हर घर तिरंगा पर निबंध

हर घर तिरंगा अभियान देश की आजादी के 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में चलाया जा रहा है, जिसमें सभी देशवासी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। इस अभियान के तहत देश के कोने-कोने से सभी जाति, धर्म, संप्रदाय एवं समूह के लोग जुट रहे हैं। तिरंगा हमारा राष्ट्रीय ध्वज है, हमारे देश का राष्ट्रीय ध्वज है जिसे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष में फहराया जाता है। हर घर तिरंगा अभियान का अर्थ प्रत्येक घर पर तिरंगा झंडा लहराना है। इस अभियान के तहत लोग अपने घरों पर तिरंगा झंडा लहरा रहे हैं।

har ghar tiranga par nibandh essay

हर घर तिरंगा अभियान को आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत चलाया जा रहा है। बता देंगे इस वर्ष 15 अगस्त को हमारा देश अंग्रेजों से आजाद हुए 75 वर्ष हो जाएगा। वर्ष 1947 में 15 अगस्त के दिन हमारा देश अंग्रेजों से आजाद हुआ था।

जिसके बाद हर वर्ष 15 अगस्त के दिन भारत में हर्षोल्लास के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है, जिसके अंतर्गत ध्वजारोहण, परेड, सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा वीर जवानों को याद किया जाता है जिन्होंने देश की स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दे दिया था। आज हम हर घर तिरंगा पर निबंध अलग-अलग शब्दों में बता रहे हैं।

यह भी पढ़े: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

हर घर तिरंगा पर निबंध

हर घर तिरंगा पर निबंध (150 शब्द)

हर घर तिरंगा अभियान को भारत सरकार ने आगामी 15 अगस्त तक आजादी के अमृत महोत्सव के तहत शुरू किया है। इस अभियान के अंतर्गत लोगों को अपने घरों पर झंडा फहराने की पेशकश भारत सरकार द्वारा की गई है।

आगामी 15 अगस्त को हमारा देश आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मनाएगा। इस उपलक्ष में भारत सरकार की तरफ से आजादी का अमृत महोत्सव अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें सभी देशवासी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

अंग्रेजों से मिली आजादी का महत्व उस समय के लोग भली-भांति जानते हैं, लेकिन जिन लोगों ने ब्रिटिश कालीन भारत या गुलामी नहीं देखी है, उन्हें आजादी का महत्व पता होना चाहिए। इसी उपलक्ष में हर वर्ष 15 अगस्त मनाई जाती है। लेकिन भारत सरकार ने इस आगामी 15 अगस्त को देश के प्रत्येक घरों पर तिरंगा झंडा लहराने के लिए देशवासियों से पेशकश की है।

भारत सरकार ने आगामी 15 अगस्त को भारत में 75 वें स्वतंत्रता दिवस की वर्षगांठ के उपलक्ष में आजादी का अमृत महोत्सव अभियान चलाया है, जिससे सभी देशवासियों को “हर घर तिरंगा” मुहिम के जरिए आजादी की महत्वता पता चल सकें।

हर घर तिरंगा पर निबंध (250 शब्द)

इस वर्ष 15 अगस्त 2022 को भारत को अंग्रेजों से आजादी मिले हुए पूरे 75 वर्ष हो जाएंगे, इसलिए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी ने भारत की आजादी के 75 वी वर्षगांठ के उपलक्ष में एक बहुत बड़े पैमाने पर स्वतंत्रता मुहिम को आयोजित किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वर्तमान समय में संपूर्ण देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगामी 15 अगस्त के दिन भारत को 75 वर्ष स्वतंत्रता की दृष्टि से पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव अभियान चलाया जा रहा है।

हर घर तिरंगा मुहिम को आजादी के अमृत महोत्सव यानी भारतीय स्वतंत्रता के 75 वी वर्षगांठ पूर्ण होने के उपलक्ष्य में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिशा निर्देश अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुरू की है। इस मुहिम का उद्देश्य भारत के लोगों को आजादी का मूल अर्थ तथा स्वतंत्रता का महत्व समझाना है।

इस मुहिम के अंतर्गत लोगों को पता चलेगा कि भारत ने किस कठिनाई परिस्थिति और हालातों के आधार पर अंग्रेजों से स्वतंत्रता प्राप्त की तथा अंग्रेजों की गुलामी के अंतर्गत उन्होंने कौन-कौन से दिन देखे थे?

