों के बाद भी, हमारा इश्क होगा कामिल।

दूरी ने कर दिया है तुझे और भी करीब,
तेरा ख़याल आ कर न जाये तो क्या करें।

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

तू मिल गया तो तोह तब से मुझसे नाराज है मेरा खुदा,
कहता है के वो मिल गया जब से तू अब कुछ मांगता नहीं है।

हिचकियाँ तेरी याद की मुझे तो रोज़ आती है,
याद तो मुझे भी तेरी आई है तो ज़ाहिर है
हिचकियाँ तुझे भी आती होंगी।

सुक्रिया आए खुदा तूने एसा जो दिन लाया ,
सपनो मैं जो देखा था ,
आज उसे हक़ीकत पे पाया

इन दिनों कोई और ख्याल मुझे आता नहीं,
तुम्हारे अलावा अब चेहरा किसी का भाता नहीं,
अब इस कदर दूर हो तुम मेरी नजरों से,
आपको देखे बिन ये चेहरा मुस्कुराता नहीं।

तुझे ख़्वाबों में पाकर मेरे दिल का क़रार खो ही जाता है,
जितना रोकूँ इस दिल को तुझसे मिलने को बेकरार हो ही जाता है|

ये वक़्त भी तुझे देखे बिना कितनी धीरे बीत रहा है,
तेरी तस्वीर देखता हूँ तो थोड़ा त्तेज चलना शुरू होता है।

ये दिल कुछ आवारा हो गया है,
जीवन मेरा कुछ बंजारा हो गया है,
तुम कुछ दूर क्या गए इस शहर से,
यहां दुश्वार गुजारा हो गया है।

भूल जाता हूँ मैं सब कुछ जब जुबा पे तेरा नाम आता है,
इसी एहसास को दुनिया ने इसे इश्क़ का नाम दिया है।

मैं जानता हूँ तुझे लग रहा होगा मैं तेरे पास ही हूँ,
क्यूंकि मैं यहा पर हूँ, पर मेरी रूह तो तेरे ही पास है।

पता है हम तुम्हे कभी याद न्ही करते ,
क्यू के तुम कभी हमें भूलने ही न्ही देते

ये दिल अक्सर सोच में डूब जाता है,
तुम पास होते तो कुछ और होते अफसाने,
इन फासलों के कारण, सनम,
दिल गा रहा है दूरियों के फसाने।

सामने बैठे रहो तुम मेरे, तभी इस दिल को करार आएगा,
जितना देखेंगे हम तुम्हें उतना ही हमे तुम पर प्यार आएगा।

ये दूरी तेरा-मेरा इम्तेहान ले रही है,
अगर हम दोनों इस इम्तेहान में Pass हो जाएंगे तो हम पास आ जाएंगे।

तुम्हारे यादें भी इतनी प्यारी है
कभी मुझे चैन्से सोने हे न्ही देती

रब से हर रोज यही फरियाद करती हूं,
जल्द तुमसे मिलने की आस करती हूं,
एक दिन भी नहीं गुजरता ऐसा सनम,
जिस दिन न मैं तुम्हें याद करती हूं।

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझसे गुजर जाना।

दूर तो हम बस नज़रों से हैं एक दूसरे की,
वैसे तो हम एक दूसरे के दिल के पास ही है।

तेरा नाम लिख लिखकर भर दिया,
अपनी डायरी का हर एक सफा,
जब भी धड़कता है ये दिल,
तुम्हें याद करती हूं मैं हर दफा।

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

खुद नहीं जानती वो कितनी प्यारी हैं ,
जान है हमारी पर जान से प्यारी हैं,
दूरियों के होने से कोई फर्क नहीं पड़ता
वो कल भी हमारी थी और आज भी हमारी है.

रोज वो ख़्वाब में आते हैं मुझसे गले मिलने को,
मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है किस्मत मेरी भी।

नज़र के नज़रिए से देखें तो हम बहुत दिनों से दूर है,
पर दिल के नज़रिए से देखे तो हम कभी दूर हुए ही नहीं।

सजा न दे मुझको, बे-क़सूर हूँ मैं,
थाम ले हाथ मेरा, ग़मों से चूर हूँ मैं,
तेरी दूरी ने कर दिया है पागल मुझको,
और लोग कहते हैं की नशे में मगरूर हूँ मैं।

प्यार किसी के साथ रहने का नाम नहीं है,
प्यार तो किसी के बगैर ना रह पाने का नाम है।

कोई हमे कैसे जुड़ा करेगा ,
हम प्यार करते है थोड़ी टाइमपास है

सिर्फ नज़दीकियों से मोहब्बत हुआ नहीं करती,
फैसले जो दिलों में हो तो फिर चहत हुआ नहीं करती,
अगर नाराज़ हो खफा हो तो शिकायत करो हमसे,
खामोश रहने से दिलों की दूरियां मिटा नहीं करती।

कैसे रखूँ मैं तेरी यादों की गिनती
अपनी साँसों का भी कोई हिसाब होता हैं क्या..

