राष्ट्रीय बालिका दिवस पर शायरी

Girl Day Shayari in Hindi

Girl Day Shayari in Hindi
Images:- Girl Day Shayari in Hindi

Girl Day Shayari in Hindi | राष्ट्रीय बालिका दिवस पर शायरी

जीने का भी उसका अधिकार,
बस चाहिय उसको, आपका प्यार .

अल्लाह उन की अक़्ल का पर्दा ज़रा हटा,
फिर अपनी बेटियों को जलाने लगे हैं लोग।

दुनिया की असली दौलत उसी ने पाई है
जिसके घर में लक्ष्मी के रूप में बेटी आई है

बेटी जीस घर में है आयी,
समजो खुद लक्ष्मी है आयी।

चाँद सी बेटियों को सूरज बनाने लगे है,
बुरी नजर से घूरने वाले कतराने लगे हैं

होंगी जिस घर में बेटियाँ यारो,
उस का माहौल ख़ुशनुमा होगा।

प्रकृति का यह कैसा व्यवहार
नारी ही नारी पर करती है अत्याचार

बेटी को मत समजो भार,
जीवन का है ये आधार.

Read Also: बेटी पर अनमोल वचन

हो गई ‘रज़ा’ रुख़्सत घर से बेटियाँ लेकिन,
अब तलक निगाहों में डोलियाँ महकती हैं।

*****

कैसे खाओगे उनके हाथ की रोटियां
जब पैदा होने ही नहीं दोगे बेटियां

बेटी को जो दे पहेचान,
वही मात-पीता है महान!

काश !!! हर सुबह नवरात्रि
की अष्टमी सी होती
हर किसी की नजर में बेटियाँ देवी सी होती

रिश्ते के उलझे धागों को धीरे धीरे खोल रही है,
बिटिया कुछ कुछ बोल रही है
पूरे घर में डोल रही है।

लक्ष्मी-नारायण, राधे-श्याम, सीता-राम,
गौरी-शंकर, जब पुजीनीय भी पहले नारी
फिर नर, तो फिर क्यों नहीं
देते लड़कियों को जन्म का अवसर

अलख जगायें बेटी बचायें,
भ्रूण हत्या का कलंक मिटाये!

Girl Day Shayari in Hindi

दुश्मनों का मुकाबला डट के
कर सकती है “बेटी”
मत बाँधों बेड़ियों में ऊँची
उड़ान भर सकती है “बेटी”

मुझे अब भरोसा है कि मैं अपने जीवन के
साथ – साथ दूसरों में भी बदलाव ला सकती हूँ।

समाज के इस रीत में है बुराई,
जो बेटी को पल भर में बना देता है पराई

मैं चाहता हूँ कि हर लड़की यह जान सके कि
उसकी आवाज से दुनिया बदल सकती है।

बेटी पार अभिमान करो
जन्म होने पर सम्मान करो।

Read Also: दशहरा पर अनमोल विचार

मेरे दिमाग में गर्ल पॉवर का मतलब है लड़कियों को वैसे ही
बनने देना है जैसी वे हैं। उन्हें गुस्सा होने दो,
उन्हें नाराज एवं विद्रोही होने दो, उन्हें कठोर और
नरम और प्यारी और उदास और मूर्खतापूर्ण होने दें,
उन्हें गलत होने दें, उन्हें सही होने दें, उन्हें सब कुछ होने दें,
क्योकि उन्हें सब कुछ करने का हक है।

बेटी बचेगी श्रृष्टि रचेगी।

इक लड़की जब बेटी से बहू हो जाती हैं,
जिम्मेदारी के उलझन में जीना भूल जाती है

अगर आप गरीबी के चक्र को तोड़ना चाहते हैं,
तो एक लड़की को शिक्षित करें।

न अपनी दुनिया स्वयं मिटाओ,
होश में आओ, बेटी बचाओ!

*****

ऐसा कोई काम नहीं, जो बेटियाँ न कर पाई है
बेटियां तो आसमान से, तारे तोड़ कर लाई है

बेटी हैं कुदरत का उपहार,
जीने का इसको दो अधिकार।

Girl Day Shayari in Hindi

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,
समाज को प्रगति के रास्ते ले जाओ।

जिस घर में होता बेटी का सम्मान,
वह घर होता स्वर्ग समान।

माँ नहीं तो बेटी नहीं,
बेटी नहीं तो बेटा नहीं।

बेटी जिस घर में है आयी,
समझो खुद लक्ष्मी है आयी।

बहुत सरल है पेट में करना मुझ पर वार
हिम्मत है तो ऐ माँ !!! मुझको पैदा करके मार

अब न बनाओ कोई नया किस्सा
बेटियों को दो अब समाज में हिस्सा

Read Also: दुर्गा अष्टमी पर अनमोल विचार

बेटी को जो दे पहचान,
वही मात-पिता है महान।

बहुत सरल है पेट में करना मुझपे वार,
हिम्मत है तो ए माँ! मुझको पैदा करके मार…

रूढ़िवादी विचारों की जंजीरों को तोड़ो,
हर बालिका को शिक्षा दो,
मुख्यधारा से जोड़ो.

आपकी लालसा है बेकार,
बिन बेटी के न चले संसार।

कोमल है, कमजोर नहीं तू,
शक्ति का नाम ही नारी है
जग को जीवन देने वाली,
मौत भी तुझसे हारी है

यदि सृष्टि हमें चलानी है,
तो कन्या संतान बचानी है!

******

नये दौर में, नया जूनून भर लो,
कोई अबला न कहे, कुछ ऐसा कर लो

बेटी बोझ नही सम्मान है
बेटी गीता और कुरआन है
घर की प्यारी सी मुस्कान है
बेटी माँ-बाप की जान है

लक्ष्मी का वरदान है बेटी,
धरती पर भगवन है बेटी!

दुनिया मे उसे आने तो दो
चैन से उसको जीने तो दो
करेगी वो भी ऊँचा नाम
आएगी दुनिया के काम

Girl Day Shayari in Hindi

खुशियो के फूल खिलाती बेटी,
घर आँगन महकाती बेटी!

हमारी बेटी है दुर्गा की शक्ति
यही देश को बनाएगी महाशक्ति

बेटों से भी बेटी भली
क्यों जन्म से पूर्व उसकी बलि

बालिकाओं को अपने अधिकारों
के लिए लड़ना होगा
लड़कर जीतने के लिए खूब मन
लगाकर पढ़ना होगा

हर जंग में हार जाओगे,
अगर बेटी को ना अपनाओगे।

हर क्षेत्र में लडंकी आगे
फिर क्यों हम लड़की से भागें

बेटी को मरवाओगे तो,
दुल्हन कहा से लाओगे।

अपंग सोच को जागरूक बना लो,
बेटी-बेटा समान है यह तुम जान लो

माँ चाहिए, पत्नी चाहिए, बहन चाहिए,
फिर बेटी क्यों नहीं चाहिए।

माँ चाहे तो तू मुझे प्यार ना देना,
चाहे तो दुलार ना देना,
कर सको तो इतना करना
जन्म से पहले मुझे मार ना देना।

घर की शोभा बेटियाँ,दो दो कुल की लाज,
सबको होना चाहिए , इसी बात पर नाज।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here