वर्तमान समय में पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए उत्साहित हैं क्योंकि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं देशवासियों को इस अभियान का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया है। इस अभियान के जरिए भारत सरकार ने हर घर तिरंगा मुहिम छेड़ी है। इस मुहिम के जरिए देश के सभी नागरिकों को अपने घर की छत पर तिरंगा झंडा लहराना है, जिससे आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत भारत के आजादी की 75वीं वर्षगांठ के दिवस पर देश का एक अद्भुत नजारा देखने को मिलें।

हर घर तिरंगा पर निबंध (500 शब्द)

प्रस्तावना

राष्ट्रीय ध्वज से उस देश की पहचान की जाती है क्योंकि राष्ट्रीय ध्वज ही उस देश का प्रतीक होता है, जिसे यह पता लगाया जाता है कि उस देश का अतीत क्या है। उस देश का वर्तमान क्या है और देश का भविष्य क्या है। किसी भी देश को उसके राष्ट्रीय ध्वज से ही पहचाना जाता है।

इसीलिए भारत सरकार ने आगामी 15 अगस्त के लिए आजादी का अमृत महोत्सव अभियान के अंतर्गत हर घर तिरंगा मुहिम को शुरू किया है, जिसके अंतर्गत सभी भारत वासियों को अपने घर की छत पर तिरंगा झंडा लगाना है। इससे हमारे देश के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को भी सम्मान मिलेगा और दुनिया में हमारे राष्ट्रीय ध्वज की एक अलग पहचान बन जाएगी।

हर घर तिरंगा

बड़े पैमाने पर हमारे देश का राष्ट्रीय ध्वज लहराता हुआ देख हम सबको गौरवान्वित महसूस होगा। इसी के उपलक्ष में  भारत के संपूर्ण नागरिक को आजादी का अर्थ एवं भारतीय झंडे की महत्वता का मूल उद्देश्य जानने के लिए बड़े पैमाने पर सरकार ने हर घर तिरंगा अभियान जारी किया है। इस अभियान के अंतर्गत सरकार ने कई तरह के कार्यक्रम तय किए हैं, जो आगामी 15 अगस्त के दिन होने वाले हैं।

15 अगस्त से पहले देश के कोने कोने में बड़े पैमाने पर आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत कार्यक्रम होंगे, जिसमें देश के बड़े-बड़े नेता भाग लेंगे क्योंकि आगामी 15 अगस्त को हमारा देश अंग्रेजों से स्वतंत्रता प्राप्त किए हुए 75वीं वर्षगांठ मनाने को तैयार हैं।

भारत सरकार की इस अभियान को बड़े पैमाने पर आयोजित करवा रही है, जिसे देश के सभी जाति, धर्म, वर्ग, संप्रदाय, समूह, महिलाएं, पुरुष, बच्चे‌ एवं बुजुर्ग इत्यादि सभी का भरपूर सहयोग मिल रहा है। वर्तमान समय में संपूर्ण देश में हर जगह प्रत्येक व्यक्ति के जुबां पर “आजादी का अमृत महोत्सव तथा हर घर तिरंगा” नाम सुनने को मिलता है।

हर घर तिरंगा अभियान

भारत सरकार ने सभी देशवासियों से आग्रह किया है कि वे अपने घर पर तिरंगा झंडा लगाएं। 15 अगस्त तक सभी लोग अपने घर की छतों पर तिरंगा झंडा लहरा कर रखें। हम सोच सकते हैं कि जब भारत के लगभग 150 करोड़ लोगों के घरों पर तिरंगा झंडा लहराता होगा, तो उस समय कैसा दृश्य नजर आता होगा। इसी दृश्य को देखने के लिए भारत सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा मुहिम छेड़ी है।

इस अभियान का हिस्सा बनकर आप भी अपने घरों पर तिरंगा झंडा लहराए। भारत सरकार इस अभियान को बढ़-चढ़कर प्रमोट कर रही है क्योंकि इससे लोगों को भारत के राष्ट्रीय ध्वज की महत्वता का पता चलेगा।