अब कैसे कह दूँ की तुझसे दूर हूँ मैं,
तेरा चेहरा मुझे हर चीज़ में नज़र आता है।

चाहे जितनी दूर भी क्यू ना रहलो,
तुम सिर्फ़ मेरी हो ये जनलो

फासले हैं दरमियां, ये भी कोई बात हुई?
दूर बैठे हैं इतने, ये भी कोई बात हुई?
जनाब, मोहब्बत है ये, कोई जंग नहीं,
इस कदर तड़पाना, ये भी कोई बात हुई?

तुझसे दूर रह कर एक फायदा तो ज़रूर होता है,
बहुत दिन बाद तुझे देखता हूँ तो ऐसा लगता है
जैसे तुझ जैसा हसीं चेहरा मैंने पहले बार देखा है।

दूर रहना कौन चाहता है
वो तो इसलिए है क्यू के
नसीब साथ न्ही है

दिल में सिर्फ तेरी याद बसी है,
तेरी सूरत से ज्यादा न कोई हसीं है,
तुझे क्या बताऊं और इस दिल का हाल,
तेरी मुस्कान से ही इन होठों पर हंसी है।

काश मेरी यादों की तरह,
मैं भी अभी तेरे पास आ सकता।

मेरे प्यार मेरा है
और वो सिर्फ़ मेरा है

मेरी नजरों को रहता है सिर्फ तेरा इंतजार,
तुझे देखे बिना न आए मेरे दिल को करार,
कब आओगे? कब थामोगे मेरा हाथ?
तेरी सूरत देखने को ये आंखें हैं बेकरार।

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

क्या आप रोज एक ही सवाल करेंगे?
आप वहां और हम यहां हैं, खुशी अब कहां है,
हमने सोचा था हर सुबह होगी आपको देख कर,
अब लगता है यूं कि सूरज भी वहां है, आप जहां हैं।

तुझसे मिलने की बेसब्री जितनी होगी,
उतना ही तुझसे मुलाकात करने का मजा आएगा।

हो सकता है अभी ख़ुसीया दूर होगी
एक बार तेरे पास आ जाओ
सारी दुनिया के ख़ुसी
मेरे कदमो मैं होगी

ये दिल दे रहा है ये सदा,
तू मेरे पास आ जरा,
देख आकर क्या है मेरा हाल,
जैसे बिन अंबर ये धरा।

माना मैं नहीं पहुँच पा रहा तुझ तक,
पर मुझे यकीन है मेरा प्यार तुझ तक ज़रूर पहुँच रहा होगा।

दूरी दूरिया कभी न्ही बाराती
बस तेरी याद मुझे हर पल सताती

मन में एक बात है रुकी हुई,
जिसे अब होठों तक लाना है,
न बोल पाए गर ये जुबां तुमसे कभी,
दर्द-ए-जुदाई तुम्हें आंखों से सुनाना है।

नजरो में तेरी सूरत बसती है
मैं मुस्कुराता हूँ जब भी तू हसती है
मन करता है आ जाऊ उड़कर तेरे पास
तुझसे हे मेरी पहचान तुझे से हे मेरी हस्ती है ।

तेरे बारे में मैं इतना सोचता हूँ,
की तेरे सिवाय मैं कुछ और अब सोच ही नहीं पाता।

क्या पता आज भगवान
मेरे प्यार का परीक्षा ले रा हो
इसलिए मेरे जान को
मुझसे दूर कर दिया हो

बारिश का मौसम है,
तुम याद बहुत आती हो,
क्या वहां भी भीगी चुनरी ओढ़े,
तुम गीत प्रेम के गाती हो?

वो जो हमारे लिए कुछ ख़ास होते हैं,
जिनके लिए दिल में एहसास होते हैं,
चाहे वक़्त कितना भी दूर कर दे उन्हें,
दूर रह के भी वो दिल के पास होते हैं।

माना की हमारे बीच दूरियां बहुत बढ़ी है,
पर यकीन मान मेरा भरोसा
और प्यार तेरे लिए ज़रा भी कम नहीं हुआ।

मैं आईना हू तेरा
मेरे बिना तू खुदको
कभी देख न्ही पावगी

शाम-ओ-सहर मेरा मन तुम्हें पुकारता है,
ये दूरियों का मौसम इतना क्यों सताता है?

