खेलों का महत्त्व पर निबंध

Khel Ka Mahatva Par Nibandh: जीवन में खेलों का महत्त्व काफी ज्यादा हैं। खेल हमारे जीवन में शारीरिक मजबूती प्रदान करता हैं। जीवन में अगर स्वच्छ रहना हैं तो खेल खेलना जरुरी हैं।

Khel Ka Mahatva Par Nibandh
Image: Khel Ka Mahatva Par Nibandh

हम यहां पर अलग-अलग शब्द सीमा में खेलों का महत्त्व पर निबंध (Essay on importance of sports in Hindi) शेयर कर रहे हैं। यह निबन्ध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होंगे।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

खेलों का महत्त्व पर निबंध | Khel Ka Mahatva Par Nibandh

खेलों का महत्त्व पर निबंध (250 शब्द) 

खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए, इस बात को तो हम स्कूल के समय से ही सुनते आ रहे हैं। हमारे जीवन में भी खेलों का काफी महत्त्व हैं। खेल खेलने से हमारे शरीर का शारीरिक विकास होता हैं और साथ ही खेल खेलने से हमारा मानसिक विकास भी होता हैं।

अगर हम किसी सफल व्यक्ति के पीछे की कहानी जानने की कोशिश करें तो उसके इस सफलता के पीछे उसकी मेहनत और उसके शारीरिक और मानसिक विकास का भी काफी महत्त्व होता हैं। किसी भी काम को करने या उसमें सफल होने के लिए उसके लिए स्वच्छ दिमाग का भी होना जरुरी हैं।

कहते हैं शरीर से बीमारी को दूर रखने के लिए शरीर का स्वच्छ होना जरुरी हैं। इसके लिए योग करना चाहिए और शारीरिक मजबूती देने वाले खेल भी खेलना चाहिए। नियमित शारीरिक क्रियाएँ करने से शरीर को कई बीमारियों से दूर करने के लिए हम सफल हो पाते हैं। खेल खेलना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता हैं। खेल को बढ़ावा देने के लिए राज्य, राष्ट्रिय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सरकारें कई प्रयास करती हैं।

देश में खेल को बढ़ावा देने के लिए खेल के लिए एक अलग से विभाग बनाया हुआ हैं। यह विभाग देश में खेलों को बढ़ाने के लिए कार्य करती हैं। देश में खेलों को बढ़ाना भी जरुरी हैं और साथ ही हमें भी इस के बारे में समझना जरुरी हैं। खेल हमारे जीवन और स्वच्छता के लिये जरुरी हैं।

खेलों का महत्त्व पर निबंध (800 शब्द) 

प्रस्तावना

हमारे जीवन में खेलों का काफी बड़ा महत्त्व हैं। खेल खेलने से हमें कई तरह के लाभ मिलते हैं। अगर हम खेल खेलते हैं तो इसे हमें जो फायदे मिलते हैं, उनमें सबसे बड़ा फायदा है कि हम बहुत कम बार बीमार पड़ते हैं। हमारे जीवन को स्वच्छ और सुरक्षित रखने के लिए खेल जरुरी हैं।

देश में खेल के महत्त्व को बढ़ाने और खेलों को बढ़ने के लिए देश में कई तरह के आयोजन हमारी सरकार द्वारा किया जाता हैं। खेल को बढ़ाने के लिए तो देश सरकार के साथ-साथ कई समाजसेवी संस्थाएं ही इसमें हिस्सा लेती हैं।

खेल खेलने से हमारे शरीर का शारीरिक विकास होता हैं और इसके साथ ही मानसिक विकास भी होता हैं। खेल खेलना ही अपने आप में कई बीमारियों को दूर भागने जैसा हैं। डॉक्टर भी हमें खेल खेलने और योग करने की सलाह देते हैं।

खेलों का हमारे जीवन में महत्त्व

खेल हमारे जीवन के लिए बेहद जरुरी हैं। खेल हमें शारीरक और मानसिक मजबूती देते हैं। खेल हमें शारीरिक मजबूती देने के साथ हमारा मानसिक विकास करने में हमारी मदद करते हैं। खेलों के महत्त्व इस प्रकार हैं:

  • खेल हमारे शरीर को मजबूती प्रदान करता है।
  • खेल खेलने से हमारा शारीरिक विकास होता हैं।
  • खेल खेलने हम मानसिक फीट रहते हैं और हमारे बीमार होने से ही हम बच जाते हैं।
  • खेल खेलने हमारे अंदर आत्मविश्वास बढ़ता हैं और हम हर बढ़ाओं से लड़ने के लिए खुद को तैयार कर देते हैं।
  • खेल हमें धैर्य और अनुशासन सीखता हैं। हम किस प्रकार से जीवन रह सकते हैं और कैसे हम सामने वाले बन्दे से जीत सकते हैं, के बारे हमे इन्ही खेलों के माध्यम से सीखने को मिलता हैं।
  • खेल हमें कई बीमारियों से जैसे गठिया, मोटापा, हृदय की समस्याओं, मधुमेह इत्यादि से बचाता हैं।
  • जो लोग स्वाभाव से चिडचिडापन हो, उनको खेल जरुर खेलना चाहिए क्योंकि इससे उनका मानसिक विकास होता हैं और लोगों के दिमाग का विकास होता हैं।
  • खेल खेलने से शरीर सक्रीय होता हैं।

राष्ट्रिय स्तर में खेलने की भूमिका

खेलों की भूमिका को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नजरअंदाज नहीं किया जा सकता हैं। देश और दुनिया में ऐसे कई खेल हैं जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेले जाते हैं। उन सभी खेलों में कई ऐसा लड़के हैं जो अपना दमखम दिखाते हैं। क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल ऐसे कई खेल हैं जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेले जाते हैं।

इन खेलों में देश का युवा और युवा टेलेंट भी हिस्सा लेता हैं और देश के सम्मान के लिए खेलता हैं। हमारे देश भी ऐसे कई महान खिलाड़ी हैं जो इन खेलों को खेलते हैं। इन खेलों में खेलने वाले सचिन तेंदुलकर, मेजर ध्यान चंद इत्यादि कई खिलाड़ी हैं।

हमारे देश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए राज्य और केन्द्रीय सरकार कई प्रकार की योजनाएं और कई तरह के प्रोग्राम चला रही हैं। अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी खेल को बढ़ावा देने के लिए कई संस्थाएं काम करती हैं जैसे क्रिकेट के लिए icc संस्था इत्यादि।

खेल में खेल भावना भी जरुरी

खेल को खेलने से हर खिलाड़ी में खेल भावना का होना जरुरी हैं। अगर किसी खिलाडी में खेल भावना नहीं हैं तो वो किसी भी हाल में एक अच्छा खिलाड़ी नहीं बन सकता है। हर खिलाड़ी में खेल भावना होनी ही चाहिए।

कोई भी खेल हो चाहे क्रिकेट, फुटबॉल या कोई भी अन्य खेल उन सब खिलाड़ियों में टीम के प्रति सद्भावना और खेल के प्रति भावना होनी चाहिए। खिलाड़ियों में एक समान खेल भावना होनी चाहिए। खेल खेलने से मस्तिष्क शांत रहता हैं और दिमाग भी इससे तेज होता हैं। खेल हमारे शरीर को आंतरिक मजबूती देता हैं, जिससे हम अपने मस्तिस्क पर काबू रख उसे शांत रख सकते हैं।

निष्कर्ष

खेल हमारे और हमारे शरीर की स्वच्छता के लिए बेहद जरुरी हैं। खेल से हमारे शरीर में कई शारीरिक कष्ट दूर हो जाते हैं। हर किसी को खेल खेलना चाहिए और खेल के महत्त्व को समझना चाहिए।

अंतिम शब्द 

हमने यहां पर “खेलो का महत्त्व पर निबंध (Khel Ka Mahatva Par Nibandh)” शेयर किया है। उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here