इस वर्ष 15 अगस्त 2022 को हमारा देश धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाएगा। उस दिन भारत की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण हो रहे हैं। इसी उपलक्ष में हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने इस आजादी के उत्सव को बड़े पैमाने पर आयोजित करवाने के लिए इसे महोत्सव के आधार पर आजादी का अमृत महोत्सव अभियान शुरू किया है।

इस अभियान के अंतर्गत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के गृहमंत्री श्रीमान अमित शाह ने हर घर तिरंगा अभियान को शुरू किया है। लोगों को अपने घर की छतों पर तिरंगा झंडा लहराना है हमारे देश की ताकत और झंडे का सम्मान बढ़ाना है।

हर घर तिरंगा पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

तिरंगा झंडा भारत का राष्ट्रीय ध्वज है, जिसे भारत की शान माना जाता है। राष्ट्रीय ध्वज किसी भी देश के लिए बड़े सम्मान की बात होती है क्योंकि देश के सैनिक शहीद होने पर तथा देश के बड़े-बड़े नेता शहीद होने पर राष्ट्रीय ध्वज को झुकाया जाता है और उस ध्वज के अंदर ही देश के लिए समर्पित लोगों को लपेट कर अंतिम संस्कार के जाता है।‌ इस बात से आप किसी भी देश का राष्ट्रीय दिवस का महत्व जान सकते हैं।

इसी महत्व को बरकरार रखने के लिए तथा देश के प्रत्येक व्यक्ति को हमारे भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे झंडे का महत्त्व जानने के लिए भारत सरकार ने एक अभियान और एक मुहिम छेड़ी है, जिसकी वर्तमान समय में पूरे देश में काफी चर्चा देखने को मिलती है। भारत सरकार ने “हर घर तिरंगा” मुहिम को बड़े पैमाने पर शुरू किया है।

हर घर तिरंगा अभियान

हर घर तिरंगा यानी प्रत्येक घर पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराना। इस मुहिम को बड़े पैमाने पर शुरू किया गया है। इसीलिए इसे हर घर तिरंगा अभियान कहा जाता है। आसान भाषा में कहें तो भारत सरकार ने देश के प्रत्येक घर पर लोगों को तिरंगा झंडा लगाने के लिए कहा है। भारत सरकार ने हर घर तिरंगा अभियान नाम से एक अभियान जारी किया है, जिसके अंतर्गत लोगों को तिरंगे झंडे का महत्व बताना है।

भारत सरकार आगामी 15 अगस्त को भारत का एक बेहतरीन दृश्य देखना चाहती है तथा संपूर्ण भारत वासियों को आने वाली 15 अगस्त के दिन देश का एक अद्भुत और मन भावना दृश्य दिखाना चाहती है। इस मुहिम का हिस्सा बनने वाले लोग अपने नाम का “हर घर तिरंगा सर्टिफिकेट” सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

तिरंगे झंडे का महत्व

हमारे राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे झंडे में तीन रंग है। पहला केसरिया रंग, दूसरा सफेद रंग और तीसरा हरा रग। इन तीनों ही रंग का अलग अलग महत्व है। हमारे तिरंगे झंडे में सबसे पहला केसरिया रंग हमें बलिदान का अनुभव करवाता है क्योंकि केसरिया रंग बलिदान का प्रतीक है। जबकि तिरंगे झंडे में दूसरा सफेद रंग शांति का प्रतीक है। जबकि तीसरा हरा रंग हरियाली का प्रतीक है।

हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है इसीलिए हरे रंग को विशेष महत्वता दी जाती है। आसान भाषा में कहें तो हमारा देश खेती-बाड़ी से ही चलता है। हमारे देश में बड़े पैमाने पर खेती की जाती है, जिससे हमारे देश की अर्थव्यवस्था चलती है। इसीलिए तिरंगे झंडे में इन तीन विशेष रंगों को शामिल किया गया है, जो हमें हर समय बलिदान शांति और हरियाली का महत्व समझाता है।