हमेशा उन्ही के करीब मत रहिये जो
आपको खुश रखते हैं.बल्कि कभी
उनके भी करीब जाईये जो आपके
बिना खुश नहीं रहते हैं.

Read also: दिल शायरी

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

तू नराश मत होना,
ये वक़्त हमे एक दिन एक दसरे से मिलवा ही देगा।

मैं लिखता हूं इन खतों में,
अपने प्यार के एहसास,
इन्हें पढ़कर याद रखना,
हर कदम पर मैं हूं तुम्हारे पास।

कहने को तो तुम्हें नजरअंदाज कर रहा हूँ,
न चाहते हुए भी तुमसे अब दूर जा रहा हूँ,
दूरियां बनाकर भी क्या कर लिया तुमने,
रहते तो आज भी मेरे दिल में ही हो।

तेरी वजह से मैं दो जगह हूँ,
एक यहाँ और एक वहां जहाँ तू है।

तेरी सूरत है बसी इन आंखों में कुछ इस कदर,
कि अब इन्हें किसी और को देखने की चाह नहीं,
तेरी याद है बसी इस दिल में कुछ इस कदर,
कि अब इसे खुद की सुध, अपनी परवाह नहीं।

काश मैं पानी होता और तू प्यास होती
न मैं खफा होता और न तू उदास होती
जब भी तुम मेरी निगाहों से दूर होते
मैं तेरा नाम लेता और तू मेरे पास होती.

सितारे भी उस
दिन टूट कर ज़मीन पर गिरेंगे,
जब हम इतनी जुदाई के बावजूद एक बार फिर मिलेंगे।

लिखें हैं लाखों ख़त मैंने तुम्हारे नाम,
हर ख़त में लिखा है, बस एक ही अरमान,
रहूं तुम्हारे पास, अब दूर कहीं न जाऊं,
तू ही दिल है, तू ही है मेरी जान।

धड़कन बता रही है तेरे दिल में कोई है,
यूँहीं मन ही मन सर झुका कर मुस्कराया
नहीं जाता.

हर वक़्त साथ रहना प्यार नहीं है,
हर वक़्त साथ निभाना प्यार है।

मैंने कहा, जरा बात सुनती हो,
बड़ी याद आ रही है तुम्हारी,
जरा कभी थोड़ा तो वक्त निकालो,
तुम भी ले लो कभी खबर हमारी।

दे दे मोहब्बत मेरी जो मैंने दिल से तुझसे
की थी, दे दूंगा उनको जो मुझसे प्यार का
इजहार करते थे.

रहते थे पनाहों में जिनकी,
उनसे अब मीलों की दूरी है,
प्यार के रास्ते में हो गए यूं जुदा,
ये कैसी हमारी मजबूरी है।

दूरियों का मतलब कुछ नहीं रह जाता,
जब दूर रहने वाला ही तुम्हारा सब कुछ हो।

कह दिया चांद ने कि मेरा इंतजार करना,
मैं आऊंगा झलक दिखाने कुछ पल के लिए,
पलकें बिछाए रखना मिलन को ख्वाबों में,
या इंतजार करना मेरा रुबरु दीदार के लिए.

तेरे गालों को छूने को ये दिल चाहता है,
तेरा हाथ थामने को मन मचल सा जाता है,
वैसे तो कई दोस्त हैं यहां हमारे,
पर तू नहीं है तो कोई नहीं हमें भाता है।

कोई गुलाब कहता है,तो कोई चांद कहता है,
एक के संग कांटे हैं ,तो इक संग दाग रहता है,
प्यार ,इश्क़, मोहब्बत को दुनिया अंधा कहती है,
इसमें ना कांटे दिखते हैं, ना ही दाग दिखता है.

कहानी मुश्किल है तेरी मेरी मोहब्बत की,
हम एक दूसरे से मुलाक़ात कम
और एक दूसरे को याद ज्यादा करते हैं।

इस मोहब्बत की राह में भी,
दर्द-ए-जुदाई हम सहते हैं,
हर रात यही सोच कर गुजरती है,
कि एक आसमान के नीचे हम रहते हैं।

मोहब्बत ना सही कोई शिकवा ही करो,
तसल्ली होगी दिल को कोई याद करता है.

