कम उपसर्ग से शब्द

कम उपसर्ग से शब्द (kam ka Uapasarg Shabd in Hindi)

कम उपसर्ग से शब्द- कमबख्त, कमज़ोर, कमदिमाग, कमअक्ल, कमउम्र, कमजात, कमसिन, कमाल, कमधंधु, कमतर।

kam ka Uapasarg Shabdkamabakht, kamazor, kamadimaag, kamakl, kamumr, kamajaat, kamasin, kamaal, kamadhandhu, kamatar.

कम उपसर्ग से शब्द (Prifix of little in Hindi) और उपसर्ग जोड़ने पर किसी भी शब्द का मूल शब्द का अर्थ बदल जाता है। उपसर्ग शब्द या शब्दांश के पहले जुड़कर किसी भी शब्द के अर्थ में विशेषता को लाती है। उपसर्ग का प्रयोग स्वतंत्र रूप से नहीं किया जा सकता है। उपसर्ग शब्द किसी भी शब्द के आगे जुड़ कर विभिन्न प्रकार के शब्दों का निर्माण करती है जिसे हम वाक्यों के द्वारा जानेंगे। इसीलिए एक वाक्य में सभी उपसर्ग शब्दों का प्रयोग हो जाए, यह जरूरी नहीं है। स्थिति के आधार पर वाक्य में अलग अलग उपसर्ग का प्रयोग अलग अलग स्थान पर किया जा सकता है।

नीचे हम उदाहरण के माध्यम से इसे और अधिक गहराई से जानने का प्रयास करेंगे।

कम शब्द के वाक्य प्रयोग द्वारा उपसर्ग शब्दों के अंतर को समझना

  • कमबख्त- कमबख्त का अर्थ होता है भाग्यहीन होना। मोहन इतना कमबख्त है कि उसके पैदा होते ही उसके माता पिता की मृत्यु हो गई।
  • कमजोर- कमजोर का अर्थ होता है जो कि दुर्बल हो निर्बल हो। गरीब लोग अक्सर कमजोर होते हैं क्योंकि वह खुद को निर्बल समझते हैं और वह अपने लिए कुछ भी काम नहीं करते हैं इस वजह से जो अमीर लोग होते हैं वह गरीब लोगों को हमेशा अपने पैरों तले दाब कर रखते हैं।
  • कमदिमाग- कमदिमाग उसे कहते हैं जिसके पास दिमाग बहुत कम हो। जो लोग अपने दिमाग का उपयोग बहुत कम करते हैं, अक्सर दूसरों लोगों के सामने वह बुड़बक बनते हैं और उन्हें यह सुनना पड़ता है कि तुम्हारे पास तो दिमाग ही नहीं है तुम कमदिमाग के व्यक्ति हो।
  • कमाल- कमाल का अर्थ होता है चमत्कार होना। मोहन ने कम समय में अपने प्रतियोगिता परीक्षा को पास कर लिया यह तो एक कमाल हो गया।
  • कमजात- कमजात का अर्थ होता है जो कि नीची जाति का हो। पुराने जमाने में लोग बहुत ही ऊंचे जाति और नीची जाति के लोगों में भेदभाव करते थे और जो नीची जाति के लोग होते थे उनके साथ बहुत ही दूरव्यवहार करते थे उनका जीवन बहुत ही कष्टमय में हुआ करता था।
  • कमसिन- कमसिन का अर्थ होता है नाबालिक, अल्प वयस्क। सीता अभी अल्प वयस्क है।

उपसर्ग शब्द परीक्षाओं में मुख्य विषय के रूप में पूछे जाते हैं।उपसर्ग शब्द या शब्दांश के पहले जुड़कर किसी भी शब्द के अर्थ में विशेषता को लाती है। एक शब्द के कई उपसर्ग शब्द हो सकते हैं।यह जरूरी नहीं कि परीक्षा में यहाँ पहले दिये गए शब्द उपसर्ग शब्द ही पूछा जाए। परीक्षा में सभी उपसर्ग शब्दों में से किसी का भी उपसर्ग शब्द पूछा जा सकता है।

उपसर्ग शब्दों का विशेष महत्व है और इनकी सहायता से हम विभिन्न प्रकार के नए शब्दों का निर्माण कर सकते हैं। उपसर्ग शब्द का अपना एक भाग है प्रत्येक पाठ्यक्रम में, छोटी और बड़ी कक्षाओं में उपसर्ग शब्द पढ़ाया जाता है, कंठस्थ किया जाता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में यह एक मुख्य विषय के रूप में पूछा जाता है और महत्व दिया जाता है।

परीक्षा के दृष्टिकोण से उपसर्ग शब्दों बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में उपसर्ग शब्दों का अपना-अपना भाग होता है। चाहे वह पेपर हिंदी में हो या अंग्रेजी में यहां तक कि संस्कृत और उर्दू और फारसी में भीउपसर्ग शब्दों पूछे जाते हैं।

उपसर्ग शब्द कोई बहुत कठिन विषय नहीं है। यदि इसे ध्यान से समझा जाए तो याद करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसे समझ समझ कर ही लिखा जा सकता है।

अन्य महत्वपूर्ण उपसर्ग से शब्द

अनकमनि
अनुअप
उतउतअति

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here