आजादी का अमृत महोत्सव

15 अगस्त 1947 को हमारा देश अंग्रेजों से 200 वर्षो की गुलामी के बाद आजाद हुआ था, जिसके बाद हर वर्ष 15 अगस्त के दिन आजादी का उत्सव संपूर्ण देश में धूमधाम तथा हर्षोल्लास से मनाया जाता है। इसी कड़ी में इस वर्ष 15 अगस्त 2022 को हमें अंग्रेजों से आजाद हुए पूरे 75 वर्ष हो जाएंगे। इसी के उपलक्ष में आजादी के 75 वी वर्षगांठ के मध्य नजर भारत सरकार इस बार आजादी के उत्सव को बड़े पैमाने पर महोत्सव के रूप में मनाना चाहती है।

इसीलिए भारत सरकार ने आगामी 15 अगस्त को होने वाले आजादी के महोत्सव की तैयारियां और इसके अंतर्गत होने वाले कार्यक्रम को “आजादी का अमृत महोत्सव” नाम दिया है।

आजादी का अमृत महोत्सव बड़े पैमाने पर आयोजित किया जा रहा है, जिसे लगभग 15 अगस्त से 1 महीने पहले ही शुरू कर दिया गया। देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी ने देश की आजादी के 75 वर्ष गांठ को यादगार बनाने के लिए तथा देश के लोगों को आजादी का असली अर्थ बताने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव नाम का यह अभियान शुरू किया है।

इसके अंतर्गत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने “हर घर तिरंगा अभियान” की शुरुआत की है। हर घर तिरंगा अभियान यानी कि प्रत्येक घर पर तिरंगा झंडा लहराना। इस मुहिम को बड़े पैमाने पर शुरू किया गया है। इसीलिए हर घर तिरंगा की मुहिम अभियान बन चुका है।

हर घर तिरंगा अभियान का उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे हर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत लोगों का उत्साह चरम पर है। लोग इस अभियान के अंतर्गत अपने घरों पर तिरंगा झंडा लहरा रहे हैं और सोशल मीडिया पर भी इस अभियान के तहत लोग अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया दे रहे हैं। भारत सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान को जारी किया है।

यह अभियान भारत में बड़े पैमाने पर चल रहा है, जो आगामी 15 अगस्त को आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मनाने के बाद समाप्त हो जाएगा। इसका उद्देश्य लोगों को आजादी का अर्थ पता करना तथा तिरंगे झंडे का महत्व जानना है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए सभी देशवासियों से अपील की है, कि वे अपने सभी सोशल मीडिया अकाउंट पर तिरंगा झंडा की फोटो लगा दें। यानी कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने अकाउंट की डीपी चेंज करके तिरंगा झंडा लगाएं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने सभी सोशल मीडिया अकाउंट जैसे– इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर, टेलीग्राम, इत्यादि पर अपने अकाउंट की प्रोफाइल फोटो को चेंज करके भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा झंडा लगा दिया है। देखते ही देखते लोगों ने प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन पर चलकर सोशल मीडिया पर अपने सभी अकाउंट की प्रोफाइल फोटो को तिरंगे में बदल दिया है।

निष्कर्ष

भारत के राष्ट्रीय ध्वज की असली ताकत जानने के लिए तथा जिन लोगों ने देश की स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान और योगदान दिया था, उनके योगदान को समझने के लिए उनके बलिदान को जानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगामी 15 अगस्त के दिन भारत की स्वतंत्रता के 75 की वर्षगांठ के अवसर पर हर घर तिरंगा अभियान को आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत जारी किया है। भारत सरकार के इस अभियान को संपूर्ण देश वासियों में काफी उत्साह देखने को मिलता है और इस अभियान को देशवासियों ने काफी सपोर्ट किया है।

अंतिम शब्द

आजादी के अमृत महोत्सव या हर घर तिरंगे के विषय पर आप आगामी 15 अगस्त के दिन अपने स्कूल या शिक्षण संस्थान पर भाषण दे सकते हैं या निबंध लिख सकते हैं। इसके लिए इस आर्टिकल में हमने आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार से “हर घर तिरंगा” पर अलग-अलग शब्दों में निबंध लिखकर बताया है।

इस आर्टिकल में हमारे द्वारा लिखे गए निबंध हो आप अपनी शिक्षा के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है, तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

यह भी पढ़ें:

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

बालिका शिक्षा पर निबंध

योग दिवस पर निबंध

वन महोत्सव पर निबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here