Long Distance Relationship Shayari in Hindi

दोस्तों संग बात करते करते जब भी तुम्हारी बात आती है,
सच कहूंगा खुदा कसम हर बात तुम्हारी याद आती है।

आसान हो जाती जिंदगी अगर दुनिया से
दिल की हर बात हम कह पाते,
उससे भी आसान होता जीना,
अगर ताउम्र बस साथ तुम्हारे हम रह पाते।

मुझको रहने दे दिल में तेरे, बाहर तो बहुत
अंधेरे हैं. उलझन है बहुत,कैसे पहचानूं,कौन
पराए हैं कौन मेरे हैं.

तुम्हारी कमी को बस तुम दूर कर सकते हो,
और जब तक तुम दूर हो ये कमी कभी दूर नहीं हो सकती।

कैसे बताऊं तुम्हें कि कैसा मेरा हाल है,
तुम्हारे बिना मैं जैसे होली बिना गुलाल है,
अब रहा नहीं जाता तुम्हें देखे बिना,
तुम्हें बिन देखे हर दिन जैसे एक साल है।

मिलाना संभल कर नजरें ,कही प्यार न हो जाए.
छानकर करना इश्क़,कहीं किरकिरी ना हो जाए.

हमसे अच्छी जोड़ी जहाँ में किसी की नहीं है,
बस अभी हम किसी को दिखा नहीं सकते क्यूंकि
हम सही हालात में नहीं है।

ये दिल कहता है पास तुम्हें बुलाऊं,
पास बुला कर, साथ तुम्हें बिठाऊं,
फिर हाथों में लेकर हाथ तुम्हारा,
मैं प्यार के नए गीत, नए तराने गाऊं।

देख अब तू मेरा भी दिल कुछ गुलज़ार हो जाने दे,
बहुत बह लिया सैलाब, साहिल तो अब आने दे.

तू मुझसे दूर और मैं यहाँ पर मजबूर हूँ,
मुझे रब से शिक्खवा भी यही है और शिकायत भी यही है।

मन में अक्सर ये सवाल उठता है,
मेरे बिना अब तुम किसे सताती हो,
सच बताओ इन फासलों के रहते,
क्या रात को सो भी पाती हो?

क्यों बार बार आंखो में,तुम करवट लेते हो,
ना खुद सोते हो ना, हमें सोने देते हो.

तेरे पास मैं भले ही कम आ पाता हूँ,
पर तेरा मेरे सपनों में आना तो लगा रहता है।

मेरी नजरों में एक तेरी सूरत बसती है,
मैं मुस्कुराता हूं, जब भी तू हंसती है,
मन करता है आ जाऊं उड़कर तेरे पास,
तुझसे मेरी पहचान, तुझ से ही मेरी हस्ती है।

मेरे चाहने में कोई कमी तो न थी ऐ खुदा.
फिर क्यों उसे किसी और के नसीब में
लिख दिया।।

माना की तेरा हाथ मेरे हाथ में नहीं है,
पर इसका मतलब ये तो नहीं की तू मेरे साथ में नहीं है।

कहता हूं तुमसे अपने दिल का मलाल,
दूर होकर तुमसे है मेरा अब बुरा हाल,
पास आ जाओ, फिर कभी न दूर जाने के लिए,
तुम बिन बेसुरा जिंदगी का हर सुर, हर ताल।

थाम लो मुझे आंखों में बेहोशी छा रही है,
पलको में आंसू ले कर तेरी याद आ रही है,
प्यार तो बेपनहा मेरे दिल ने तुमसे किया है
हमदम, फिर सजा क्यों मेरी नजरे पा रही है.

एक दिन ज़रूर मिलेंगे इस ख़याल से हर दिन सुकून से
और हर रात बेताबी से निकल जाती है।

कल शाम नाम तुम्हारा होठों पर आ ठहरा,
रात भर मुझे याद आता रहा वक्त वो सुनहरा ,
तेरी सांवली सूरत घूमती रही आंखों के आगे,
और मैं खड़ा था दर पर तेरे, बांध कर सेहरा।

नज़र कहती है दीदार कर,
दिल कहता है प्यार कर,
आलम तो देखो किस्मत का,
हर बार कहती है इंतज़ार कर..

दूरियां जितनी बढ़ती जा रही है बीच हमारे,
हमारा बीच में प्यार उतना ही बढ़ता जा रहा है।

तुझसे दूरी भी तो हमें मंजूर नहीं,
मेरा इश्क शायद रांझे-सा मशहूर नहीं,
की है मैंने मोहब्बत अपने पूरे दिल से,
कैसे कह दूं, मुझे इस प्यार पर गुरूर नहीं।

इश्क़ की नासमझी में हम सब अपना
कुछ ना कुछ गवा बैठे,उन्हें खिलौने की
जरूरत थी और हम अपना दिल ही थमा बैठे..

तुझे अपने दिल में बसा कर तुझे
और तेरे दिल को मैं साथ ले जा रहा हूँ।

आंखें बंद करके भी सिर्फ तुम्हें देखता हूं,
आंखें खोल कर सिर्फ तुम्हें देखना चाहता हूं,
क्या हुआ अगर आ गई दो शहरों की दूरी,
मैं होंठों पर सिर्फ नाम तुम्हारा रखता हूं।

दिलो जान से करेंगे हिफ़ाज़त तेरी,बस
एक बार तू कह दे कि, मैं अमानत हूं तेरी.

जिस दिन मिलेंगे दोबारा वो भी क्या हसीं शाम होगी ,
तू भरोसा रख मेरी बात का ये दूरियां हमे
दूर करने में नाकाम होंगी।

दूर रहकर भी तुम हर दम पास रही हो,
जिंदगी का एक खूबसूरत एहसास रही हो,
मैंने देखे ही नहीं सपने किसी और के कभी,
तुम मेरी पहली और आखिरी आस रही हो।

हर शाम किसी के लिए सुहानी नहीं होती
हर प्यार की कोई कहानी नहीं होती कोई
तो असर होता हैं दो दिलों के मेल का वर्ना
गौरी राधा सांवले कान्हा की दीवानी नहीं होती.

माना सात समुन्दर पार में हूँ,
पर यहाँ भी मैं तेरे ही प्यार में हूँ।

भले ही कितने मजबूर हों हम, लेकिन प्यार में रहें,
मुसाफिर रहें चाहे सदा, मंजिल के इंतजार में रहें,
दुआ है मेरी खुदा रहमतों से नवाजे इश्क अपना,
ताउम्र हम इस मोहब्बत के पाकीज़ा खुमार में रहें।

सच्चे इश्क़ की फितरत ही कुछ ऐसी
होती है शरीफों को मिलती नही और
कमीनों से संभलती नही।

मेहफ़ूज़ महसूस करती हूँ मैं तो तेरे साये में ही,
जब तू साथ होगा तो बेख़ौफ़ हो जाउंगी।

दूरियां कब मिटा सकी हैं प्यार का अफसाना,
ख्वाबों में मिल जाते हैं हम आशिक दिलवाले,
चलो छोड़ छाड़कर दुनिया भर की शिकायतें,
तुम ये प्यार संभालों, हम तुम्हारें ख्वाब संभालें।

मुकद्दर में लिखी कोई बात हो तुम
तकदीर की खूबसूरत सौगात हो तुम
करके प्यार तुमसे महसूस ये हुआ
जैसे सदियों से यूही मेरे साथ हो तुम.

ये जुदाई दो दिन की हमे क्या जुदा करेगी,
तेरा-मेरा ये साथ तो साथ जन्मों के बाद भी बरकरार रहेगा।

आज एक पुरानी किताब मिली,
खोली तो अंदर मिले कुछ सूखे फूल,
उस फूल को देख कर याद आया,
आपका पंखुड़ी-सा चेहरा जैसे पारुल।

दूरियां जितनी ज्यादा बढ़ती जा रही है
तुझे चाहने की चाह भी हद से ज्यादा बढ़ती जा रही है।

भले अपने हिस्से में मुलाकातें नहीं आईं,
बाहों में गुजर जाती वो रातें नहीं आईं,
आंखों से बरसा लेंगें पानी, बहारें आएंगी,
क्या हुआ जो अपने यहां बरसातें नहीं आईं।

एक दिन ज़रूर आएगा वो दिन भी,
जब ये दिन बीत जाएंगे और
हमारा सारा दिन एक दूसरे की बाहों में बीतेगा।

माना हम अभी एक साथ नहीं है
पर दिल जुड़ चुके हैं
हमारे एक दूसरे से, इसलिए फ़िक्र मत कर
हम एक दूसरे से अलग नहीं हैं।

नींद तो पूरी हो जाती है रोज़ मेरी,
पर मैं आँख खोलने से डरता हूँ
क्यूंकि सपनो में तुम मेरे नज़दीक हो
हकीकत में नहीं।

यूँ तो हमारे बीच में मीलों का फासला है,
पर हमे मिलाने का फैसला खुदा का था
तो ये दूरियां क्या हमे दूर करेंगी।

तुमसे रात-भर बात कर मेरा
तो दिन ही बन जाता है।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here